स्लो इंटरनेट स्पीड होने पर आपको पत्रिका लाइट में शिफ्ट कर दिया गया है ।
नॉर्मल साइट पर जाने के लिए क्लिक करें ।

जादू-टोने की शंका पर की गई थी महिला की गला रेतकर हत्या

Manoj Kumar Pandey

Publish: Nov 06, 2019 13:25 PM | Updated: Nov 06, 2019 13:25 PM

Sidhi

चौबीस घंटे के अंदर रामपुर नैकिन पुलिस अंधी हत्या का किया खुलाशा, हत्या आरोपी गिरफ्तार

सीधी/रामपुरनैकिन। रामपुर नैकिन थाना के पुलिस चौकी खड्ड़ी अंतर्गत कनकटी गांव में बेवा महिला की अंधी हत्या की गुत्थी रामपुर नैकिन पुलिस द्वारा घटना के चौबीस घंटे के अंदर ही सुलझाते हुए आरोपियों को गिरफ्तार कर लिया गया है। महिला की हत्या जादू टोने की शंका के आधार पर मृतिका के भतीजे द्वारा ही साथियों के साथ मिलकर की गई थी। आरोपियों को गिरफ्तार करने के बाद न्यायालय में प्रस्तुत किया गया, जहां से उन्हें जेल भेज दिया गया है।
उल्लेखनीय है कि कनकटी गांव निवासी बेवा रामकली सिंह पति स्व.रामलाल सिंह गोंड़ 46 वर्ष की शनिवार की रात गांव में ही उसके घर के पास सड़क में शव पड़ा मिला था। महिला का शव मिलने से पूरे गांव में सनसनी फैल गई थी, जिसकी सूचना ग्रामीणों द्वारा खड्डी पुलिस को दी गई, घटना की जानकारी मिलते ही पुलिस मौके पर पहुंचकर महिला की शिनाख्त की करते हुए अज्ञात लोगों के विरूद्ध भादवि की धारा 302 के तहत अपराध दर्ज कर आरोपियों की तलाश शुरू कर दिए। घटना की सुबह मामले की जांच करने अतिरिक्त पुलिस अधीक्षक खोजी कुत्ते के साथ घटना स्थल पर पहुंची थी, जहां खोजी कुत्ते के सहारे गांव के ही तीन-चार लोगों को हिरासत में लेकर पूंछतांछ शुरू की गई। इस दौरान हिरासत में लिए गए संतोष विश्वकर्मा एवं मनोज सिंह से कड़ाई से पंूछतांछ शुरू की गई तो आरोपियों ने हत्या का अपराध कबूल कर लिया। पूंछतांछ में आरोपी मनोज सिंह ने पुलिस को बताया कि मेरी चाची जादू टोना सीखी थी और हमारे चाचा को जादू टोना करके मार डाली थी और मेरे पिता एवं मेरे बेटे की भी तबियत खराब थी। मेरी चाची पर भी आए दिन जादू टोना करती थी। उसके जादू टोना से ही संतोष विश्वकर्मा के पिता की भी मौत हुई थी, जिस कारण हम दोनों लोग एक माह पहले नहर के किनारे बैठकर उसकी हत्या की योजना बनाए थे। योजना के तहत शनिवार की शाम को दोनो संतोष विश्वकर्मा के घर मे बैठ कर रामकली के आने का इंतजार कर रहे थे, जैसे ही रामनिवास तिवारी के घर से काम करके रामकली वापस आ रही थी तभी हम चाची के साथ बात करते उसके घर तरफ आए और जैसे ही घर के करीब पहुंचे तो चाची के गले मे टांगी से वार कर दिए, लेकिन उसने अपना हांथ अड़ा लिया तब मैं उसे पकड़कर कर मुंह दवा लिया जिससे चाची जमीन में गिर गई, इसके बाद हम दो तीन टांगी चाची के गले मे वार किए, इसके बाद पीछे आ रहे संतोष को टांगी देकर में अपने पुराने घर पोस्ता चला गया। संतोष विश्वकर्मा ने बताया की मैं रक्त रंजित टांगी हैंडपंप में धोया और घर के सामने रखे पुआल में छिपा दिया था। पूरे मामले का खुलाशा एसपी आरएस बेलवंशी के निर्देशन, एएसपी अंजुलता पटले, एसडीओपी चुरहट लक्ष्मण अनुरागी के मार्गदर्शन में रामपुर नैकिन थाना प्रभारी अशोक पांडेय अपने हमराह चौकी प्रभारी खड्डी विक्रम सिंह, एएसआई मुनेंद्र पांडेय, प्रधान आरक्षक भूपेंद्र बागरी, आरक्षक आशिफ खान, शिवशंकर चौबे, राकेश पाठक, सैनिक राजबहोर पांडेय का विशेष योगदान रहा।
............कनकटी गांव में शानिवार को रामकली की हुई हत्या में शामिल आरोपियों को गिरफ्तार कर लिया गया है। दोनो आरोपियों से जब कड़ाई से पूंछतांछ की गई तो दोनो ने अपना जुर्म कबूल कर लिया। दोनो को आज ही न्यायालय में पेश किया गया, जहां से जेल भेज दिया गया है।
अशोक पांडेय, थाना प्रभारी रामपुर नैकिन

[MORE_ADVERTISE1]