स्लो इंटरनेट स्पीड होने पर आपको पत्रिका लाइट में शिफ्ट कर दिया गया है ।
नॉर्मल साइट पर जाने के लिए क्लिक करें ।

ट्रिपल तलाक देकर पत्नी को बेटी के सामने जिंदा जलाया

Neeraj Patel

Publish: Aug 17, 2019 14:48 PM | Updated: Aug 17, 2019 16:24 PM

Shravasti

पति ने पहले मुम्बई से पत्नी को फोन से तलाक दिया, बाद में समझौता करने के बाद पति ने हलाला कराने की बात कह पत्नी को घर ले जाकर जिंदा जला दिया।

श्रावस्ती. देश में भले ही तीन तलाक को अपराध माना गया हो लेकिन तराई में सरकार के इस नए कानून का कोई खौफ नहीं है। इसका प्रमाण भिनगा कोतवाली क्षेत्र के ग्राम गड़रा में देखने को मिला। जहां पति ने पहले मुम्बई से पत्नी को फोन से तलाक दिया, बाद में पुलिस द्वारा समझौता करने के बाद पति ने हलाला कराने की बात कह पत्नी को अपने घर ले जाकर जिंदा जला दिया। जिससे उसकी मौत हो गई। सूचना पर पहुंची भिनगा कोतवाली पुलिस ने लाश का पंचनामा भराकर उसे पोस्टमार्टम के लिए भेज दिया है। घटना के बाद से ससुराली जन फरार हैं।

जानिए पूरा मामला क्या है

कोतवाली क्षेत्र के ग्राम गड़रा निवासी रमजान ने अपनी पुत्री सईदा (22) का विवाह करीब 6 वर्ष पूर्व गांव के ही नफीस के साथ किया था। जिससे उसके एक बेटी व एक बेटा है। कुछ दिन पूर्व नफीस कमाने के लिए मुम्बई चला गया था। जहां फोन पर किसी बात को लेकर नफीस का सईदा से विवाद को गया था। जिससे आवेश में आकर नफीस ने सईदा को फोन से ही तीन तलाक दे दिया। जिसे सईदा ने मानने से इनकार करते हुए पति के खिलाफ पुलिस से शिकायत की थी।

पुलिस के दबाव के बाद मुम्बई से बकरीद पर घर लौटा नफीस सईदा को अपने साथ ले जाने को राजी हो गया। शुक्रवार को जुमे की नमाज के बाद नफीस ने घर आकर सईदा पर हलाला कराने का दबाव बनाने लगा। सईदा के स्पष्ट इनकार कर देने के बाद छुब्ध नफीस ने परिवारी जनो के साथ मिलकर सईदा को मारपीट कर जिंदा जला दिया। जिससे उसकी मौत हो गई।

परिजन घर छोड़कर फरार

मां की पिटाई व उसे जिंदा जलाते देख बेटी फातिमा दहशत में है। जिसके द्वारा ननिहाल वालों व ग्रामीणों से मिलकर घटना की जानकारी दी गई। रमजान की सूचना पर पहुंची भिनगा कोतवाली पुलिस ने लाश का पंचनामा भराकर उसे पोस्टमार्टम के लिए भेज दिया है। वहीं घटना के बाद से आरोपी व उसके परिजन घर छोड़कर फरार हैं।