स्लो इंटरनेट स्पीड होने पर आपको पत्रिका लाइट में शिफ्ट कर दिया गया है ।
नॉर्मल साइट पर जाने के लिए क्लिक करें ।

दादा ने दर्ज कराई अपहरण की शिकायत, मां ने बच्चे के साथ वायरल किया वीडियो

Manoj Kumar Pandey

Publish: Dec 09, 2019 13:46 PM | Updated: Dec 09, 2019 13:46 PM

Sidhi

मझौली थाना क्षेत्र का मामला, दादा की शिकायत पर मझौली पुलिस ने दर्ज किया है बच्चे के अपहरण का मामला

सीधी। साढ़े पांच वर्षीय जिस बच्चे के अपहरण के साथ ही लूट का मामला मझौली थाना पुलिस ने विगत दिनों दर्ज किया है, उस बच्चे की मां द्वारा सोशल मीडिया में बच्चे के साथ एक वीडियो वायरल करते हुए कहा गया है कि बच्चा मेरे पास पूरी तरह सुरक्षित है। बच्चे की मां प्रिंसी सिंह ने वीडियो के माध्यम से कहा कि वह अपने मायके रायपुर छत्तीसगढ़ में है, और बच्चा उन्हीं के द्वारा ले जाया गया है। साथ ही यह भी कहा है कि मेरे ससुराल वालों द्वारा मुझे दहेज को लेकर प्रताडि़त किया जाता रहा है, और मारपीट की जाती थी, जिसके कारण मैं अपने बच्चे को लेकर मायके चली आई हूं। मेरे ससुर द्वारा पार्षद नम्रता ङ्क्षसह एवं संजय सिंह पर जो अपहरण व लूट का मामला दर्ज कराया गया है वह झूठा व मनगढ़ंत है।
उल्लेखनीय है कि विगत दिनों मझौली थाना क्षेत्र के भैंसवाही निवासी उपेंद्र ङ्क्षसह ने मझौली थाने में इस आशय की शिकायत दर्ज कराई थी मैं अपनी पत्नी व पोते विवान सिंह के साथ स्कूटी से खेत की ओर जा रहा था, तब रास्ते में एक जीप द्वारा रास्ता रोककर रीवा निवासी न्रमता सिंह व संजय सिंह द्वारा मेरे पोते विवान सिंह को छीन लिया गया, हम हल्ला गुहार करने लगे तो मुझे व मेरी पत्नी को भी जबरन जीप में बैठा लिया गया। घटना के वक्त नम्रता ङ्क्षसह व संजय सिंह के साथ तीन और महिलाएं थी जो कपड़े से अपना मुंह बांधे हुए थी, इसके बाद हमारे मोबाइल छीन लिए गए तथा मारपीट भी की गई, साथ ही कुछ गहने भी लूट लिए गए और रीवा ले जाकर हमें बस स्टैंड के पास उतार दिया गया, जबकि हमारे पोते विवान ङ्क्षसह को उठा कर ले गए। उपेंद्र सिंह द्वारा घटना की शिकायत समान थाना रीवा मे भी की गई लेकिन वहां उनकी शिकायत नहीं दर्ज की गई, इसके बाद मझौली आकर थाने में शिकायत दर्ज की गई तो पुलिस द्वारा मामला दर्ज करने में आनाकानी की गई तो ग्रामीणों के साथ मिलकर थाने का घेराव कर दिया गया, तब पुलिस ने संजय सिंह, नम्रता सिंह निवासी रीवा सहित अन्य के विरूद्ध अपहरण व लूट का अपराध पंजीबद्ध किया गया। इसके बाद सोशल मीडिया में उपेंद्र ङ्क्षसह की बहू प्रिंसी सिंह द्वारा बच्चे युवान सिंह के साथ उक्त वीडियो वायरल किया गया है।
न्यायालय में चल रहा प्रकरण पति पत्नी का प्रकरण-
जिस बच्चे के अपहरण का मामला दर्ज है उसके पिता लोकेश सिंह ने चर्चा के दौरान बताया कि गत सितंबर माह तक हम पति-पत्नि व बच्चे एक साथ रीवा में बच्चे की पढ़ाई को लेकर किराए का कमरा लेकर रहते थे, मैं काम के सिलसिले अक्सर बाहर रहता था। सितंंबर माह मे पैसे को लेकर पत्नी के साथ कुछ विवाद हुआ तो उसके द्वारा समान थाना रीवा में दहेज एक्ट का प्रकरण दायर कर दिया गया। तब से बच्चा हमारे पास है। हमारा प्रकरण सखी सेंटर, कुटुंब न्यायालय व एसडीएम कोर्ट में चल रहा है। इस बीच गत ४ दिसंबर को मेरे बच्चे का अपहरण कर लिया गया, माता पिता के साथ भी मारपीट व लूट की गई। मेरे पिता द्वारा जो प्रकरण दर्ज कराया गया है वह सही है। यदि मेरी पत्नी द्वारा बच्चे के साथ वीडियो वायरल कर यह कहा जा रहा है कि यह झूठा प्रकरण है तो बच्चे को ले जाने का तरीका सही नही था।
चल रही है विवेचना-
उपेंद्र सिंह की शिकायत पर अपहरण व लूट का प्रकरण दर्ज किया गया है, मामले की विवेचना की जा रही है। सोशल मीडिया में मैंने भी बच्चे की मां का वीडियो देखा है, लेकिन विवेचना पूर्ण होने के बाद ही सच्चाई की तह तक पहुंच पाएंगे।
अजय ङ्क्षसह, थाना प्रभारी मझौली

[MORE_ADVERTISE1]