स्लो इंटरनेट स्पीड होने पर आपको पत्रिका लाइट में शिफ्ट कर दिया गया है ।
नॉर्मल साइट पर जाने के लिए क्लिक करें ।

VIDEO: छेड़छाड़ के विरोध में मां-बेटी ने एसपी ऑफिस पर खाया सल्फास, एक पुलिस अधिकारी निलंबित

lokesh verma

Publish: Jul 25, 2019 12:12 PM | Updated: Jul 25, 2019 12:12 PM

Shamli

खबर के मुख्य बिंदु-

  • तीन बेटियों से छेड़छाड़ के आरोपियों पर पुलिस के कार्रवाई नहीं करने पर किया खुदकुशी का प्रयास
  • एसपी ने लापरवाही बरतने के आरोप में चौकी इंचार्ज को किया निलंबित
  • एएसपी राजेश श्रीवास्तव को सौंपी मामले की जांच

शामली. छेड़छाड़ और पुलिस पर लापरवाही का आरोप लगाते एक मां-बेटी ने एसपी ऑफिस में जहर खाकर खुदकुशी का प्रयास किया है। एसपी ऑफिस पर तैनात पुलिसकर्मियों ने दोनों को उपचार के लिए जिला अस्पताल में भर्ती कराया। जहां चिकित्सकों ने दोनों मेरठ मेडिकल काॅलेज रेफर कर दिया है। एसपी अजय कुमार ने मामले को गंभीरता से लेते हुए चौकी इंजार्ज को निलंबित कर दिया है। साथ ही मामले की जांच एएसपी राजेश श्रीवास्तव को सौंपी है।

यह भी पढ़ें- महिला से पहले पूछी जाति फिर मंदिर में घुसने पर लगाई रोक, दलित महिला ने किया हंगामा

दरअसल, मामला जनपद शामली के एसपी ऑफिस का है। जहां बुधवार को थाना झिंझाना क्षेत्र स्थित चौसाना चौकी के गांव खोडसमा निवासी एक महिला अपनी 17 वर्षीय बेटी के साथ एसपी कार्यालय पहुंची। कार्यालय में एसपी की गैरमौजूदगी में मां-बेटी ने शिकायत देते हुए आरोप लगाया कि उनका गांव के ही एक दबंग परिवार से विवाद है। पीड़ित महिला ने आरोप लगाया कि उसकी तीन बेटियां हैं, जिन्हें स्कूल आते-जाते समय आरोपी छेड़ते हैं और गाली-गलौज भी करते हैं। उन्होंने इसकी शिकायत कई बार चौसाना पुलिस चौकी में भी की है, आज तक कोई कार्रवाई नहीं हुई। शिकायत देते ही मां-बेटी ने एसपी कार्यालय परिसर में ही सल्फास खा लिया। यह देखते ही पुलिस प्रशासन में हड़कंप मच गया। पुलिसकर्मी तुरंत मां-बंटी को लेकर सीएचसी पहुंचे। जहां डाॅ. जगमोहन ने बताया कि दोनों के सल्फास निगलने की आशंका है। इसलिए उन्होंने दोनों मां-बेटी को मेरठ मेडिकल काॅलेज रेफर कर दिया।

यह भी पढ़ें- Ghaziabad: नगरायुक्‍त को डॉक्‍टर ने दिया विजिटिंग कार्ड तो लगा दिया 500 रुपये का जुर्माना, जानिए क्‍यों

सूचना मिलते ही एसपी अजय कुमार भी अस्पताल पहुंचे और पीड़ितों का हाल जाना। एसपी ने बताया कि मां और बेटी दोनों खतरे से बाहर हैं। फिर भी अच्छे उपचार के लिए दोनों को हायर सेंटर रेफर कर दिया गया है। बता दें कि पुलिस ने इस मामले में विपिन, अरविंद, नरेश और सुनील के खिलाफ केस दर्ज कर लिया है। वहीं एसपी अजय कुमार ने लापरवाही बरतने के आरोप में चौसाना चौकी इंचार्ज बीनू सिंह को निलंबित करते हुए एएसपी राजेश श्रीवास्तव को मामले की जांच सौंप दी है। पुलिस को घटनास्थल से सल्फास की दो शीशी भी मिली हैं। जांच के बाद इस मामले में जो भी दोषी होगी उसके खिलाफ कड़ी कार्रवाई की जाएगी।

UP News से जुड़ी Hindi News के अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें Uttar Pradesh Facebook पर Like करें, Follow करें Twitter पर ..