स्लो इंटरनेट स्पीड होने पर आपको पत्रिका लाइट में शिफ्ट कर दिया गया है ।
नॉर्मल साइट पर जाने के लिए क्लिक करें ।

नपा ने शुरू किया आवारा मवेशियों का धर पकड़ अभियान

Manoj Kumar Pandey

Publish: Sep 14, 2019 21:13 PM | Updated: Sep 14, 2019 21:13 PM

Sidhi

रात्रि में नपाकर्मियों द्वारा पकड़कर मानस भवन में कैद किए जाते हैं आवारा मवेशी, आवारा मवेशियों को कैद करने जिले में ढूंढे जा रहे गौ शाला, चौफाल एवं अमिलिया गौ शाला में भेजे जा चुके एक सैकड़ा से अधिक आवारा मवेशी, अभी भी शहर में धमाचौकड़ी मचा रहे आधा सैकड़ा से अधिक आवारा मवेशी

सीधी। शहर के मुख्यमार्ग व सार्वजनिक स्थलों में धमाचौकड़ी मचाने वाले आवारा मवेशियों की धर-पकड़ अभियान कलेक्टर के निर्देश पर शुरू कर दिया गया है। पकड़े गए मवेशियों को जिले के विभिन्न गौ-शालाओं में भेजा जा रहा है। अब तक करीब आधा सैकड़ा मवेशियों को विभिन्न गौ-शालाओं में भेजा जा चुका है, जबकि अभी भी करीब दो दर्जन मवेशी मानस भवन परिसर में कैद हैं। जिन्हे भिजवाने के लिए गौ-शाला की तलाश की जा रही है।
उल्लेखनीय है कि शहर में करीब दो सैकड़ा से अधिक आवारा मवेशी धमा-चौकड़ी मचा रहे हैं। मुख्य सड़कों के साथ ही सार्वजनिक स्थलों बस स्टैंड, संजीवनी पालिका बाजार सहित अन्य स्थलों में आवारा मवेशियों की धमाचौकड़ी से शहर की यातायात व्यवस्था बाधित हो रही है। वहीं रात में मुख्य मार्गों में आवारा मवेशियों का जमावड़ा लगे रहने से यातायात व्यवस्था बाधित होने के साथ ही सड़क दुर्घटनाओं की आशंका भी बनी रहती थी। सबसे बड़ी समस्या यह थी की आवारा मवेशियों पर वाहनों के हार्न मारने का भी कोई असर नहीं पड़ता था। आवारा मवेशियों की धमाचौकड़ी से शहर की सुंदरता पर भी ग्रहण लग रहा था, जिसकी शिकायत लगातार मुख्य नगर पालिका अधिकारी सहित कलेक्टर रविंद्र कुमार चौधरी के पास की जाती रही है। जिसे गंभीरता से लेते हुए कलेक्टर रविंद्र कुमार चौधरी द्वारा नपा सीधी को निर्देश दिए गए कि शहर में धमा चौकड़ी मचाने वाले आवारा मवेशियों को जिले के विभिन्न गौशालाओं में भिजवाया जाए। गौ शालाओं के चिन्हांकन की जिम्मेदारी उप संचालक पशु चिकित्सा विभाग को सौंपी गई थी।
रात 9 बजे से 1 बजे तक पकड़े जाते हैं मवेशी-
कलेक्टर के निर्देश पर नपा द्वारा आवारा मवेशियों की धर पकड़ अभियान शुरू की गई है, यह अभियान रात 9 बजे से 1 बजे तक चलाया जाता है, जिसमें नपाकर्मी शहर भर के सड़कों व सार्वजनिक स्थलों में विचरण करने वाले आवारा मवेशियों को पकड़कर मानस भवन परिसर में कैद करते हैं जहां से उन्हे वाहनों में भरकर चिन्हित किए गए गौ शालाओं में भिजवाया जाता है।
गौ शाला भेजे गए आधा सैकड़ा मवेशी-
शहर के सार्वजनिक स्थलों से पकड़े गए आवारा मवेशियों में से 36 नग आवारा मवेशियों को चौफाल गौ-शाला व 30 नग मवेशियों को गोपालदास ट्रस्ट हिनौती झिरिया सिहावल भिजवाया जा चुका है। बताया गया कि हिनौती झिरिया स्थिति ट्रस्ट की गौ शाला में बारिश के कारण वाहन के आवाजाही में परेशानी के कारण यहां और अधिक मवेशी नहीं ले जाए जा सकते इसिलए अब अन्य गौ शाला चिन्हांकित की जा रही है।
बीस नग मवेशी अभी भी कैद-
शुक्रवार की रात शहर से पकड़े गए करीब पचास नग आवारा मवेशियों में से 30 नग मवेशियों को गोपालदास ट्रस्ट हिनौती झिरिया सिहावल भिजवाया जा चुका है, जबकि अभी बीस नग मवेशी मानस भवन परिसर में ही कैद हैं जिन्हे किस गौ शाला में भिजवाया जाए इसके लिए उप संचालक पशु चिकित्सा विभाग से चर्चा की जा रही है।
जारी रहेगा अभियान-
आवारा मवेशियों की धर पकड़ अभियान लगातार जारी है। अभी तक करीब आधा सैकड़ा आवारा मवेशियों को पकड़ा जा चुका है, जिन्हे उप संचालक पशु चिकित्सा विभाग द्वारा चिन्हित किए गए गौ शालाओं में भेजा जा चुका है, यह अभियान लगातार तब तक जारी रहेगा जब तक शहर की सड़कों व सार्वजनिक स्थलों में आवारा मवेशी नजर आते रहेंगे।
पवन सिंह, राजस्व निरीक्षक नपा सीधी