स्लो इंटरनेट स्पीड होने पर आपको पत्रिका लाइट में शिफ्ट कर दिया गया है ।
नॉर्मल साइट पर जाने के लिए क्लिक करें ।

इतना लंबा जाम कि चालकों और यात्रियों को ठंड में भी निकले पसीने

Bajrangi Rathore

Publish: Jan 17, 2020 21:53 PM | Updated: Jan 17, 2020 21:53 PM

Sidhi

इतना लंबा जाम कि चालकों और यात्रियों को ठंड में भी निकले पसीने

सीधी। मप्र के सीधी-रीवा बाया बघवार मार्ग एवं रीवा-अमरकंटक मार्ग के छुहिया घाटी में दो मालवाहक भारी वाहनों के खराब होने से बारह घंटे से अधिक समय से आवागवन बाधित है। जाम के कारण पूरे घाटी में करीब पांच किमी तक वाहनों की लंबी कतार लग गई है।

जाम के कारण रीवा-अमरकंटक मार्ग के साथ ही सीधी-रीवा बाया बघवार मार्ग भी पूरी तरह से प्रभावित हो गया है। जाम के चलते यात्री वाहनों का रूट परिवर्तित कर दिया गया है। अमरकंटक मार्ग से रीवा की ओर जाने वाले यात्री वाहनों को जिगना की ओर से डायवर्ट कर दिया गया है, जिसमें यात्री वाहनों को सतना व रीवा पहुंचने के लिए काफी चक्कर लगाना पड़ रहा है।

वहीं कुछ यात्री वाहनों के साथ ही निजी वाहन भी जाम के बीच में पिछले करीब बारह घंटे से अधिक समय से फंसे हुए हैं। बताया गया कि बीच छुहिया घाटी में मोड़ पर दो मालवाहक भारी वाहन गुरुवार की देर रात खराब हो गए थे। रात होने के कारण वाहन संचालकों को जाम की जानकारी नहीं हुई और एक-एक कर वाहनों की कतार गोंविंदगढ़ एवं बघवार की तरफ घाटी में बढ़ती गई।

इससे कुछ यात्री एवं निजी वाहन बीच जाम में फंसते चले गए। पीछे से वाहनो की लंबी कतार लग जाने से ऐसे वाहनों की वापसी भी संभव नहीं हो पाई, लिहाजा वह बीच में ही फंसे रह गए। अल सुबह जाम की सूचना पिपरांव पुलिस व थाना गोविंदगढ़ पुलिस को दी गई।

सूचना मिलने के बाद पिपरांव चौकी पुलिस एवं गोविंदगढ़ थाना की पुलिस ने वाहनों को घाटी के नीचे से ही प्रवेश प्रतिबंधित किया, साथ ही यात्री वाहनों का रूट भी परिवर्तित किया।

भोजन और पानी की समस्या से जूझते रहे चालक व यात्री

बीच घाटी में जाम लगने के कारण करीब पांच किमी तक वाहनों की लंबी कतार लग गई है। घाटी में भोजन व पानी आदि की किसी तरह की व्यवस्था न होने से जाम में फंसे वाहनों के स्टाफ व कुछ निजी तथा यात्री वाहनों के सवारी तरसते रहे। वहीं कुछ सवारी पैदल ही घाटी से नीचे उतरे और दूसरे वाहनों से अपने गंतव्य के लिए रवाना हुए।

खराब मार्ग के कारण आए दिन लगता है जाम

बताया गया कि छुहिया घाटी में मार्ग काफी खराब हो गया है, जिससे आए दिन घाटी में वाहन खराब होते हैं या पलट जाते हैं। इससे जाम की स्थिति निर्मित हो जाती है। घाटी करीब पांच किमी होने के कारण वाहन चालकों को पहले जाम की जानकारी भी नहीं लग पाती जिससे वाहनों की लंबी कतार लग जाती है। लोगों का कहना है कि जब तक जर्जर मार्ग की मरम्मत नहीं होगी जाम की समस्या से निजात नहीं मिल पाएगी।

गुरुवार की देर रात घाटी के मोड़ में मालवाहक खराब होने से जाम की स्थिति निर्मित हुई है। जानकारी मिलने के बाद घाटी के नीचे से वाहनों की आवाजाही रोक दी गई है, साथ ही यात्री वाहनों का रूट परिवर्तित कर दिया गया है। वाहन सुधार के लिए मैकेनिक बुलवाया गया है, वाहन सुधरने के बाद ही जाम खुल पाएगा।
शेषमणि त्रिपाठी, चौकी प्रभारी पिंपरांव

[MORE_ADVERTISE1]