स्लो इंटरनेट स्पीड होने पर आपको पत्रिका लाइट में शिफ्ट कर दिया गया है ।
नॉर्मल साइट पर जाने के लिए क्लिक करें ।

कांग्रेस की सरकार और विधायक बीजेपी का, फिर भी हो रहा जमकर भ्रष्टाचार

Gaurav Sen

Publish: Sep 08, 2019 16:43 PM | Updated: Sep 08, 2019 16:43 PM

Shivpuri

corruption in shivpuri nagar palika for purchasing tree guard: यह हालात तब हैं, जबकि शिवपुरी नगरपालिका बड़े आर्थिक संकट से गुजर रही है। वहीं शहर के पोलोग्राउंड में पूर्व से लगे पेड़ों के नीचे ही नपा ने दूसरे पौधे लगा दिए, जिससे भविष्य में उनकी ग्रोथ हो पाएगी, इसमें संशय बना हुआ है।

शिवपुरी. नगरपालिका शिवपुरी में पौधों की सुरक्षा के लिए खरीदे गए ट्री-गार्ड बाजार से तीन गुना अधिक रेट में खरीदे गए हैं। जबकि नपा परिसर में स्थित वर्कशॉप में ही बहुत कम खर्चे में ट्री-गार्ड बनाए जा सकते हैं। जेम के माध्यम से की गई ट्री-गार्ड खरीदी में शासन की राशि को पलीता लगाया गया है।यह हालात तब हैं, जबकि शिवपुरी नगरपालिका बड़े आर्थिक संकट से गुजर रही है। वहीं शहर के पोलोग्राउंड में पूर्व से लगे पेड़ों के नीचे ही नपा ने दूसरे पौधे लगा दिए, जिससे भविष्य में उनकी ग्रोथ हो पाएगी, इसमें संशय बना हुआ है।

गौरतलब है कि बीते रविवार को नगरपालिका द्वारा शहर के पोलोग्राउंड में पौधरोपण किया गया। जिसमें जहां पेड़ नहीं थे, वहां तो पौधे लगाना उचित था, लेकिन पौधे व ट्री-गार्ड ठिकाने लगाने के फेर में ऐसी जगह पर भी दूसरे पौधे लगा दिए, जहां पूर्व से ही बड़े पेड़ लगे हुए हैं। ऐसे में नए पौधे न तो विकास कर पाएंगे और न ही वहां पर उनके लगाने का उद्देश्य पूरा होगा। पोलोग्राउंडसहित शहर में अन्य जगह पौधे लगाने के लिए नगरपालिका ने 500 ट्री-गार्ड भी खरीदे और प्रत्येक ट्री-गार्ड 2880 रुपए का खरीदा गया। जबकि बाजार में ऐसा ही ट्री-गार्ड 850 रुपए में बनाया जा रहा है। यानि नपा ने तीन गुना अधिक रेट में ट्री-गार्ड खरीद कर शासकीय धनराशि को पलीता लगा दिया गया। इसके अलावा जो पौधे लगाए गए, वे भी आगरा से मंगवाए गए, लेकिन उन पौधों के रेट अभी इसलिए पता नहीं चल सके हैं, क्योंकि उनकी कोई फाइल नपा में अभी मौजूद नहीं है।

VIDEO: सिंधिया समर्थक ने की खुद को आग लगाने की कोशिश, सिंधिया कार में बैठे उसे रोकते रहे

जेम के माध्यम से हुई खरीदी
नगरपालिका शिवपुरी ने ट्री-गार्ड की खरीदी जेम के माध्यम से की है। जेम एक ऑनलाइन टेंडर पोर्टल है, जो शासकीय विभागों में सामग्री उपलब्ध कराने के लिए संबंधित ठेकेदारों से ऑनलाइन टेंडर आमंत्रित करता है। जिसमें सामग्री की रेट डालने के बाद ऑनलाइन आने वाले टेंडरों को खोला जाता है, फिर सबसे कम रेट वाले ठेकेदार को वो काम दिया जाता है। शिवपुरी नगरपालिका में जो ट्री-गार्ड सप्लाई किए हैं, वो ग्वालियर के एक कुशवाह का टेंडर था। महत्वपूर्ण बात यह है कि शिवपुरी में ही ट्री-गार्ड बनाने वाले ठेकेदार जॉनी कुशवाह ने नपा में 1040 रुपए में एक ट्री-गार्ड बनाने का टेंडर डाला था। लेकिन उसे स्वीकार न करते हुए 2880 रुपए में खरीद लिया।

सवा दस लाख दिए अतिरिक्त
नपा ने 500 ट्री-गार्ड खरीदे, जिसमें 288 0 रुपए के हिसाब से उनका कुल भुगतान 14 लाख 40 हजार रुपए होता है। जबकि बाजार में इतने ही ट्री-गार्ड 4 लाख 25 हजार रुपए में खरीदे जा सकते थे। यानि 10 लाख 15 हजार रुपए अतिरिक्त राशि व्यय कर दी गई।

ऐसे हो रही है गड़बड़ी
ऑनलाइन खरीदी के लिए शुरू की गई जेम ऑनलाइन पोर्टल पर कोई ऐसा जिम्मेदार बैठा हुआ है, जो पूर्व से ही किसी खरीदी के लिए ठेकेदार को चिह्नित कर लेता है और फिर दूसरे ऑनलाइन टेंडर में कुछ न कुछ कमी बताकर उसे कैंसल कर दिया जाता है। फिर अपने चहेते ठेकेदार को ही अधिक रेट पर काम देकर अपनी हिस्सेदारी तय कर ली जाती है। इस मामले में भी कुछ ऐसा ही हुआ है।

ट्री-गार्ड किस फर्म से खरीदे हैं, यह तो प्रभारी सीएमओ ही जानें, उन्हें जेम के माध्यम से खरीदा गया। पौधे हमने आगरा से मंगवाए हैं, उनकी भी रेट हमें पता नहीं है। हम तो किसान हैं और पेड़ों के नीचे हमने जो पौधे लगाए हैं, उसमें 10 फीट के पौधे को कैसे 4 फीट का करना है, यह हमें पता है।

मुन्नालाल कुश्वाह, नपाध्यक्ष शिवपुरी

बाजार में जब हमने मालूम किया तो ऐसा ही एक ट्री-गार्ड 8 0 रुपए में बन रहा है, जबकि नपा में 2880 रुपए का एक ट्री-गार्ड खरीदा गया। यदि नपा की वर्कशॉप में यह ट्री-गार्ड बनवाए जाते तो महज 600 रुपए की लागत में एक ट्री-गार्ड बन जाता। अभी पौधों की खरीदी की फाइल तो मिली ही नहीं है।
अनिल शर्मा , उपाध्यक्ष नपा शिवपुरी