स्लो इंटरनेट स्पीड होने पर आपको पत्रिका लाइट में शिफ्ट कर दिया गया है ।
नॉर्मल साइट पर जाने के लिए क्लिक करें ।

अवैध होर्डिंग तथा विज्ञापन पैनल सात दिवस में हटाने के निर्देश

Manoj Kumar Pandey

Publish: Nov 06, 2019 13:34 PM | Updated: Nov 06, 2019 13:34 PM

Sidhi

बिना अनुमति विज्ञापन प्रदर्शित करने वालों पर करें कार्रवाई- कलेक्टर

सीधी। मध्यप्रदेश आउटडोर विज्ञापन नियम 2017 एवं मध्यप्रदेश संपत्ति विरूपण अधिनियम 1994 के प्रावधानों को प्रभावी रूप से लागू करने के निर्देश दिए गए हैं। कलेक्टर रवींद्र कुमार चौधरी ने जिले के सभी नगरीय निकायों को शासन के निर्देशों के अनुरूप बिना अनुमति सार्वजनिक स्थलों पर विज्ञापन प्रदर्शित करने वालों पर कड़ी कार्रवाई के निर्देश दिए हैं। उन्होंने कहा है कि कई सामाजिक संगठन, राजनैतिक दल तथा अन्य व्यक्ति बिना अनुमति लिए सार्वजनिक स्थलों, टेलीफोन तथा बिजली के खंभों एवं सार्वजनिक भवनों में विज्ञापन प्रदर्शित कर देते हैं। यह संपत्ति विरूपण अधिनियम का उल्लंघन है। इनके विरूद्ध संपत्ति विरूपण अधिनियम के प्रावधानों के तहत प्रकरण दर्ज कर कार्रवाई करें। निजी भवनों में भी यदि मकान मालिक की लिखित अनुमति के बिना विज्ञापन बैनर, पोस्टर अथवा अन्य प्रचार सामग्री लगाई गई है तो विज्ञापन लगाने वालों पर कार्रवाई करें।
कलेक्टर चौधरी ने कहा है कि शासन द्वारा सार्वजनिक स्थलों पर विज्ञापन एवं अन्य प्रचार सामग्री लगाने के लिए मध्यप्रदेश आउटडोर विज्ञापन नियम 2017 के तहत स्पष्ट निर्देश जारी किए हैं लेकिन इसका ठीक से पालन नहीं किया जा रहा है। सभी नगरीय निकायों में बड़ी संख्या में फ्लैक्स, बैनर एवं अन्य प्रचार सामग्री सक्षम अधिकारी की अनुमति के बिना लगाए गए हैं। इनसे सार्वजनिक आवागमन को बाधा उत्पन्न हो रही है। शासन द्वारा जारी विज्ञापन भी अनुमति प्राप्त स्थान पर ही प्रदर्शित करें। सभी मुख्य नगर पालिका अधिकारी अभियान चलाकर सात दिवस में बिना अनुमति लगाए गए विज्ञापन, पोस्टर, बैनर एवं अन्य प्रचार सामग्री हटवाए। होर्डिंग, कटआउट तथा ग्रेंट्री आदि लगाने वालों पर भी कार्रवाई करें। अवैध रूप से विज्ञापन तथा होर्डिंग लगाने वालों पर अधिनियम के प्रावधानों के तहत जुर्माना लगाए। कलेक्टर ने कहा है कि सभी सार्वजनिक स्थल तथा शासकीय भवनों से अवैध विज्ञापन एवं प्रचार सामग्री हटाने के लिए नगरीय निकाय के अधिकारी एवं कर्मचारी व्यक्तिगत रूप से जिम्मेदार होंगे। इसमें लापरवाही बरतने वालों पर कड़ी अनुशासनात्मक कार्रवाई की जाएगी। कलेक्टर ने शहर की साफ-सफाई की व्यवस्था दुरुस्त रखने के साथ-साथ इस पर भी सतत् निगरानी रखने के निर्देश दिए हैं।
विज्ञापन प्रदर्शन के लिए स्थान चिंहांकित करने के निर्देश-
कलेक्टर चौधरी ने समस्त मुख्य नगरपालिका अधिकारियों को निर्देशित किया है कि अनुविभागीय अधिकारी (राजस्व) के साथ यातायात पुलिस, शहर के जनप्रतिनिधियों एवं गणमान्य प्रबुद्ध जनों से बैठक आयोजित कर उक्त विषय में चर्चा कर होर्डिंग विज्ञापन आदि लगाने के लिए शहर में यातायात सुरक्षा के मापदंडों के अनुकूल सार्वजनिक स्थलों का चिन्हांकन करें तथा अनुमोदन हेतु प्रस्ताव प्रेषित करें। कलेक्टर चौधरी ने स्पष्ट किया है कि जनहित को ध्यान में रखते हुए केवल ऐसे विज्ञापनों एवं अन्य प्रचार सामग्री को सार्वजनिक स्थलों पर लगाने की अनुमति दी जाएगी जो नागरिकों के हित में हो तथा शहर के आमजनों को सूचना इस माध्यम से देने के अलावा कोई अन्य वैकल्पिक माध्यम नहीं हो।

[MORE_ADVERTISE1]