स्लो इंटरनेट स्पीड होने पर आपको पत्रिका लाइट में शिफ्ट कर दिया गया है ।
नॉर्मल साइट पर जाने के लिए क्लिक करें ।

पिछोर में बोले शिवराज : सरकार ने बेटियों की शादी में दिए चेक, पर पैसा नहीं डाला खाते में

Rakesh shukla

Publish: Aug 28, 2019 06:00 AM | Updated: Aug 27, 2019 22:46 PM

Shivpuri

पिछोर के छत्रसाल स्टेडियम में पूर्व मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने किया कार्यक्रम को संबोधित। भाजपा नेताओं ने दी गिरफ्तारी

पिछोर/शिवपुरी. मध्यप्रदेश की कांग्रेस सरकार ने बेटियों की शादी में 51 हजार रुपए का चेक तो दे दिया, लेकिन उनके खाते में पैसा नहीं डाला। बेटियां वो चेक लेकर भटक रहीं हैं, लेकिन उन्हें पैसा अभी तक नहीं मिल सका। यह बात मंगलवार को पिछोर के छत्रसाल स्टेडियम में पूर्व मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने कही। शिवराज के अलावा भाजपा के राष्ट्रीय उपाध्यक्ष प्रभात झा, सांसद केपी यादव, कोलारस विधायक वीरेंद्र रघुवंशी, प्रीतम सिंह लोधी के अलावा अन्य कार्यकर्ताओं के साथ प्रतीकात्मक गिरफ्तारी दी। शिवराज सिंह ने चेतावनी दी, यदि सरकार का आमजन व भाजपा कार्यकर्ताओं के प्रति बदला लेने की प्रवृत्ति नहीं बदली, तो अगली बार हम भोपाल घेरेंंगे।
चौहान ने मंच से कहा कि सुन लो सीएम, गृहमंत्री व डीजीपी, एसपी, अब यदि झूठे मुकदमे लगे तो भोपाल घेरेंगे। फिर प्रतीकात्मक गिरफ्तारी नहीं देंगे, अब घेरकर छोड़ेंगे नहीं। प्रशासन में बैठे मित्रों, आप लोग कमलनाथ व केपी सिंह के गुलाम नहीं हो, अगर नौकरी करते हो, जनता की सेवा करो, यदि डरकर ऐसा भेदभाव जारी रहा, तो मैं पूरे मप्र को उठाकर खड़ा कर दूंगा, सडक़ों पर संघर्ष होगा।
शिवराज सिंह चौहान ने कहा, विधानसभा चुनाव के दौरान क्या वचन देकर आए थे। मैं सोनिया गांधी, राहुल गांधी और कमलनाथ से जवाब मांग रहा हूं, उन्होंने कहा था, यदि हमारी सरकार बनी तो 10 दिन में कर्जा माफ कर देंगे, यदि नहीं किया तो मुख्यमंत्री बदल देंगे। अब तो सरकार को 8 माह हो गए और इतने समय में तो 24 मुख्यमंत्री बदल जाने चाहिए थे। उन्होंने किसानों से पूछा कि क्या आपका कर्जा माफ हो गया, तो जवाब मिला नहीं। कांग्रेस ने वादा किया था कि बिजली बिल हाफ होंगे, लेकिन अब बिजली के तार में तो करंट नहीं आ रहा, लेकिन बिल देखकर लोगों को झटके लग रहे हैं। मैंने तो इन्वर्टर का धंधा पूरी तरह से बंद करवा दिया था, लेकिन कांग्रेस की सरकार बनते ही फिर यह धंधा चल निकला है। प्रदेश सरकार ने संबल योजना बंद कर दी तो लोग कह रहे हैं कि अब तो हमारी मरने की इच्छा नहीं हो रही, क्योंकि उसके बदले परिवार को कुछ मिलेगा ही नहीं। शिवराज सिंह ने एक शायरी भी कही- जब हम सिसकते हैं तो आसमां सिसक जाते हैं, जब हम मचलते हैं तो तूफान मचल जाते हैं, हमको बदलने की कोशिश न करो, जब हम बदलते हैं तो इतिहास बदल जाते हैं।
गुना-शिवपुरी सांसद केपी यादव ने कहा, अवैध उत्खनन किया जा रहा है, कर्मचारी-अधिकारियों को प्रताडि़त किया जा रहा है, उन पर दवाब बनाकर गलत काम कराए जा रहे हैं। कहते हैं कि दिया जब बुझता है तो फडफ़ड़ाता है, इन्होंने अत्याचार इसीलिए बढ़ा दिया, क्योंकि इनका अंत नजदीक है।
भाजपा के राष्ट्रीय उपाध्यक्ष प्रभात झा ने कहा, ज्योतिरादित्य सिंधिया से ज्यादा यहां के विधायक लोकप्रिय नहीं हैं, जब उनकी मिट्टी कुट सकती है तो इनकी भी कुट जाएगी। सरकारी कुर्सी पर भले ही कमलनाथ बैठे हों, लेकिन जनता के दिलों में शिवराज सिंह ही हैं।
पूर्व भाजपा नेता प्रीतम लोधी ने कहा, भाजपा कार्यकर्ताओं पर शराब के झूठे केस लगा रहा है इतना अत्याचार पिछोर में हो रहा है, उतना शायद कहीं हो। यदि हमारी नहीं सुनी तो मैं कार्यकर्ताओं के साथ दिल्ली तक पदयात्रा करूंगा। पूर्व विधायक नरेंद्र बिरथरे ने कहा, कभी कहते हैं प्रशासन काम नहीं कर रहा, कभी कहते हैं कि भ्रष्टाचार बढ़ गया। यदि आप भ्रष्टाचार की बात कर रहे हो, तो पिछोर में ही देख लो, पिछोर में अतिथि शिक्षकों को हटाकर कांग्रेस के गुंडों को भर लिया।