स्लो इंटरनेट स्पीड होने पर आपको पत्रिका लाइट में शिफ्ट कर दिया गया है ।
नॉर्मल साइट पर जाने के लिए क्लिक करें ।

मैरिज गार्डनों पर पार्किंग नहीं, सड़क पर खड़े हो रहे वाहन

Om Prakash Pathak

Publish: Dec 05, 2019 16:33 PM | Updated: Dec 05, 2019 16:33 PM

Sidhi

मैरिज गार्डनों पर पार्किंग नही, सड़क पर खड़े हो रहे वाहन, निर्देशों के बाद भी नही बनी पार्किंग की सुविधा, मुख्य सड़कों पर बनती है जाम की स्थिती

सीधी। शादियों का सीजन शुरू हो गया ऐसे में विवाह मुहुर्त के दिन दोपहर से लेकर रात तक सड़कों पर ट्रैफिक का दबाव रहता है और जाम लग जाता है। ये सब होता है मैरिज गार्डनों में पार्किंग सुविधा नही होने के कारण सबसे ज्यादा शहर में हिरण नाला से लेकर जोगीपुर तक की सड़क में गंभीर स्थिती रहती है। यहां बड़े मैरिज गार्डनों के संचालन होने के कारण वाहनों की संख्या भी काफी ज्यादा रहती है। दोनो पक्षों की ओर से सैकड़ों वाहनों की भीड़ जमा हो जाती है। पार्किंग की सुविधा न होने के कारण मैरिज गार्डनों के सामने ही वाहनों की लंबी कतारें सड़क पर लगी रहती है। ऐसे में कई बार छुटपुट हादसे भी हो जाते है। लेकिन बड़ा हादसा न होने के कारण सब कुछ व्यवस्था के अनुसार चल रहा है। हलाकि प्रशासन की ओर से कई बार मैरिज गार्डन संचालकों को पार्किंग सुविधा तय करने की हिदायत दी गई लेकिन अभी तक इस दिशा में किसी भी मैरिज गार्डन में पार्किंग नही बनी है। मैरिज गार्डनों में एनजीटी के नियम के तहत पार्किंग के लिए 35 फीसदी जगह छोडे जाने का प्रावधान है। फिर भी मैरिज गार्डन संचालकों द्वारा अपनी पूरी भूमि में मैरिज गार्डन संचालित कर रहे है। पार्किंग के लिए यहां से लगी मुख्य सड़क की पटरियों का निर्धारण किया गया है। मालुम रहे कि सीधी शहर में पड़ैनिया मार्ग, स्टेडियम मार्ग, गोपालदास मार्ग, चकदही मार्ग, कालेज मार्ग, जमोड़ी मार्ग में बड़े मैरिज गार्डन संचालित हो रहे है। वैवाहिक मुहुर्तो के दौरान सभी मैरिज गार्डन बुक रहते है। स्थिती यह है कि वैवाहिक कार्यक्रमों के आरंभ होने से दो माह पूर्व ही इनकी बुकिंग हो जाती है।
पार्टी कार्यालय बने जनमासा-
शहर में कुछ बड़े राजनैतिक दलों द्वारा अपने पार्टी कार्यालय को भी बारात के लिए जनमासा के रूप में किराए पर देने का प्रचलन शुरू किया गया है। जिसके चलते पार्टी कार्यालयों में भी बारात आगमन के दौरान वाहनों की काफी भीड़ जमा रहती है। स्थिती यह हो जाती है कि बारात आने के बाद से विदाई होने के तक यहां वाहनों की भीड़ सड़क के पटरी पर ही जमा रहती है। जिसके चलते आवागवन पूरी तरह से बाधित हो जाता हैै। तत्सबंध में सबंद्ध कुछ कार्यकर्ताओं का कहना है कि लोगों की सुविधा के लिहाज से पार्टी कार्यालय के बड़े स्थान को जनमासा के लिए आरक्षित कर दिया जाता है। यह केवल लोगों की मदद के लिहाज से ही कभी कभार किया जाता है।

[MORE_ADVERTISE1]