स्लो इंटरनेट स्पीड होने पर आपको पत्रिका लाइट में शिफ्ट कर दिया गया है ।
नॉर्मल साइट पर जाने के लिए क्लिक करें ।

जिला अस्पताल की सफाई व्यवस्था बेपटरी: टेंडर निरस्त, गंदगी से पटे वार्ड और बरामदे, फर्श पर मरीजों का हो रहा इलाज

Anil Singh Kushwaha

Publish: Aug 18, 2019 18:30 PM | Updated: Aug 18, 2019 18:30 PM

Sidhi

पटरी से उतरी जिला अस्पताल की सफाई व्यवस्था

सीधी. जिला अस्पताल की सफाई एवं सुरक्षा व्यवस्था बेपटरी है। इसमें लगातार लापरवाही बरतने के कारण टेंडर अस्पताल प्रबंधन द्वारा निरस्त कर दिया गया था, जिसके बाद से अस्पताल की सफाई एवं सुरक्षा व्यवस्था बेपटरी हो गई। जिला अस्पताल में करीब 9 की संख्या में नियमित सफाईकर्मी तैनात हैं, इतने बड़े अस्पताल की सफाई व्यवस्था पटरी पर नहीं लौट रही है। जिला अस्पताल में सफाई का टेंडर निरस्त हुए करीब एक पखवाड़ा हो रहा है, तब से लेकर अब तक जिला अस्पताल की सफाई व्यवस्था बेपटरी चल रही है।

हर तरफ गंदगी का अंबार
शुक्रवार की सुबह जिला अस्पताल का जायजा लिया गया तो वार्ड से लेकर बरामदों तक गंदगी व्याप्त थी। मौसमी बीमारी के चलते मेडिकल वार्ड मरीजों से पटा है, बेड कम पडऩे पर फर्श पर गद्दे डालकर मरीजों का उपचार किया जा रहा है, लेकिन वार्ड की सफाई नहीं होने से मरीज गंदगी के बीच इलाज कराने को मजबूर हैं। बरामदों में भी गंदगी के ढेर लगे हैं। कचरा बाक्स पट चुके हैं।

सफाई का अस्थाई व्यवस्था
सफाई का टेंडर समाप्त होने के बाद सफाई की संपूर्ण जिम्मेदारी अस्पताल में कार्यरत ९ नियमित सफाईकर्मियों के कंधों पर है, ऐसी स्थिति में जिला अस्पताल प्रबंधन द्वारा अस्थाई सफाईकर्मी बीच-बीच में लगाए जा रहे हैं, नियमित सफाई न होने से समस्या बरकार है।

नवीन टेंडर की प्रक्रिया चल रही, नहीं मिलेगी अब गंदगी
सिविल सर्जन डॉक्टर एसबी खरे ने बताया कि जिला अस्पताल के सफाई एवं सुरक्षा का टेंडर निरस्त कर दिया गया है। वर्तमान में नौ नियमित सफाईकर्मचारियों के साथ ही अस्थाई सफाईकर्मियों के भरोसे कार्य कराया जा रहा है। नवीन टेंडर की प्रक्रिया चल रही है। शीघ्र ही पूर्ण कर ली जाएगी।