स्लो इंटरनेट स्पीड होने पर आपको पत्रिका लाइट में शिफ्ट कर दिया गया है ।
नॉर्मल साइट पर जाने के लिए क्लिक करें ।

कंजवार गांव में एक साथ जली दो चिताएं, छाया रहा मातम

Manoj Kumar Pandey

Publish: Aug 17, 2019 21:24 PM | Updated: Aug 17, 2019 21:24 PM

Sidhi

मामला पीपल की चपेट में आने से कंजवार गांव में हुई पांच मौतों का, घायल डेढ़ लोगों का जिला अस्पताल में उपचार जारी

सीधी। मझौली थाना के पुलिस चौकी मड़वास अंतर्गत कंजवार में शुक्रवार की शाम कजलियां पर्व मनाने के दौरान पीपल का पेंड़ गिरने से उसकी चपेट में आने के कारण पांच लोगों की हुई मौत के बाद शनिवार को कंजवार गांव में मातम छाया रहा। जिला मुख्यालय में पीएम के बाद सुबह जब दो शव कंजवार गांव पहुंचे तो पूरे गांव में मातम छा गया। इसके बाद मृत पांचों बच्चों का अंतिम संस्कार किया गया। गांव में दो बच्चों की एक साथ चिताएं जली तो हर ग्रामीण के आंखों से आंसू छलक आए। पूरे दिन गांव में शोक व मातम का माहौल छाया रहा। वहीं तीन ऐसे बच्चों की मौत कंजवार गांव में हुई थी जो रक्षा बंधन व कजलियां का पर्व मनाने अपने मामा के यहां आए थे, जिनमें संजू उर्फ संजय पिता बृजलाल साकेत 9 वर्ष निवासी खमचौरा, रितेश पिता प्रवीण साकेत 9 वर्ष निवासी ठोंगा तथा काजल पिता रमेश साकेत 12 वर्ष करवाही शामिल थे, इनके शव उनके गृहग्राम ले जाया गया। जबकि प्रीती पिता रामभरोसे रावत 14 वर्ष कंजवार तथा अंतिमा पिता रामकुमार जायसवाल 14 वर्ष कंजवार का कंजवार गांव में ही अंतिम संस्कार किया गया।
पिता के इंतजार में रखा रह गया शव-
मझौली थाना अंतर्गत खमचौरा निवासी संजू उर्फ संजय पिता बृजलाल साकेत 9 वर्ष अपनी मां के साथ रक्षा बंधन का पर्व मनाने मामा के यहां कंजवार गांव आया था, जहां रक्षा बंधन के दूसरे दिन शाम को मां व गांव के अन्य बच्चों के साथ कजलियां मनाने तालाब में गया था और वहां अचानक पीपल का पेंड़ धरासाई होने से उसकी चपेट में आने के कारण घटना स्थल पर ही उसकी दर्दनाक मौत हो गई। रविवार की सुबह जिला मुख्यालय स्थित पीएम हाउस में पीएम उपरांत उसका शव ग्राम पंचायत खमचौरा ले जाया गया। बताया गया कि संजू का पिता बृजलाल साकेत परिवार का भरण पोषण के लिए बाहर कमाने गया था, पुत्र की मौत की सूचना के बाद वह रविवार को अपने गृहग्राम खमचौरा नहीं पहुंच पाया, जिससे पिता के अंतिम दर्शन हेतु संजू के पार्थिव शरीर का शनिवार को अंतिम संस्कार नहीं किया गया। ग्रामीणों के अनुसार संजू के पिता के पहुंचने के बाद रविवार को उसका अंतिम संस्कार किया जाएगा।
पांच घायल रीवा रेफर-
जिला अस्पताल सीधी से गंभीर रूप से पांच घायलों को शुक्रवार की देर रात मेडिकल कालेज रीवा अस्पताल के लिए रेफर कर दिया गया। इनमें लल्ली देवी मिश्रा पति रामगोपाल मिश्रा 40 वर्ष,संतोषी साकेत पिता मोतीलाल साकेत 16 वर्ष, सुनीता साकेत पिता मोतीलाल साकेत 8 वर्ष,साध्वी साकेत पिता रामसिया साकेत 4 वर्ष शिववती साकेत पति रामसिया साकेत 30 वर्ष शामिल हंै। जबकि घायल 21 लोगों का सीधी जिला अस्पताल व निजी नर्सिंग होम में उपचार चल रहा है, जिनकी हालत में सुधार बताया गया है।
मृतकों के परिजनों को चार-चार लाख की सहायता राशि-
जिले के प्रभारी कलेक्टर एडीएम डीपी वर्मन द्वारा इस घटना में मृतकों के परिजनों को चार-चार लाख रूपए एवं घायलों को 12-12 हजार रूपए की आर्थिक मदद प्रदान करने की घोंषणा की। यह घोंषणा प्रभारी कलेक्टर द्वारा शनिवार को रात में ही कर दी गई थी।