स्लो इंटरनेट स्पीड होने पर आपको पत्रिका लाइट में शिफ्ट कर दिया गया है ।
नॉर्मल साइट पर जाने के लिए क्लिक करें ।

केंद्र सरकार पर सौतेला व्यवहार करने का आरोप लगाते हुए कांग्रेस ने किया प्रदर्शन

Om Prakash Pathak

Publish: Dec 05, 2019 16:21 PM | Updated: Dec 05, 2019 16:21 PM

Sidhi

केंद्र सरकार पर सौतेला व्यवहार करने का आरोप लगाते हुए कांग्रेस ने किया प्रदर्शन, आगामी नगर पालिका चुनाव के दावेदार भीड़ जुटाने व शक्ति प्रदर्शन मे रहे आगे, चार घंटे प्रदर्शन के बाद जिला प्रशासन को सौंपा गया ज्ञापन, एसडीएम को किया गया बेरंग वापस, कलेक्टर के आने पर सौपे ज्ञापन

सीधी। अब प्रदेश मे हमारी सरकार है, ज्ञापन लेने के लिए कलेक्टर को खुद आना पड़ेगा अन्यथा हम लोग ज्ञापन नहीं देंगे। यह वाक्या उस समय सुनने को मिला जब प्रदर्शन करने के बाद कांग्रेसी ज्ञापन सौंपने कलेक्ट्रेट गेट के पास पहुंच गए, अतत: मजबूर होकर कलेक्टर को कांग्रेसियो का ज्ञापन लेने के लिए अपने कक्ष से बाहर निकलना पड़ा। केंद्र सरकार पर कांग्रेस के द्वारा प्रदेश के सौतेला व्यवहार अपनाने सहित चार मुद्दे को लेकर कलेक्ट्रेट के पास वीथिका भवन मे पदर्शन किए। प्रदर्शन के बाद राष्ट्रपति के नाम संबोधित ज्ञापन कलेक्टर के हांथो मे सौपा गया।
केंद्र की भाजपा सरकार द्वारा मध्य प्रदेश के साथ किए जा रहे भेदभाव एवं सौतेले व्यवहार के विरोध में तथा बेरोजगारी एवं महंगाई से आम जनमानस को तत्काल राहत दिलाने की माग को लेकर मध्य प्रदेश कांग्रेस कमेटी के निर्देश पर जिला कांग्रेस कमेटी सीधी द्वारा आज कलेक्ट्रेट के समक्ष वीथिका भवन परिसर में धरना प्रदर्शन किया गया। कार्यक्रम का नेतृत्व मध्य प्रदेश कांग्रेस कमेटी के महामंत्री एवं सीधी जिले के प्रभारी डॉ. महेंद्र सिंह चौहान एवं आईसीसी के पर्यवेक्षक हरकेश त्रिपाठी व जिला कांग्रेस कमेटी के अध्यक्ष रूद्र प्रताप सिंह बाबा द्वारा किया गया। धरना प्रदर्शन को संबोधित करते हुए प्रदेश महामंत्री डॉ. महेंद्र सिंह चौहान ने कहा कि केंद्र की मोदी सरकार की गलत नीतियों एवं दिशा हीनता के कारण आज देश में मंदी एवं तालाबंदी के बाद अर्थव्यवस्था वेंटिलेटर पर पहुंच चुकी है। उन्होंने कहा कि मोदी का वादा था प्रत्येक परिवार को 15 लाख रुपए देना प्रतिवर्ष दो करोड़ लोगों को नौकरी देना लेकिन परिणाम यह हुआ कि किसी भी व्यक्ति को नई नौकरी मिली नहीं और जिनकी नौकरी पहले से लगी थी वह भी मोदी की नोटबंदी एवं गलत फैसलों के कारण चली गई। उन्होंने कहा कि बेरोजगारी पिछले 45 वर्षों का रिकॉर्ड तोड़ चुकी है। देश की अर्थव्यवस्था गंभीर आर्थिक संकट में है। रिजर्व बैंक का रिजर्व फंड भी मोदी सरकार जबरदस्ती रिजर्व बैंक के अधिकारियों पर दबाव बनाकर निकाल रही है। इसके बाद भी कोई सुधार नहीं हो रहा है। धरना प्रदर्शन को संबोधित करते हुए अखिल भारतीय कांग्रेस कमेटी के पर्यवेक्षक हरिकेश त्रिपाठी ने भाजपा पर लोकतंत्र की हत्या करने का आरोप लगाते हुए कहा कि लोकतंत्र की दुहाई देने वाले मोदी एवं अमित शाह महाराष्ट्र में रात के अंधेरे में लोकतंत्र का गला घोटने का काम किया है। उन्होंने कहा कि केंद्र सरकार की गलत आर्थिक नीतियों नोटबंदी एवं गलत ढंग से लगाई गई जीएसटी के कारण आज पूरे देश का व्यापारी कराह रहा है। उन्होंने सीधी जिले के समस्त कांग्रेसजनों से 14 दिसंबर को सोनिया गांधी के नेतृत्व में आयोजित भारत बचाओ महारैली में अधिक से अधिक संख्या में पहुंचने की अपील की।
एसडीएम को लौटाया गया वापस-
कांग्रेसियो का जत्था प्रदर्शन उपरांत ज्ञापन सौंपने के लिए कलेक्ट्रेट दूसरे गेट पर पहुंच गए। इस बीच ज्ञापन लेने के लिए उपखंड अधिकारी सुधीर कुमार बेक पहुंचे किंतु कांग्रेसियों ने ज्ञापन देने से इंकार करते हुए कलेक्टर को बुलाने की मांग किए, इसी बीच अपर कलेक्टर भी ज्ञापन लेने के लिए अपने चेंबर से निकले किंतु वे कांग्रेसियों के तेवर को देखकर आगे नहीं बड़े, तब मजबूर होकर कलेक्टर को ज्ञापन लेेने के लिए आना पड़ा।
धारा १४४ की नहीं किए परवाह-
कलेक्ट्रेट कैंपस के अंदर जिला दंडाधिकारी के द्वारा धारा १४४ लागू की गई है, जहां नारेवाजी अथवा जनसमूह के साथ प्रवेश करने पर प्रतिवंध लगाया गया है किंतु कांग्रेसियो के द्वारा कलेक्ट्रेट के प्रथम गेट को पार कर दूसरे गेट पर नारेवाजी करते हुए पहुंच गए, इस दौरान पुलिस बल के द्वारा भी उन्हें रोकने की हिम्मत नहीं जुटा पाया।
ये रहे उपस्थित-
इस अवसर प्रदेश महामंत्री ज्ञान सिंह, पूर्व जिलाध्यक्ष आनंद सिंह चौहान, चिंतामणि तिवारी, पूर्व नगरपालिका अध्यक्ष देवेंद्र सिंह मुन्नू, पूर्व विधायक पंजाब सिंह, जिला पंचायत सदस्य शेषमणि पनिका, विष्णु बहादुर सिंह, रंजना मिश्रा, विनोद मिश्रा, श्रीरामा मिश्रा, श्रीनिवास साकेत, अरविंद तिवारी, रमेश पटेल, मेनका प्रभात सिंह, चंद्रभान यादव, कमलेश्वर सिंह, सरदार अजीत सिंह, बृजेंद्र मणि अवधिया, हंस लाल यादव, परमजीत पांडेय, सुंदरलाल सिंह, हरिहर गोपाल मिश्रा, किसान कांग्रेस के जिला अध्यक्ष जगदीश मिश्रा, अंबिकेश पांडेय, दान बहादुर सिंह, आनंद सिंह शेर, भानु पांडेय, नीलम सिंह, रमा जयसवाल, विनोद वर्मा, संतोष जायसवाल सहित अन्य कांग्रेसी एवं आम जन उपस्थित रहे।

[MORE_ADVERTISE1]