स्लो इंटरनेट स्पीड होने पर आपको पत्रिका लाइट में शिफ्ट कर दिया गया है ।
नॉर्मल साइट पर जाने के लिए क्लिक करें ।

बंद कमरे में जले मिले शव की ऐेसे हुई शिनाख्त

Bajrangi Rathore

Publish: Jan 17, 2020 22:17 PM | Updated: Jan 17, 2020 22:17 PM

Sidhi

बंद कमरे में जले मिले शव की ऐेसे हुई शिनाख्त

सीधी। मप्र के सीधी शहर के उत्तरी करौंदिया मोहल्ले में बंद कमरे में मिले व्यक्ति के शव की शिनाख्त हो गई है। यह शव बस कंडक्टर का था, जिसकी पहचान शत्रुधन ङ्क्षसह चौहान पिता साहब लाल ङ्क्षसह चौहान निवासी बड़ोखर मानपुर थाना कोरांव जिला प्रयोगराज हाल पता रीवा वार्ड नं-6 के रूप में की गई है।

पुलिस की सूचना के बाद मृतक के परिजनों ने सीधी आकर शव की पहचान की, जिसके बाद पुलिस द्वारा शुक्रवार को शव का पीएम कराए जाने के बाद परिजनों को सौंपते हुए मामले की विवेचना शुरू कर दी गई है। इससे पहले सिंगरौली से आई एफएसएल टीम ने घटना स्थल पर साक्ष्यों की बारीकी से जांच की।

घटनास्थल पर बाटल में पेट्रोल, माचिस व शराब के खाली बाटल मिले हंै। कंडक्टर का शव जिस कमरे में मिला है, उसे किराए पर एक परित्यक्ता महिला द्वारा करीब डेढ़ माह पूर्व ही लिया गया था। 7 जनवरी से वह अपने कमरे में ताला बंदकर गायब थी।

पुलिस टीम द्वारा रात में ही दबिश की कार्रवाई करते हुए सुधा तिवारी को रीवा से हिरासत में ले लिया गया था। किराए से कमरा लेने के दौरान मकान मालिक बीना मिश्रा पति इंजी. आशीष मिश्रा को उसके द्वारा जो आधार कार्ड की फोटोकापी दी गई थी, वह जांच के दौरान फर्जी निकली।

उसमें पति का नाम अरविंद तिवारी तथा पता ग्राम कमर्जी तहसील चुरहट दर्ज था, उक्त आधार कार्ड के पते के आधार पर पुलिस ने जब उसका पता लगाने का प्रयास किया तो उक्त पता गलत निकला। पुलिस ने महिला की पहचान कर पता किया तो वह पुलिस चौकी सिहावल अंतर्गत था।

परिजनों ने लगाया हत्या का आरोप

मृतक के परिजनों ने पुलिस के समक्ष स्पष्ट रूप से कहा कि कंडक्टरी के कार्य में लगे शत्रुधन ङ्क्षसह की सुनियोजित तरीके से हत्या की गई है। इसमें कई लोग शामिल हैं। परिजनों ने बताया कि वर्ष 1978 से इनका पूरा परिवार रीवा में आ गया था। यहां स्वयं का मकान बनाकर सभी भाई कंडक्टरी का कार्य कर रहे हंै।

शत्रुधन ङ्क्षसह की पत्नी का निधन 20 साल पहले ही हो चुका था, उनके मात्र एक पुत्री ही संतान है। सिटी कोतवाली थाना में इस मामले को लेकर अज्ञात आरोपी के विरुद्ध धारा 302,201 आईपीसी के तहत आपराधिक मामला पंजीबद्ध कर विवेचना की जा रही है।

शत्रुधन ङ्क्षसह की हत्या के मामले में संदिग्ध महिला को हिरासत में लेकर उससे पूछताछ की जा रही है। वहीं अन्य आरोपियों की पतासाजी के लिए पुलिस टीम लगातार दबिश दे रही है। जल्द ही पूरे मामले का खुलासा कर लिया जाएगा।
अंजुलता पटले, एएसपी

[MORE_ADVERTISE1]