स्लो इंटरनेट स्पीड होने पर आपको पत्रिका लाइट में शिफ्ट कर दिया गया है ।
नॉर्मल साइट पर जाने के लिए क्लिक करें ।

हनुमानगढ़ अंचल में बिजली की अघोषित कटौती बनी ग्रामीणों के लिए परेशानी

Manoj Kumar Pandey

Publish: Sep 05, 2019 21:10 PM | Updated: Sep 05, 2019 21:10 PM

Sidhi

सरकार की मंशा पर पानी फेर रही विद्युत कंपनी

सीधी/हनुमानगढ़। विद्युत वितरण केंद्र हनुमानगढ़ क्षेत्र में बिजली की अघोषित कटौती लोगों के लिए एक बड़ी समस्या का रूप धारण करती जा रही है।
प्रदेश की नव निर्मित सरकार द्वारा जहां किसानो को 24 घंटे बिजली उपलब्ध कराने का ऐलान किया जा रहा है, ठीक इसके उलट हनुमानगढ़ क्षेत्र में पदस्थ जूनियर इंजीनियर द्वारा सरकार के इस फरमान को मजाक बना के रख दिया गया है। वहीं विजली बंद होने का कारण जानने पर या तो उनके द्वारा फोन ही नहीं उठाया जाता या कभी उठा भी लिया गया तो मेंटीनेंश का बहाना बना दिया जाता है। जबकि बरसात भरी गर्मी के इस मौसम में जहां लोगों का जीना दूभर हो रहा है वहीं बिजली बंद रहने के कारण पानी भी उपलब्ध नहीं हो पाता। बिजली की अघोषित कटौती से सबसे ज्यादा प्रभावित विद्यार्थी व किसान हो रहे हैं, जिन्हें बिजली नहीं मिल पाने से पठन-पाठन व किसानों को फसल सिंचाई भी प्रभावित हो रही है। लेकिन इससे इतर लापरवाह जेई व उनके मातहतो पर इन सब बातों का कोई असर नहीं पड़ रहा है। ग्रामीणों द्वारा जिला प्रसाशन का ध्यान आकृष्ट कराते हुए ब्यवस्था सुधार की अपील की गई है।