स्लो इंटरनेट स्पीड होने पर आपको पत्रिका लाइट में शिफ्ट कर दिया गया है ।
नॉर्मल साइट पर जाने के लिए क्लिक करें ।

कुसमी से सीधी आ रही यात्री बस अनियंत्रित होकर पलटी, 40 यात्री घायल, 6 गंभीर

Manoj Kumar Pandey

Publish: Dec 06, 2019 13:20 PM | Updated: Dec 06, 2019 13:20 PM

Sidhi

सीधी-कुसमी मार्ग में शिकरा जंगल के धुन्ने नाले के पास हुआ हादसा, घायल यात्रियों को जिला अस्पताल में कराया गया भर्ती, उपचार जारी

सीधी। कुसमी से सीधी की ओर आ रही यात्रियों से खचाखच भरी बस सीधी-टिकरी के बीच शिकरा जंगल में धुन्ने नाले के पास अनियंत्रित होकर पलट गई। इस घटना में बस में सवार करीब तीन दर्जन से अधिक यात्री घायल हो गए। घटना के बाद यात्रियों के बीच चींख पुकार मच गई। घटना की जानकारी मिलते ही स्थानीय लोग की भीड़ जमा हो गई। लोगों ने बचाव कार्य शुरू करते हुए निजी वाहनों से घायलों को जिला अस्पताल पहुंचवाना शुरू किया गया, साथ ही 100 डायल पुलिस व एंबुलेंश को सूचना दी गई, बाद में ज्यादातर घायलों को एंबुलेंश व डायल 100 वाहन से उपचार के लिए जिला अस्पताल लाया गया।
घटना के संबंध में प्राप्त जानकारी के अनुसार कुसमी से सीधी आने वाली महाबली बस ट्रेवेल्स क्रमांक एमपी 53 पी 0447 रोजाना की तरह गुरूवार की सुबह भी कुसमी से यात्रियों को लेकर सीधी के लिए रवाना हुई। लेकिन टिकरी पहुंचते-पहुंचते वह निर्धारित समय से लेट हो गई। सूत्रों के अनुसार टिकरी से बस को 8.30 बजे रवाना हो जाना चाहिए था, लेकिन वह गुरूवार को 8.50 पर टिकरी स्टेशन पहुंची। टिकरी स्टेशन से रवाना होने के बाद निर्धारित समय को कवर करने के लिए चालक द्वारा तेज रफ्तार से बस चलाना शुरू किया गया, जिससे शिकरा जंगल में धुन्ने नाले के पास तेज रफ्तार बस अनियंत्रित होकर पलट गई। हादसे के समय बस में करीब 40 से ज्यादा यात्री सवार थे। बस के अनियंत्रित होकर पलटते ही यात्रियों के बीच चींख पुकार मच गई, जिसे सुनकर स्थानीय लोगों की भीड़ जमा हो गई और लोग बचाव कार्य में जुट गए। इस दौरान रूट से निकलने वाले वाहनों में घायल यात्रियों को बिठाकर उपचार के लिए जिला अस्पताल भिजवाया गया, जहां उपस्थित डॉक्टरों की टीम द्वारा घायलों को उपचार शुरू किया गया। इधर बस चालक के विरूद्ध भादवि की धारा 279,337 के तहत मामला दर्ज कर लिया गया है।
घायलों में ये शामिल-
अनियंत्रित होकर बस पलटने से 40 यात्री घायल हो गए, जिनका जिला अस्पताल में उपचार चल रहा है। घायलों में ममता पति सत्यनारायण कुशवाहा (34) धुआंडोल, कृष्णा पिता राजपति कुशवाहा (10)धुआंडोल, सियावती पति रघुवीर ङ्क्षसह (25)शिकरा, हीराकली पति भारत सिंह (25)शिकरा, पार्वती पति जगन्नाथ गुप्ता (60)कोटहा, चूड़ामणि पति भोला ङ्क्षसह (40)शिकरा, मनफेर पिता दुर्गा केवट (55)अमहिया, रामानुज पिता शंकर यादव (28)शिकरा, दीनदयाल पिता जग्यनारायण (32)शिकरा, नरेंद्र पिता राजेश्वर विश्वकर्मा (45)गोतरा, रानी पति गिरजा केवट (25)पथरहा, विजयी पिता रामधनी प्रजापति (45)शिकरा, राधेश्याम पिता सूर्यमणि गौतम (59)सोहागी रीवा, राकेश पिता महिपाल अगरिया (18)बंजारी, फूलमती पति बंशबहादुर सिंह (45)तिलवानी, रामकृष्ण पिता लखन बंशल (40) चितरंगी, रंगदेव जायसवाल (70) भदौरा, साक्षी पिता अमरजीत साहू (18)महखोर, रामनारायण पिता सुंदारे अगरिया (38)धुपखड़, रामप्रसाद पिता रामावतार प्रजापति (38)शिकरा, दादू पिता परदू पनिका (30) कुसमी, सुरेश पिता चतुमान साकेत (29)शिकरा, नागेंद्र पिता तेजासी सिंह (34)कुसमी, राकेश पिता महिपाल अगरिया (18)सरई, मुकेश पिता हीरालाल प्रजापति (23)शिकरा, रामायण पिता सूरदीन सेन (36)शिकरा, राजू पिता राममिलन केवट (28)शिकरा, बीरेंद्र पिता बंशराखन अगरिया (19)शिकरा, प्रेमवती पति बीरेंद्र सिंह (35)शिकरा, अमरजीत पिता भरमदीन साहू (45)महखोर, शिवनाथ पिता रामबनि प्रजापति (28)शिकरा, अमन पिता सत्यनारायण कुशवाहा (12)धुआंडोल, अजय पिता सत्यनारायण कुशवाहा (14)धुआंडोल, संतोष पिता शिवलाल प्रजापति (22)शिकरा, शिवकुमार पिता लालू प्रजापति (40)शिकरा, राजू पिता श्यामलाल प्रजापति (35)शिकरा, बिहारीलाल पिता गंगा केवट (55)परासी, सचिन पिता गिरजा केवट (8)पथरहा, नेहा पिता गिरजा केवट (6)पथरहा आदि शामिल हैं। इनमें से 6 की हालत गंभीर बताई जा रही है।
कलेक्टर व विधायक पहुंचे अस्पताल-
घटना की सूचना मिलते ही कलेक्टर रवींद्र कुमार चौधरी जिला अस्पताल पहुंचे व घायलों को दी जा रही उपचार सुविधा का जायजा लिया। इसके बाद धौहनी क्षेत्र के विधायक कुंवर सिंह टेकाम भी जिला अस्पताल पहुंचकर घायलों का हाल चाल जाना। वहीं पुलिस अधीक्षक आरएस बेलवंसी, एएसपी अंजुलता पटले, एसडीएम सुधीर बेक, नायब तहसीलदार दीपेंद्र ङ्क्षसह तिवारी सहित अन्य प्रशासनिक अमला मौजूद रहा। जिला अस्पताल पहुंचे कलेक्टर रवींद्र कुमार चौधरी ने हादसे में घायलों को सहायता राशि के रूप में साढ़े सात हजार रूपए प्रदाय किए जाने की घोंषणा की।

[MORE_ADVERTISE1]