स्लो इंटरनेट स्पीड होने पर आपको पत्रिका लाइट में शिफ्ट कर दिया गया है ।
नॉर्मल साइट पर जाने के लिए क्लिक करें ।

जिला अस्पताल में फिर स्टाफ नर्स ने महिला मरीज के साथ की मारपीट

Manoj Kumar Pandey

Publish: Dec 06, 2019 13:31 PM | Updated: Dec 06, 2019 13:31 PM

Sidhi

पीडि़त महिला ने पुलिस अधीक्षक से की शिकायत, पुलिस ने दर्ज किया मामला, स्टाफ नर्स ने भी मरीज पर लगाया मारपीट का आरोप, सिविल सर्जन ने स्टाफ नर्स की सीएमएचओ से की शिकायत, कार्रवाई व स्थानांतरण की मांग, मामले की जांच करने सीएमएचओ पहुंचे जिला अस्पताल, स्टाफ नर्सांे की मरीजों के साथ अभद्रता व मारपीट से शर्मशार हो रहा जिला अस्पताल, कलेक्टर ने स्टाफ नर्स को निलंबित करने के दिए निर्देश

सीधी। जिला अस्पताल में उपचार के लिए जाने वाले मरीजों के साथ स्टाप नर्सांे द्वारा आए दिन अभद्रता को लेकर सुर्खियों में बने रहने वाले जिला अस्पताल सीधी में गुरूवार को फिर एक स्टाफ नर्स द्वारा महिला मरीज के साथ न सिर्फ अभद्रता की बल्कि उसके साथ मारपीट भी की गई। साथ ही उसका समान भी बाहर फेंक दिया गया। पीडि़ता जब शिकायत लेकर जिला अस्पताल स्थित पुलिस सहायता केंद्र पहुंची तो स्टाफ नर्स भी उसके पीछे पहुंच गई और पुलिस के सामने भी महिला मरीज के साथ मारपीट की गई। पीडि़त महिला की शिकायत पर अस्पताल पुलिस द्वारा स्टाफ नर्स शैलजा गुप्ता के विरूद्ध भादवि की धारा 294,323 तथा 506 के तहत अपराध पंजीबद्ध कर लिया है।
घटना के संबंध में पीडि़त महिला मरीज सुनीता पति दिनेश साहू निवासी जमोड़ी ने पुलिस सहायता केंद्र जिला अस्पताल में शिकायती आवेदन के साथ बताया कि मैं पांच दिन पहले अपने हांथ का ईलाज करने जिला अस्पताल आई थी, जहां मुझे सार्जिकल वार्ड में भर्ती कर उपचार किया जा रहा था। गुरूवार की सुबह 9 बजे डॉक्टर राउंड के बाद स्टाफ नर्स शैलजा गुप्ता आई और गाली गलौंज करते हुए मारपीट करने लगी। तब मैं वहां से भागकर अस्पताल पुलिस चौकी शिकायत करने पहुंची, तो वह भी पीछे से पहुंच गई और वहां भी पुलिस के सामने मारपीट करने लगी। वहां से पुलिस वाले सीएमएचओ डॉ.आरएल वर्मा के साथ समझाइश देने वार्ड में गए तो वहां भी वाद विवाद करने लगी, इसके बाद फिर में पुलिस चौकी जाने लगी तो पीछे से फिर मारपीट करते हुए कहने लगी की अभी तो कम मारी हूं, जान से खतम कर दूंगी।
सीएमचओ के सामने भी करती रही अभद्रता-
मामले की जानकारी सिविल सर्जन डॉ.एसबी खरे को होने पर उनके द्वारा सीएमएचओ डॉ.आरएल वर्मा को स्टाफ नर्स द्वारा मरीज के साथ अभद्रता व मारपीट किए जाने की जानकारी देते हुए कार्रवाई की मांग की, जिस पर सीएमएचओ डॉ.आरएल वर्मा मामले की जांच करने जिला अस्पताल पहुंचे, जहां उनके सामने ही स्टाफ नर्स महिला मरीज के साथ गाली गलौंज व अभद्रता करती रही।
स्टाफ नर्स ने भी की शिकायत-
महिला मरीज के साथ अभद्रता व मारपीट करने के बाद स्टाफ नर्स ने मरीज द्वारा अभद्रता व मारपीट करने की शिकायत सिविल सर्जन डॉ.एसबी खरे को लिखित आवेदन देते हुए किया है।
कलेक्टर ने दिए निलंबन के आदेश-
जिला अस्पताल के सिविल सर्जन व सीएमएचओ द्वारा कलेक्टर रवींद्र कुमार चौधरी को स्टाफ नर्स शैलजा गुप्ता द्वारा आए दिन मरीजों के साथ अभद्रता करने व मारपीट किए जाने के मामले से अवगत कराया गया, जिस पर कलेक्टर द्वारा स्टाफ नर्स शैलजा गुप्ता को निलंबित करने के निर्देश सीएमएचओ को दिए गए हैं।
सायकोटिक पेसेंट है स्टाफ नर्स-
स्टाफ नर्स शैलजा गुप्ता सायकोटिक पेसेंट है, इसका इलाज भी रीवा में चल रहा है, वह जब से यहां पदस्थ हुई है उसका व्यवहार सही नही है, वह मरीजो के साथ ही अपने स्टाफ साथियों के साथ भी दुव्र्यहार करती रहती है, आज मरीज के साथ मारपीट करने की घटना सामने आने पर सीएमएचओ को मामले से अवगत कराया गया है, वह स्वयं आकर इसकी जांच किए हैं, निश्चित रूप से कार्रवाई की जाएगी।
डॉ.एसबी खरे
सिविल सर्जन, जिला अस्पताल सीधी

[MORE_ADVERTISE1]