स्लो इंटरनेट स्पीड होने पर आपको पत्रिका लाइट में शिफ्ट कर दिया गया है ।
नॉर्मल साइट पर जाने के लिए क्लिक करें ।

कैचमेंट एरिया में हैवी रैन : फिर खोले मड़ीखेड़ा के चार गेट

Rakesh shukla

Publish: Aug 25, 2019 15:38 PM | Updated: Aug 25, 2019 15:38 PM

Shivpuri

शिवपुरी शहर में दिनभर चलता रहा रिमझिम बारिश का दौर, मौसम हुआ सुहावना, रन्नौद, कोलारस में झमाझम

शिवपुरी/रन्नौद/बदरवास. शिवपुरी शहर में जहां शनिवार को रिमझिम बारिश का क्रम जारी रहा, वहीं अंचल में झमाझम हुई बारिश ने हालात बिगाड़ दिए। रन्नौद में हुई तेज बारिश से रिहायशी इलाकों में पानी भर गया। वहीं बदरवास में बारई नाला ओवर फ्लो हो जाने से आवागमन ठप हो गया। स्थिति यह बनी कि लोग अपनी जान जोखिम में डालकर नाला पार करते रहे। कोलारस क्षेत्र के अलावा सिंध नदी के केचमेंट एरिया में हुई तेज बारिश के चलते शनिवार को मड़ीखेड़ा डैम में एकाएक पानी तेजी से बढ़ा तो सुबह 11.30 बजे चार गेट खोल दिए गए।
शनिवार को शिवपुरी शहर में दिनभर रिमझिम बारिश का दौर चलता रहा। जिससे शहर का मौसम सुहावना रहा और नजारा कुछ ऐसा लगा मानो हिल स्टेशन पर घूम रहे हों। वहीं कोलारस विधानसभा क्षेत्र में हुई तेज बारिश से वहां का जन-जीवन अस्त-व्यस्त हो गया। सिंध नदी के केचमेंट एरिया में हुई तेज बारिश के चलते पानी का फ्लो इतना तेज आया कि मड़ीखेड़ा डैम प्रबंधन को सुबह 11.30 बजे चार गेट खोलने पड़े। शुरुआत में चार गेटों से जहां 7 हजार क्यूसेक पानी छोड़ा गया, वहीं दोपहर में पानी अधिक आ जाने से 12 हजार क्यूसेक पानी रिलीज किया गया। डैम प्रबंधन का कहना है कि सिंध के केचमेंट एरिया में हैवी रैन होने से पानी का फ्लो तेज आ रहा है।
बारई नाला उफना, जोखिम में जान डालकर निकले लोग
बदरवास में हुई झमाझम बारिश के चलते बारई नाला उफन गया, जिसके चलते इस रोड से निकलने वाला आवागमन लगभग दो घंटे ठप रहा तथा बाद में जब कुछ पानी कम हुआ तो लोग अपनी जान जोखिम में डालकर नाला पार करते रहे। बदरवास से चार किमी दूर ग्राम बारई में इस नाले के रपटे से लगभग एक सैकड़ा गांव के लोगों की आवाजाही है, जो नाला चढऩे पर रुके रहे। इस बीच जब पानी कुछ कम हुआ तो लोग अपने बीमार बच्चों को कंधे पर बिठाकर जान जोखिम में डालकर नाले का रपटा पार करते रहे। इस दौरान ग्राम आगरा में एक प्रसूता को लाने के लिए 108 एंबुलेंस पहुंची, लेकिन नाला चढऩे की वजह से वो प्रसूता के घर तक नहीं पहुंच सकी और इसी बीच बिजरौनी गांव से कॉल आने पर एंबुलेंंस वहां के लिए रवाना हो गई।
रन्नौद में मूसलाधार बारिश से बिगड़े हालात

रन्नौद क्षेत्र में शनिवार को लगभग तीन से चार घंटे तक हुई मूसलाधार बारिश के कारण नदी-नालों के साथ ही खेत भी लबालब हो गया। जिससे एक तरफ किसान खुश है, वहीं दूसरी ओर जल भराव के चलते लोगों की परेशानी भी बढ़ गई। रन्नौद के ग्राम सिंघारई के सरपंच करतार सिंह यादव ने बताया है कि शनिवार को सुबह से भारी बारिश से हमारे घरों में पानी भर गया और ऐसा नजारा बरसों बाद देखा है। अकाझिरी में बस स्टैंड से मुख्य बाजार तक की दुकानों में पानी भर गया। हरनाम कुशवाह ने बताया है पंचायत ने सीसी सडक़ का निर्माण तो करा दिया है लेकिन नाली नहीं बनाई, जिसके कारण बारिश का पानी दुकानों में भर गया। ईएनएच 75 का पानी निकासी नहीं होने से घरों में घुस गया। वहीं दूसरी ओर धंधेरा के माध्यमिक विद्यालय के ग्राऊंड के सामने बारिश का पानी नाली में नहीं जा रहा है, जिससे जलभराव की स्थिति बन गई।