स्लो इंटरनेट स्पीड होने पर आपको पत्रिका लाइट में शिफ्ट कर दिया गया है ।
नॉर्मल साइट पर जाने के लिए क्लिक करें ।

शिक्षकों को कर्तव्यनिष्ठा के साथ कार्य करना चाहिए

Devendar Sashtari

Publish: Sep 22, 2019 19:26 PM | Updated: Sep 22, 2019 19:26 PM

Sikar

गजानंद मोदी राजकीय सी.सै. स्कूल में चल रहे दो दिवसीय राजस्थान शिक्षक संघ(शेखावत) का सम्मेलन शनिवार को समापन हुआ।

नीमकाथाना. गजानंद मोदी राजकीय सी.सै. स्कूल में चल रहे दो दिवसीय राजस्थान शिक्षक संघ(शेखावत) का सम्मेलन शनिवार को समापन हुआ। कार्यक्रम की अध्यक्षता विनोद पूनियां ने की। मुख्य अतिथि तहसीलदार बृजेश गुप्ता ने कहा कि शिक्षक राष्ट्र निर्माता है। शिक्षकों को कर्तव्यनिष्ठा के साथ कार्य करते हुए समाज को राह दिखाने का कार्य करना चाहिए। प्रदेश महामंत्री उपेंद्र शर्मा, नागरमल गढ़वाल, पोकरमल, केशाराम व शिवराम यादव ने कहा कि शिक्षकों की समस्याओं का समाधान शीघ्र होना चाहिए। कार्यक्रम में 29 सूत्री मांगपत्र सरकार को प्रेषित करना तय किया गया। जिसमें अश्ंादायी पेंशन योजना को समाप्त कर पुरानी पेंशन योजना लागू करना। स्थाई तबादला नीति बनाना, कुक कम हेल्पर का मानदेय बढ़ाना, उप्रा. विद्यालयों में चतुर्थ श्रेणी के पद स्वीकृत करना, संस्कृत शिक्षा के सभी संवर्गों की डीपीसी करना, पैराटीचर, शिक्षाकर्मी, मदरसा कार्मिकों को प्रबोधकों के समान नियमित नियुक्ति करना। पीईईओ के अधीन उपप्रधानाचार्य का पद स्वीकृत करना। मा. एवं उमा. विद्यालयों में पुस्तकालाध्यक्ष पद सृजित कर पदोन्नति देना। प्रत्येक विद्यालय को खेल बजट उपलब्ध कराना, एसआईक्यूई व्यवस्था बंद करना आदि मांगें रखी गई। कार्यक्रम में स्काउट्स को प्रमाण पत्र एवं पारितोषिक दिया गया। अंत में संघ का ध्वज उतारकर धोद उपशाखा के पदाधिकारियों को सौंपा गया। आगामी जिला स्तरीय शिक्षक सम्मेलन (शेखावत) धोद में आयोजित होगा। कार्यक्रम में अध्यक्ष गुरुदत्त शर्मा, ताराचंद सैनी, जयराम यादव, बाबूलाल गुर्जर, दिलीप तिवाड़ी, रामकिशन राव, नरेंद्र यादव आदि शिक्षक मौजूद रहे।