स्लो इंटरनेट स्पीड होने पर आपको पत्रिका लाइट में शिफ्ट कर दिया गया है ।
नॉर्मल साइट पर जाने के लिए क्लिक करें ।

मध्यान्ह भोजन में गिरी छिपकली, भोजन खाकर बीमार हुए डेढ़ दर्जन बच्चे

Manoj Kumar Pandey

Publish: Sep 12, 2019 13:26 PM | Updated: Sep 12, 2019 13:26 PM

Sidhi

बीमार बच्चों को जिला अस्पताल में कराया गया भर्ती, सिहावल विकासखंड अंतर्गत शासकीय प्राथमिक व माध्यमिक शाला बिछरी का

सीधी। जिले के सिहावल विकासखंड अंतर्गत ग्राम पंचायत लौआर में संचालित शासकीय प्राथमिक व माध्यमिक शाला बिछरी में बच्चों को पकाए जाने वाले मध्यान्ह भोजन में छिपकली गिर जाने से विषैला मध्यान्ह भोजन करने वाले डेढ़ दर्जन बच्चे बीमार हो गए। बीमार बच्चों को उपचार के लिए जिला अस्पताल मेें भर्ती कराया गया है। घटना बुधवार की दोपहर करीब 1.30 बजे की है, जबकि बीमार बच्चों को जिला अस्पताल शाम करीब 6 बजे पहुंचाया जा सका।
घटना के संबंध में प्राप्त जानकारी के अनुसार शासकीय प्राथमिक व माध्यमिक शाला बिछरी में अध्ययनरत बच्चों के लिए रोजाना की तरह बुधवार को शारदा महिला स्व-सहायता समूह द्वारा उपलब्ध कराए गए खाद्यान्न से विद्यालय के रसोंइयों द्वारा मध्यान्ह भोजन के रूप में खिचड़ी पकाई जा रही थी, इसी दौरान खिचड़ी में छिपकली गिर गई और रसोंइयां देख नहीं पाई। लिहाजा खिचड़ी विषैली हो गई और बच्चों को परोस दी गई, विषैली खिचड़ी खाते ही बच्चों को चक्कर आने लगा और कुछ बच्चे उल्टियां करने लगे। इसकी जानकारी मिलते ही स्कूल प्रबंधन द्वारा बच्चों को भोजन करने से मना करते हुए भोजन फिकवा दिया गया, साथ ही ग्रामीणों को जानकारी दी गई, जानकारी मिलते ही ग्रामीण बच्चों को उपचार सुविधा हेतु ले जाने की व्यवस्था में जुट गए।
विषाक्त भोजन खाने से ये हुए प्रभावित-
स्कूल मे बुधवार को मीनू को दरकिनार कर खिचड़ा बनाया गया था, जिसके सेवन से डेढ दर्जन छात्र प्रभावित हुए। जिसमें अमित सिंह पिता बलदाउ सिंह 10 वर्ष, आंचल कोहार पिता हीरालाल कोहार 8 वर्ष, मयंक सिंह पिता अनिल सिंह 6 वर्ष, शांती पिता दादूलाल 7 वर्ष, आकाश सिंह पिता प्रकाश सिंह 6 वर्ष, शशी सिंह पिता जीवेंद्र सिंह 8 वर्ष, अंतिमा पिता मुन्ना 10 वर्ष, विनीता सिंह पिता लालू सिंह 8 वर्ष, आंचल पिता पप्पू 7 वर्ष, ईशा पिता बब्लू 10 वर्ष, रमेश कोल पिता जागबली कोल, आंचल सिंह पिता उमेश बरगाही 8 वर्ष, शिखा सिंह पिता अनिल सिंह 8 वर्ष, शालू सिंह पिता अनिल सिंह 10 वर्ष, बविता पिता करन 7 वर्ष, संजू कुशवाहा पिता लाले कुशवाहा 14 वर्ष सहित डेढ़ दर्जन बच्चे प्रभावित हुए।
चारो तरफ नदी से घिरा हुआ है गांव-
जिला मुख्यालय से करीब ७५ किमी दूर ग्राम पंचायत लौआर के बिछरी गांव मे उक्त घटना घटित हुई है। वहां तक जाने का के लिए आज दिनांक तक रास्ते का निर्माण नहीं हो पाया है, जहां कोई भी घटना हो जाने के बाद चिकित्सालय तक पहुंचने मे घंटो का समय लगता है। क्योंकि यह गांव चारो तरफ से सोन, गोपद व बनास नदी से घिरा हुआ है। इसी के बगल मे तीनो नदियों का संगम स्थल भी है। गोपद नदी में पुल न होने के कारण यहां के लोग नदी में ज्यादा पानी होने पर नाव के सहारे नदी पार कर लौआर गांव पहुंचते हैं, जब पानी कम होता है तो वह पैदल ही नदी पार कर लेते हैं। बुधवार को ग्रामीण बीमार बच्चों को पैदल ही नदी पार कर लौआर तक लाए जहां से वाहन व्यवस्था कर जिला अस्पताल लाया गया। जिस कारण दोपहर एक बजे विषाक्त भोजन करने के बाद छात्र-छात्राएं उपचार के लिए शाम छह बजे जिला चिकित्सालय पहुंच पाई। जहां सभी की हालत अब स्थिर बताई जा रही है।
अस्पताल में लगा अधिकारियों का जमावड़ा-
बीमार बच्चों को शाम करीब 6 बजे ही जिला अस्पताल लाकर भर्ती करा दिया गया था, लेकिन मामले की किसी को भनक तक नहीं लगी। मीडिया के माध्यम से जब कलेक्टर को इस मामले से अवगत कराया गया तो, कलेक्टर का फरमान जारी होते ही जिला अस्पताल में संबंधित अधिकारियों का जमावड़ा लग गया। वस्तु स्थिति से अवगत होने रात करीब आठ बजे जिला खाद्य एवं आपूर्ति अधिकारी आशुतोष तिवारी, जिला परियोजना समन्वयक जिला शिक्षा केंद्र डॉ.केएम द्विवेदी, परियोजना अधिकारी जिला पंचायत एवं प्रभारी मध्यान्ह भोजन डॉ.रजनीश तिवारी जिला अस्पताल पहुंचे और बीमार बच्चों का हाल चाल लेने के साथ ही बच्चों के परिजनों से घटना की जानकारी ली।
खतरे से बाहर हैं बच्चे-
ग्राम पंचायत लौआर मे संचालित शासकीय स्कूल के बच्चें चिकित्सालय आए हैं, जो मध्यान्ह भोजन मे छिपकली गिरने से विषाक्त भोजन का सेवन कर लिए थे। सभी का उपचार जारी है, अब सभी बच्चे खतरे से बाहर हैं।
डॉ. एसबी खरे
सिविल सर्जन, जिला चिकित्सालय सीधी
दोषियों के खिलाफ होगी कार्रवाई-
मुझे अभी घटना के संबंध मे जानकारी प्राप्त हुई है, मैं जांच के लिए दो अधिकारियों को भेज दिया हूं, जो दोषी होगा उसके खिलाफ सख्त कार्रवाई की जाएगी।
रविंद्र कुमार चौधरी
कलेक्टर, सीधी
रसोंइयां व समूह के विरूद्व होगी कार्रवाई-
मुझे अभी मामले की जानकारी हुई है, जानकारी मिलते ही अस्पताल पहुंच गया हूं, मध्यान्ह भोजन बनाने में लापरवाही बरतने वाले स्व-सहायता समूह व रसोंइयां के विरूद्ध कार्रवाई प्रस्तावित की जाएगी।
डॉ.केएम द्विवेदी
जिला परियोजना समन्वय, जिला शिक्षा केंद्र सीधी