स्लो इंटरनेट स्पीड होने पर आपको पत्रिका लाइट में शिफ्ट कर दिया गया है ।
नॉर्मल साइट पर जाने के लिए क्लिक करें ।

सीधी में हाथी महोत्सव का समापन: अब संजय टाइगर रिजर्व का हिस्सा बनेगी मादा हाथी 'चित्रा

Anil Singh Kushwaha

Publish: Sep 19, 2019 17:58 PM | Updated: Sep 19, 2019 17:58 PM

Sidhi

हाथी महोत्सव में हाथियों का पुष्पवर्षा कर भव्य तरीके से किया गया स्वागत

सीधी/मझौली. संजय टाइगर रिजर्व क्षेत्र में चल रहे सात दिवसीय हाथी महोत्सव का समापन धूमधाम से किया गया। टाइगर रिजर्व क्षेत्र अंतर्गत वन परिक्षेत्र दुबरी के खैरी झील हाथी कैंप में दुबरी वन परिक्षेत्र अधिकारी वीरभद्र सिंह के मार्गदर्शन में 11 सितंबर से एक सप्ताह का हाथी महोत्सव का आयोजन किया जा रहा था।

हाथियों का स्वागत कर दिया गया भोजन
समापन में निर्धारित डाइट सेब, केला, अनार, नाशपाती के साथ गन्ने व नीम के तेल से मालिश एवं आरंडी तेल चम्पी के साथ सात दिन तक महोत्सव चला। इसमें अपर प्रधान मुख्य वन संरक्षक एचएस नेगी व क्षेत्र संचालक एवं मुख्य वन संरक्षक एके मिश्रा शामिल हुए। इन्होंने हाथियों से जुड़ी कहानियों व घटनाओं पर प्रकाश डालते हुए लोगों को इनसे दोस्ताना व मित्रवत व्यवहार की अपेक्षा की।

एक सप्ताह चला हाथी महोत्सव
वहीं एके मिश्रा ने बताया कि हमारे पास दो हाथी थे और दोनों ही नर जाति के थे, चूंकि हाथी एक पारिवारिक प्राणी है, इसलिए बांधवगढ़ से एक चित्रा मादा हाथी अब संजय टाइगर रिजर्व का हिस्सा बनेगी। चित्रा वही हथिनी है जो पिछले वर्ष सीधी जिले में आतंक का पर्याय बनी थी, लेकिन अब यह एक ट्रेंड हथिनी है जो एक मादा बच्चे की मां है जिसे बहुत जल्द इस परिवार का हिस्सा बनाया जाएगा। कार्यक्रम में दुबरी व वस्तुआ परिक्षेत्र के समस्त अधिकारी व कर्मचारी उपस्थित रहे।