स्लो इंटरनेट स्पीड होने पर आपको पत्रिका लाइट में शिफ्ट कर दिया गया है ।
नॉर्मल साइट पर जाने के लिए क्लिक करें ।

तालाब समझकर उसमें नहाने लगीं दो सगी बहनें, लेकिन फिर हुआ ऐसा कि मच गई चीख पुकार

Abhishek Gupta

Publish: Aug 11, 2019 21:27 PM | Updated: Aug 11, 2019 21:27 PM

Shravasti

किसी तरह आसपास के लोगों ने कड़ी मशक्कत के बाद दोनों को बाहर निकाला.

श्रावस्ती. भिनगा थाना क्षेत्र के भरथा बेलभरिया गांव के पास स्थित ईंट भट्ठे द्वारा खोदे गए गढ्ढे में डूबने से दो सगी बहनों की मौत हो गई। किसी तरह आसपास के लोगों ने कड़ी मशक्कत के बाद दोनों के शवों को बाहर निकाला। वहीं घटना के बाद से परिवार सहित गांव में मातम का माहौल है।

नहा रही थी बहनें-

श्रावस्ती जिले के भिनगा थाना क्षेत्र के भरथा बेलभरिया गांव निवासिनी दो सगी बहने राधा (10) और नेऊहा (12) अपनी दादी के साथ गांव के पास जंगल से लकड़ी लेने गई थी। जहां से लकड़ी लेकर वापस आते समय वह दोनों बहने गांव के पास एक गढ्ढे में भरे पानी में नहाने लगी। नहाते समय दोनों बहने गढ्ढे में डूबने लगी। दादी की चीख पुकार सुनकर आये आसपास के लोगों ने दोनों को बाहर निकाला। तबतक दोनों बहनों की मौत हो चुकी थी। वहीं घटना के बाद से परिवार में मातम का माहौल है।

Sisters death

जरूरत से ज्यादा की गई थी खुदाई-

दरअसल भरथा बेलभरिया गांव के पास स्थित राजू ब्रिक फील्ड द्वारा भट्ठे के पास ईंट की पथाई के लिए गढ्ढा खोदकर मिट्टी निकाली गई थी। गड्ढा मानक से कहीं ज्यादा गहरा खोद दिया गया था। और बरसात का पानी उसमें भर गया था। और उसी गढ्ढे में नहाते समय दोनों बहनों की मौत हो गई। बता दें कि जिले में स्थापित ईंट भट्ठों के मालिक ईंट पथाई के लिए मिट्टी निकालते समय मानक का ध्यान न रखकर जेसीबी से मानक के विपरीत मिट्टी की खुदाई कर लेते हैं। और हिम्मदार अधिकारी इस ओर ध्यान नही देते। वहीं इस संबंध में भिनगा थाना प्रभारी निरीक्षक दद्दन सिंह बताते हैं कि दो बहनों के गढ्ढे में डूबने की सूचना मिली है। आगे की कार्रवाई की जा रही है।