स्लो इंटरनेट स्पीड होने पर आपको पत्रिका लाइट में शिफ्ट कर दिया गया है ।
नॉर्मल साइट पर जाने के लिए क्लिक करें ।

स्कूल वाहन चालक ने की मासूम के साथ गंदी हरकत

Manoj Kumar Pandey

Publish: Sep 05, 2019 15:08 PM | Updated: Sep 05, 2019 15:08 PM

Sidhi

कई दिनों से डरा धमका कर की जा रही थी गंदी हरकत, किसी को जानकारी देने पर पहाड़ से नीचे फेंंके जाने की दी जा रही थी धमकी, सीने में दर्द होने पर छात्रा ने परिजनों को दी जानकारी, शिकायत पर अमिलिया पुलिस ने वाहन चालक पर दर्ज किया मामला, अमर पब्लिक स्कूल सुड़वार में कक्षा-४ में अध्ययनरत है छात्रा


सीधी। प्रदेश में लगातार बढ़ रही मासूम बच्चियों के साथ अŸलील वारदातों से सीधी जिला भी अछूता नहीं है। कही मासूम बच्चियां में स्कूलों में शिक्षकों की दरिंदगी का शिकार हो रही हैं तो कहीं कहीं स्कूल वाहन के स्टाफ की की गंदी नजरों का। इंशानियत को शर्मशार करने वाली एक ऐसी ही वारदात सीधी जिले के अमिलिया थाना क्षेत्र में सामने आई है। जहां एक स्कूल वाहन के चालक द्वारा स्कूल ले जाते समय कक्षा-4 की मासूम छात्रा के साथ गंदी हरकत की। कई दिनों तक वह स्कूल वाहन में बिठाते एवं उतारते समय गंदी हरकत करता रहा, साथ ही बच्ची को डराता धमकाता रहा कि यदि उसने इस संबंध में किसी को बताया तो वह बच्ची को पहाड़ी से नीचे फेंंक देगा। पहले तो मासूम बच्ची यह सब सहती रही, लेकिन जब अधेड़ चालक की गंदी हरकतों से उसके सीने में ज्यादा दर्द होने लगा तो मासूम ने अपनी मां को घटना की जानकारी दी, इसके बाद मासूम बच्ची को लेकर अमिलिया थाना पहुंचे जहां घटना की शिकायत पर अमिलिया पुलिस ने आरोपी स्कूल वाहन चालक के विरूद्ध विभिन्न धाराओं के तहत अपराध पंजीबद्ध कर लिया है।
घटना के संबंध में प्राप्त जानकारी के अनुसार जिले के अमिलिया थानांतर्गत सुंड़वार गांव में संचालित अमर पब्लिक स्कूल में कक्षा ४ में अध्ययनरत एक मासूम बच्ची अपने छोटे भाई जो केजी-१ में पढ़ता है के साथ स्कूल के मैजिक वाहन से गांव से स्कूल आती जाती थी। वाहन का चालक बब्बू पांडेय निवासी बड़ागांव मासूम बच्ची पर गलत नियत रखने लगा और उसे अपनी गोद में बैठाकर स्कूल लाता और ले जाता था, इस दौरान वह मासूम बच्ची के साथ गंदी हरकते करता था, साथ ही बच्ची को डराता धमकाता था कि यदि इस बारे में किसी को बताया तो पहाड़ी से नीचे फेंंक दूंगा। घटना के दो-तीन दिन तक तक डरी सहमी बच्ची ने घटना की जानकारी किसी को नहीं दी लेकिन चालक की लगातार गंदी हरकतों से जब मासूम के सीने में दर्द बढ़ गया तो उसने अपनी मां को पूरी घटना की जानकारी दी। तब मासूम की मां ने अमिलिया थाना पहुंचकर लिखित शिकायत दर्ज कराई।
इन धाराओं के तहत मामला दर्ज-
पीडि़त मासूम बच्ची की शिकायत पर अमिलिया पुलिस ने आरोपी स्कूल वाहन चालक बब्बू पांडेय के विरूद्ध भादवि की धारा 354, 323, लैंगिक अपराधों से बालकों का संरक्षण अधिनियम 2012 की धारा 7 एवं 8, अनुसूचित जाति एवं अनुसूचित जनजाति अधिनियम 1989(संसोधन 2015) की धारा 3(1)(डब्ल्यू)(आई), 3(2)(व्हीए) के तहत अपराध पंजीबद्ध कर लिया गया है।
दादा की उम्र का है चालक-
बताया गया कि आरोपी वाहन चालक मासूम बच्ची की दादा के उम्र का है, इसके बावजूद उसके मासूम बच्ची पर न सिर्फ गंदी निगाह रखी बल्कि उसके साथ गंदी हरकत भी करता रहा। जबकि अभिभावक अपने बच्चों को बेफिक्र होकर स्कूल वाहनों से स्कूल भेजते हैं, कि वह सुरक्षित हैं।
दौड़ रहे मनमानी के स्कूल वाहन-
स्कूल वाहनों के लिए शासन कई मानक निर्धारण किए गए हैं, ताकि बच्चों के साथ इस तरह की वारदाते न हों। वाहन में सीसीटीवी कैमरे, महिला अटेंडर आदि अनिवार्य किया गया है। लेकिन जिले में स्कूलों में लगे वाहनों में इन मापदंडों को पालन नहीं हो रहा है। शहरी अंचल के बड़ी स्कूलों के वाहनों को छोड़ दिया जाय तो ग्रामीण अंचलों में जो छोटे वाहन स्कूलों में बच्चों को लाने ले जाने के लिए लगाए गए हैं, उनमें खुले तौर पर मानकों की अनदेखी की जा रही है, बावजूद इसके जिम्मेदारों द्वारा ऐसे स्कूल व हना स्कूल संचालकों के खिलाफ कार्रवाई नहीं की जा रही है।
नहीं हुई चालक की गिरफ्तारी-
पीडि़त मासूम बच्ची की मां के द्वारा 29 अगस्त को मामले की शिकायत अमिलिया थाने में की गई थी, शिकायत के बाद 29 अगस्त को ही पुलिस ने आरोपी वाहन चालक के विरूद्ध विभिन्न धाराओं के तहत अपराध पंजीबद्ध कर लिया था, लेकिन अभी तक आरोपी वाहन चालक की गिरफ्तारी नहीं की गई है, और न ही स्कूल प्रबंधन द्वारा चालक को हटाया गया है। सूत्रों से मिली जानकारी के अनुसार चालक अभी भी स्कूल वाहन चला रहा है।
वरिष्ठ अधिकारी करेंगे जांच-
घटना की शिकायत पर आरोपी वाहन चालक के विरूद्ध विभिन्न धाराओं के तहत अपराध पंजीबद्ध कर लिया गया है। क्योंंकि अपराध एससीएसटी एक्ट के तहत भी दर्ज है इसलिए इसकी विवेचना एसडीओपी स्तर के अधिकारियों से की जाएगी, मेरे द्वारा प्रकरण की डायरी एसडीओपी चुरहट के पास भिजवाई जा रही है। मामले में जो भी कार्रवाई होगी उन्हीं के द्वारा की जाएगी।
दीपक बघेल, थाना प्रभारी अमिलिया