स्लो इंटरनेट स्पीड होने पर आपको पत्रिका लाइट में शिफ्ट कर दिया गया है ।
नॉर्मल साइट पर जाने के लिए क्लिक करें ।

दिनदहाड़े कनपटी पर बंदूक लगा लूटे 1.27 लाख

Suresh Sharma

Publish: Nov 12, 2019 19:59 PM | Updated: Nov 12, 2019 19:59 PM

Sikar

वापस आते वक्त उसकी बाइक के टायरों की हवा निकाल दी

शिश्यंू. एक फ ाइनेंस कम्पनी के युवक से दिनदहाड़े तीन बाइक सवारों ने कनपटी पर बंदूक लगाकर एक लाख सताइस हजार पांच सौ इकतीस रुपए लूट लिए। रानोली थानाधिकारी पवन चौबे ने बताया कि भारत फ ाइनेंस लिमिटेड कम्पनी के मैनेजर ओम प्रकाश यादव निवासी खेजडोली भारत फाइनेंस लिमिटेड कम्पनी के लिए फ ील्ड में कलेक्शन कर रहा था। इस दौरान वह बाजोर, रानोली और सांगरवा से कलेक्शन करके हरिपुरा गांव पहँुचा । हरिपुरा से कलेक्शन राशि लेकर वह वापस लौट रहा था।

वापस आते वक्त उसकी बाइक के टायरों की हवा निकाल दी गई। फि र ओमप्रकाश पंचर बाइक को ही धीरे-धीरे लेकर वहां से रवाना हो गया। करीब 12.30 बजे के लगभग हरिपुरा गांव से बंधे पर पहुंचा तो अचानक सामने से तीन बाइक सवार आए और ओमप्रकाश को बंधे पर ही रोक कर कनपटी पर बंदूक लगाकर पहले बाइक की चाबी छीनी, फि र पैसों से भरा बैग छीन लिया।
फिर मोबाइल, बायोमेट्रिक मशीन, पर्स और दस्तावेज सभी को लूट कर बूटौली स्टेण्ड की तरफ भाग गए। पीडि़त ने अपनी जान बचाने के लिए वापस हरिपुरा की ओर भाग गया। रात को करीब 9 बजे के लगभग रानोली थाने में पीडित ने बाइक सवार लुटेरों के खिलाफ रिपोर्ट दर्ज कराई।
लोगों को चोरी के रुपए उधार भी देते थे टुकडा गैंग के सदस्य
सीकर. टुकड़ा गैंग के दोनों शातिर बदमाश ढाणी में ही लोगों को चोरी के रुपए उधार देने का काम करते थे। वे रुपए देकर उनसे ब्याज भी वसूलते थे। पुलिस ने टुकड़ा गैंग के सदस्य प्रहलाद व राजू गुर्जर को कोर्ट में पेश कर दो दिन के रिमांड पर लिया है। पुलिस ने प्रहलात कुमावत उर्फ आनंदपाल पुत्र कालूराम निवासी कुमावतों का मोहल्ला पलसाना, रानोली व राजेंद्र उर्फ राजू गुर्जर पुत्र रामेश्वरलाल निवासी सुंदरपुरा, रानोली को गिरफ्तार किया था। पुलिस ने दोनों को हर्ष की ढाणी से गिरफ्तार किया था। दोनों सूने मकानों में चोरी के बाद मिले रुपयों को गांव में ही लोगों को ब्याज पर देते थे। वह वन विभाग में अधिकारी बन कर रहते थे। पुलिस ने चार दिन पहले उनके किराए के मकान पर दबिश दी तो वे भाग गए। पुलिस ने लोगों की मदद से राजू को पकड़ लिया। जांच में सामने आया है कि प्रहलाद ने गांव में किराणे व सब्जी की दुकान कर रखी है। किराणे की दुकानों में चोरी के बाद वह सामान अपनी दुकान में ले जाता था। दुकान पर ही किराणे का सामान बेच देता था। वह रात को राजू के साथ शहर में चोरी की वारदात करता था।
इसके बाद सुबह मंडी से सब्जी लेकर दुकान पर चला जाता था। दिन में दुकान पर सब्जी व किराणे का सामान बेचता था। रात को दोनों दोबारा से शहर में घूम कर सूने मकानों की रेकी करते थे और चोरी की वारदात करते थे। कमरे में राजू चोरी की वारदात के बाद दिन में सो जाता था। उसके बाद सुबह वह चला जाता था।

[MORE_ADVERTISE1]