स्लो इंटरनेट स्पीड होने पर आपको पत्रिका लाइट में शिफ्ट कर दिया गया है ।
नॉर्मल साइट पर जाने के लिए क्लिक करें ।

मिठाई बनाने के लिए यहां तैयार किया जा रहा था ऐसा खोया, पुलिस के छापे में बरामद हुई यह सामग्री

Nitin Sharma

Publish: Oct 20, 2019 18:39 PM | Updated: Oct 20, 2019 18:39 PM

Shamli

Highlights

  • भट्टी लगाकर किया जा रहा था काम
  • सिंथेटिक मावा और पनीर बना रहे थे आरोपी
  • मौके से सिंथेटिक मावा बनाने की ये सामग्री भी पुलिस ने की बरामद

शामली। जिले में दिपावाली के त्योहार को लेकर बड़े पैमाने पर बनाए जाए रहे सिंथेटिक खोया की भट्टी पर पुलिस ने छापेमारी करते हुए भंडाफोड़ किया। पुलिस टीम ने मौके से भारी मात्रा में सिंथेटिक खोया व केमिकल बरामद किया है। दीपावली के त्यौहार के मद्देनजर जिले में अनेकों स्थानों पर सिंथेटिक खोया बनाने की भटिया चल रही है। जिसके खिलाफ पुलिस ने अभियान चलाया हुआ है।

अचानक अस्पताल पहुंची यह 'दो महिलाएं' तो कुर्सी छोड़कर खड़े हो गये लोग, स्टाफ में शुरू हुर्इ चर्चा- देखें वीडियो

मिठाई की बढ़ती डिमांड को बन रहा मिलावटी खोया

जानकारी के अनुसार, जैसे-जैसे दीपावली का त्यौहार नजदीक आ रहा है। वैसे-वैसे अवैध कारोबार करने वाले माफिया भी सक्रिय होते जा रहे हैं। शामली जिले में सिंथेटिक मावा पनीर बनाने वाले माफिया भी इसी क्रम में सक्रिय है। देर रात जनपद शामली की कैराना पुलिस को मुखबिर से सूचना मिली कि क्षेत्र के गांव भूरा में सिंथेटिक-मिलावटी मावा और पनीर बनाने की कई भट्टियों चल रही है। सूचना पर पुलिस टीम ने छापा मारा और मौके से करीब ढाई कुंटल सिंथेटिक मावा, 20 किलो मिल्क पाउडर, 50 किलो डालडा घी के साथ में भारी मात्रा में मावा बनाने का केमिकल भी बरामद किया है।

Reality Check: फिल्म सिटी में 3000 फीट नीचे है बजरंग बलि के गदे का मनका, जानिए क्या है सच्चाई

पुलिस को चकमा देकर फरार हुए आरोपी

वही इस अवैध कारोबार को करने वाले माफिया पुलिस को चकमा देकर मौके से भागने में कामयाब हो गये। फिलहाल पुलिस ने खाद्य सुरक्षा विभाग के अधिकारियों को बुलाकर के सिंथेटिक मावा और घी के सैंपल भरवा कर प्रयोगशाला में जांच के लिए भेज दिया है। साथ ही मौके से फरार हुए माफियाओं की पुलिस तलाश में जुट गई है।