स्लो इंटरनेट स्पीड होने पर आपको पत्रिका लाइट में शिफ्ट कर दिया गया है ।
नॉर्मल साइट पर जाने के लिए क्लिक करें ।

घर से किशोरी को अपहरण कर ले गए और 20 हजार रुपए बेचा

Rakesh shukla

Publish: Sep 04, 2019 22:45 PM | Updated: Sep 04, 2019 22:45 PM

Shivpuri

उप्र के चरखारी में जबरन करा दी शादी, पति सहित 5 लोगों पर मामला दर्ज

शिवपुरी/दिनारा. जिले के दिनारा कस्बे से डेढ़ माह पूर्व एक 13 साल की किशोरी का चार लोगों ने अपहरण कर लिया और फिर उसे उप्र के महोबा के पास स्थित चरखारी गांव में20 हजार रुपए में बेचने के बाद किशोरी की जबरन एक युवक से शादी करा दी गई। इधर किशोरी के गुम होने पर परिजनों ने पुलिस में शिकायत दर्ज कराई और पुलिस ने अपहरण का मामला दर्ज कर पड़ताल की तो पुलिस ने किशोरी को चरखारी से बरामद कर लिया। साथ ही किशोरी व उसके परिजनों की शिकायत पर किशोरी से शादी करने वाले व उसका अपहरण कर उसे बेचने वालों पर मामला दर्ज कर उन्हें गिरफ्तार कर लिया।


जानकारी के मुताबिक दिनारा निवासी एक 13 वर्षीय किशोरी को डेढ़ माह पूर्व 7 जुलाई को उसके पड़ोस में रहने वाले राघवेन्द्र उर्फ किंग राजा परमार, कामता प्रजापति, राहुल प्रजापति व बहादुर योगी बहला-फुसलाकर अपने साथ उप्र के चरखारी गांव में ले गए। यहां पर इन चारों ने किशोरी का सौदा पुष्पेन्द्र यादव के परिजनों से 20 हजार रुपए कर दिया और बाद में किशोरी की शादी पुष्पेन्द्र यादव से करा दी। इधर किशोरी के गायब होने के बाद परिजनों ने पुलिस में शिकायत दर्ज कराई । पुलिस ने अज्ञात पर अपहरण का मामला दर्ज कर पड़ताल करते हुए जब किशोरी को चरखारी से बरामद किया तो किशोरी ने बताया कि उसको राघवेन्द्र, कामता, राहुल व एक अन्य युवक अपने साथ ले गए थे और फिर उसकी जबरन पुष्पेन्द्र से शादी करा दीे। किशोरी के मामा ने बताया कि जब वह किशोरी को लेने चरखारी पहुंचे तो वहां पर पुष्पेन्द्र के पिता ने बताया कि उन्होंने किशोरी को 20 हजार रुपए में राघवेन्द्र व अन्य आरोपियो से खरीदा है।


मामा ने यह भी बताया कि किशोरी का परिवार व वह खुद काफी गरीब परिवार के है। जब हम लोग पुलिस को लेकर चरखारी गए तो पुलिस ने हमसे वहां जाने के लिए साढ़े 5 हजार रूपए में गाड़ी कराई और फिर रास्तेभर उन्होने पुलिस का पूरा खर्चा भी उठाया। इसके बाद वह चरखारी से किशोरी को लेकर आए। साथ ही किशोरी के मामा ने यह भी बताया कि पुलिस ने अपने हिसाब से ही किशोरी के और हमारे बयान दर्ज करा लिए।


थाना प्रभारी उमेश उपाध्याय का कहना है कि हमने मामले में सभी आरोपियों को पकडक़र उनके खिलाफ अपहरण, दुष्कर्म व मानव तस्करी की धाराओं के तहत प्रकरण दर्ज कर गिरफ्तार कर लिया। आरोपियों को न्यायालय में पेश किया, जहां से उन्हें जेल भेज दिया गया।