स्लो इंटरनेट स्पीड होने पर आपको पत्रिका लाइट में शिफ्ट कर दिया गया है ।
नॉर्मल साइट पर जाने के लिए क्लिक करें ।

जमीन अधिग्रहित फिर भी नहीं मिला मुआवजा

Om Prakash Pathak

Publish: Aug 22, 2019 18:05 PM | Updated: Aug 22, 2019 18:05 PM

Sidhi

जमीन अधिग्रहित फिर भी नहीं मिला मुआवजा, ट्रेन आना तो दूर, जहां स्टेशन बनना है वहां की जमीन का नहीं वितरित हुआ मुआवजा, नोटिस जारी होने के महीनो बाद भी भू-स्वामियो को मुआवजे की दरकार

सीधी। ललितपुर सिंगरौली रेल परियोजना के लिए जमीन अधिग्रहित तो की गई किंतु भू-स्वामियो को आज दिनांक तक मुआवजा राशि नहीं नसीब हो पाई, जिसके कारण भू-स्वामी कलेक्ट्रेट मे चक्कर काटने को मजबूर हैं। जिस स्थान पर रेल्वे स्टेशन का निर्माण होना है, उस जमीन की मुआवजा राशि का भुगतान नहीं हो पाया है। जिससे भू-स्वामियों को भटकना पड़ रहा है।
उल्लेखनीय है कि सीधी निवर्तमान सांसद रीती पाठक सीधी मे रेल लाने को लेकर किए गए प्रयास को बोट बैंक मे तब्दील करने मे जुटी हुई हैं किंतु जमीनी हकीकत कुछ और बया कर रही है। रेल्वे ट्रैक का निर्माण कार्य तो दूर अभी तक अधिग्रहित की गई जमीन का मुआवजा राशि तक वितरित नहीं की गई है। मालुम हो कि सीधी जिले मे शहर के नजदीक मधुरी व नौढिया गांव के मध्य मे रेल्वे स्टेशन का निर्माण कार्य होना प्रस्तावित है। जमीन का अधिग्रहण बीते करीब दो वर्ष पूर्व किया गया था किंतु दो वर्ष बाद भी किसानो को मुआवजा राशि का वितरण नहीं किया गया है। यहां तक कि कलेक्टर के द्वारा भू-स्वामियो को अधिग्रहित की गई भूमि की नोटिस, सूचना भी लिखित तौर पर जारी की गई है। जिस नोटिस को लेकर भू-स्वामी कलेक्ट्रेट मे चक्कर लगा रहे हैं। ऐसी स्थिति मे मुआवजा न मिलने से नाराज किसान सांसद को कोसने मे भी कोई कोर कसर नहीं छोड़ रहे हैं।
अनियमितता के कारण राशि आहरण पर लगा दी गई थी रोक-
नौढिया ग्राम पंचायत मे जमीन अधिग्रहण व मुआवजा राशि निर्धारण के संबंध मे तत्कालीन पटवारी के द्वारा जमकर अनियमितता बरती गई थी। जिसकी शिकायत होने पर कलेक्टर के द्वारा जिन किसानो के नाम पर मुआवजा राशि जारी की गई थी, उस पर आहरण से रोक लगा दी गई थी। जांच के बाद अनियमितता का निराकरण किया गया, किंतु किसानो के बैंक खाते मे मुआवजा राशि नहीं जारी की जा रही है। जिसके कारण किसान दो वर्ष से मुआवजा राशि मिलने की बाट जोह रहे हैं।