स्लो इंटरनेट स्पीड होने पर आपको पत्रिका लाइट में शिफ्ट कर दिया गया है ।
नॉर्मल साइट पर जाने के लिए क्लिक करें ।

जिले में उपभोक्ताओं को अब पेयजल के लिए ढीली करनी होगा जेब, नगर निगम हर घर में लगाएगा वाटर मीटर

Anil Singh Kushwaha

Publish: Aug 18, 2019 18:20 PM | Updated: Aug 18, 2019 18:20 PM

Sidhi

नगर निगम जलापूर्ति शुरू करने के बाद मोरवा के हर घर में लगाएगा मीटर

सीधी/सिंगरौली. नगर निगम सीमा क्षेत्र के रहवासियों को अब पानी के लिए जेब ढीली करना होगा। कूड़ा उठाने के बदले शुल्क निर्धारित करने के बाद अब निगम अधिकारियों ने पेयजल के लिए भी शुल्क वसूलने का निर्णय लिया है। इसको लेकर निगम स्तर पर कवायद शुरू हो गई है। कलेक्टर भी वाटर मीटर लगाने को लेकर सख्त हैं। पेयजल पर शुल्क वसूलने की योजना बना रहे निगम अधिकारियों का कहना है कि स्वच्छता सर्वेक्षण के बावत निर्धारित मानकों में घर-घर वाटर मीटर लगाना अनिवार्य है। प्रत्येक घर से खर्च किए गए पानी के बदले एक निर्धारित शुल्क वसूल करना है।


घरों में वाटर मीटर लगाने की कवायद शुरू
हालांकि यह शुल्क बहुत कम माना जा रहा है, लेकिन तर्क है कि इससे पानी के अपव्यय पर लगाम लगेगा। घरों में वाटर मीटर लगाने की कवायद मोरवा जोन से ही शुरू होगी। जलापूर्ति की शुरुआत होने के बाद अब घरों में वाटर मीटर लगाने की कवायद शुरू की जाएगी। अधिकारियों के मुताबिक मोरवा जोन के १२ हजार घरों में पानी का कनेक्शन देने का लक्ष्य है। इसी अनुमान के आधार पर करीब 1हजार घरों में वाटर मीटर लगाया जाएगा।

निश्चित मात्रा में प्रति घर 150 रुपए शुल्क
वैसे तो निगम अधिकारियों की ओर से घरों से पेयजल के बदले कितना शुल्क लिया जाए, इसका निर्धारण करना अभी बाकी है, लेकिन अब तक की चर्चाओं पर गौर करें तो हर घर से पानी की एक निर्धारित मात्रा के बदले प्रति महीने 15ु0 लिया जाएगा। पानी की निर्धारित मात्रा को अभी तय किया जाना बाकी है।

प्रत्येक टंकी में लगेगा वाटर मीटर
निगम के मुख्य कार्यपालन यंत्री वीपी उपाध्याय के मुताबिक वाटर मीटर लगाने की शुरुआत उन टंकियों से होगी, जिनमें से पानी की सप्लाई घरों में किया जा रहा है। कलेक्टर के निर्देश के मुताबिक इससे यह भी मालूम हो सकेगा कि कितना पानी टंकियों में भरा जा रहा है और कितना घरों तक पहुंच रहा है।