स्लो इंटरनेट स्पीड होने पर आपको पत्रिका लाइट में शिफ्ट कर दिया गया है ।
नॉर्मल साइट पर जाने के लिए क्लिक करें ।

त्यौहारो में कैश संकट, जिले में एटीएम की हर तीसरी मशीन खराब

Om Prakash Pathak

Publish: Oct 20, 2019 19:24 PM | Updated: Oct 20, 2019 19:24 PM

Sidhi

त्यौहारो में कैश संकट, जिले में एटीएम की हर तीसरी मशीन खराब, शहर मे आधा सैकड़ा से ज्यादा एटीएम फिर भी लोगों को नहीं नसीब हो पा रही आवश्यक धनराशि, एटीएम खाली होने के कारण बैंको मे लाइन लगाने को मजबूर खाताधारक

सीधी। त्योहार पर खरीददारी के लिए आप घर से निकल रहें है तो एटीएम के भरोसे न रहें, क्योंकि जिस क्षेत्र मेें आप खरीददारी के लिए जा रहे हैं, वहां एटीएम शायद बंद मिले या आपको चालू एटीएम से भी रूपए न मिल सके, क्योंकि एटीएम बूथो पर इन दिनो नोटो की किल्लत मची हुई है, लोग कई एटीएम बूथ का चक्कर काटने के बाद भी रूपए नहीं मिल पा रहे हैं। कुछ एटीएम तकनीकी खराबी के कारण बंद हैं। इसके बावजूद बैंक अधिकारी दावा कर रहे हैं कि त्योहार के समय एटीएम में नोटों की किल्लत नहीं होने दी जाएगी। शनिवार को शहर के राष्ट्रीयकृत बैकों के एटीएम चेक किए, इनमें से कहीं तो नोट ही नहीं थे तो कहीं पर १००-२०० के नोट गायब थे।
उपभोक्ताओं का कहना है कि एटीएम मे २ हजार के नोट कम ही निकल रहे हैं। हालाकि यह बात बैंक अफसर भी कह रहे हैं कि ऊपर से ही दो हजार रूपए के कम नोट आ रहे हैं, जिन एटीएम बूथो पर रूपए भी मिल रहे हैं वहां सिर्फ ५०० रूपए का ही नोट नसीब हो पाता है। जिले मे करीब १५० एटीएम से अधिक एटीएम हैं, इनमे से ५० एटीएम शहर मे है। एटीएम के माध्यम से लोग रोजाना करोड़ रूपए निकाल रहे हैं, किंतु बूथ खाली होने के कारण लोगो को रूपए के लिए भटकना पड़ रहा है, या फिर चेक के बदले कर्ज या पेट्रोल पंपो पर जाकर स्वेप कराकर राशि प्राप्त करने को मजबूर हैं।
शहर मे ऐसी है एटीएम की हालत-
केस-१
शहर के मध्य अस्पताल तिराहा से सम्राट चौक के मध्य सुखेजा पेट्रोल पंप के पास स्टेट बैंक आफ इंडिया का एटीएम बूथ संचालित किया गया है, जो करीब तीन माह से खराब पड़ा हुआ है, जिसे सुधार के लिए बैंक प्रवंधक आगे नहीं आ रहा है, जिसके कारण लोगो को रूपए निकालने के लिए दूर दूसरे बूथों पर जाने के लिए मजबूर हैं।
केश-२
शहर के कलेक्ट्रेट के पास संचालित पंजाब नेशनल बैंक शाखा के बगल मे संचालित एटीएम बूथ का गेट ही महीनो से टूटा हुआ है, इसके साथ ही एचडीएफसी बैक का भी गेट का कांच ही टूट चुका है, इसके साथ ही शहर मे संचालित अन्य बैंको के एटीएम का बूथ जर्जर हालत मे हैं, जिसके कारण इन बूथो मे रूपए ही प्रवंधन के द्वारा नहीं डाला जा रहा है, जिससे ये एटीएम सिर्फ सोभा बढ़ाने के लिए संचालित किए गए हैं।
कोई भी समस्या हो तो ब्रांच मैनेजर को बताएं-
एलडीएम जीएल दोई के मुताविक कैश की कोई कमी नहीं है। जहां भी एटीएम में तकनीकी समस्या है, उसे दूर कराएंगे। त्योहार में कैश की किल्लत नहीं आने दी जाएगी। उपभोक्ता को कोई भी शिकायत है तो वे संबंधित ब्रांच मैनेजर को अवगत कराएं।
पत्रिका अलर्ट-
एटीएम हाउस में रखे रजिस्टर में शिकायत दर्ज करें-
यदि एटीएम से रूपए नहीं निकल रहे या कोई तकनीकी खामी है तो एटीएम हाउस में अंकित हेल्पलाइन नंबर पर भी शिकायत कर परेशानी बता सकते है। इसके अलावा संबंधित ब्रांच मैनेजर को आपत्ति दर्ज करा सकते हैं, यदि ब्रांच मैनेजर संतोषजनक जवाब न दे तो लीड बैंक मैनेजर के कार्यालय में शिकायत कर सकते है। इसके अलावा भी समस्या का निराकरण नहीं होने पर मुख्यालय के कोड नंबर पर अवगत करा सकते हैं।
समस्या नहीं आने देंगे-
जो एटीएम खराब है उसकी जानकारी एकत्रित कराई जाएगी, जिसे जल्द सुधार कराया जाएगा। त्योहार का सीजन चल रहा है इस दौरान मेरा पूरा प्रयास रहेगा कि उपभोक्ताओं को समस्याएं न आए।
जीएल दोई
एलडीएम, सीधी