स्लो इंटरनेट स्पीड होने पर आपको पत्रिका लाइट में शिफ्ट कर दिया गया है ।
नॉर्मल साइट पर जाने के लिए क्लिक करें ।

चुरहट की खस्ताहाल सड़क बनी लोगों के लिए मुसीबत

Manoj Kumar Pandey

Publish: Sep 14, 2019 21:05 PM | Updated: Sep 14, 2019 21:05 PM

Sidhi

कीचड़ भरे मार्ग में चलना हुआ मुश्किल, बाजार क्षेत्र का मार्ग जर्जर होने से बढ़ी परेशानी, बाईपास सड़क का निर्माण न होने से बाजार से होकर आते जाते हैं सभी वाहन

सीधी। चुरहट बाजार से होकर गुजरने वाला सीधी-रीवा मार्ग की जर्जर हालत लोगों के लिए जी का जंजाल बनी हुई है। खाईनुमा गड्ढों में तब्दील हो चुके इस मार्ग को लेकर सियासी पारा भी गर्म हो चुका है। गत वर्ष इस मार्ग के निर्माण को लेकर लोकसभा युकां अध्यक्ष एड.रंजना मिश्रा द्वारा भूख हड़ताल भी की गई थी, इसके बाद मार्ग का मरम्मतीकरण तो कराया गया लेकिन बमुश्किल छ: माह में ही यह मार्ग पुन: गड्ढों में तब्दील हो गई है। बारिश के मौसम में मार्ग के कीचड़ में सन जाने के कारण लोगों का पैदल तक निकलना मुश्किल हो रहा है। आलम यह है कि कीचड़ से सने इस मार्ग में पैदल चलने वाले लोगों सहित बाइक से आवाजाही करने वाले लोगों के कपड़े भी कीचड़ से सन जाते हैं। वाहनों की आवाजाही से पैदल यात्रियों पर कीचड़ पडऩे से कई बार विवाद की स्थिति भी निर्मित होती रहती है। बावजूद इसके इस मार्ग का मरम्मतीकरण नहीं कराया जा रहा है।
पूर्व नेता प्रतिपक्ष के गृह क्षेत्र का है मामला-
चुरहट नगर पंचायत क्षेत्र मप्र प्रदेश विधानसभा क्षेत्र के पूर्व नेता प्रतिपक्ष व कांग्रेस के वरिष्ठ नेता अजय सिंह राहुल का गृह क्षेत्र है। पूर्व में जब सड़क के खस्ताहाल की बात उठती थी तो अजय सिंह राहुल द्वारा यह बयान दिया जाता था कि प्रदेश में भाजपा की सरकार है, इसलिए हमारे क्षेत्र की उपेक्षा की जा रही है, जबकि वह चुरहट विधानसभा क्षेत्र के विधायक हुआ करते थे, लेकिन अब जब प्रदेश में कांग्रेस की सरकार बन चुकी है तब भी चुरहट बाजार क्षेत्र की सड़क का हाल पूर्ववत ही है। जर्जर सड़क मार्ग के कारण स्थानीय लोग काफी परेशान हैं।
हादसे को आमंत्रण दे रहा जर्जर मार्ग-
चुरहट बाजार क्षेत्र से होकर गुजरने वाले रीवा-सीधी मार्ग के जर्जर होने के कारण कई बार सड़क हादसे हो चुके हैं। जिसमें लोग दुर्घटनाग्रस्त होकर अपनी जान तक गवां चुके हैं, कई बार सड़क निर्माण को लेकर हुए आंदोलन प्रदर्शन के बाद भी सड़क मार्ग की जर्जर हालत में सुधार नहीं हो सका है।