स्लो इंटरनेट स्पीड होने पर आपको पत्रिका लाइट में शिफ्ट कर दिया गया है ।
नॉर्मल साइट पर जाने के लिए क्लिक करें ।

डॉग स्क्वायड के साथ कोर्ट परिसर में पहुंचे अधिकारी तो मच गई खलबली, देखें वीडियो

Rahul Chauhan

Publish: Jan 19, 2020 16:31 PM | Updated: Jan 19, 2020 16:35 PM

Shamli

Highlights:

-जिला न्यायाधीश ने न्यायिक अधिकारियों तथा डीएम व एसपी के साथ कोर्ट परिसरों का निरीक्षण किया

-निरीक्षण के दौरान कोर्ट परिसरों की सुरक्षा व्यवस्था कड़ी करने के निर्देश दिए गए

-कैराना कचहरी के मुख्य गेट पर मेटल डिटेक्टर की मशीन लगाई गई है

शामली। पिछले दिनों बिजनौर की घटना पर संज्ञान लेते हुए शासन के निर्देश पर कोर्ट परिसर की सुरक्षा हेतु डॉग स्क्वायड टीम ने कोर्ट परिसरों का निरीक्षण किया। कोर्ट के आसपास घूम रहे संदिग्ध युवकों से पूछताछ भी की गई। दरअसल, पिछले दिनों जनपद बिजनौर कोर्ट के अंदर एक बदमाश की हत्या के बाद शासन के निर्देश पर कैराना स्थित न्यायालयों की सुरक्षा बढ़ा दी गई है।

यह भी पढ़ें : सीएम योगी यूपी के इस जिले का करेंगे दौरा, शहर को चकाचक करने में जुटे अधिकारी

इसी के तहत जिला न्यायाधीश शिवमणि शुक्ला ने न्यायिक अधिकारियों तथा डीएम अखिलेश सिंह व एसपी विनीत जयसवाल के साथ कोर्ट परिसरों का निरीक्षण किया। निरीक्षण के दौरान जनपद न्यायाधीश ने कोर्ट परिसरों की सुरक्षा व्यवस्था कड़ी करने के निर्देश दिए गए थे। कैराना कचहरी के मुख्य गेट पर मेटल डिटेक्टर की मशीन लगाई गई हैं।

[MORE_ADVERTISE1]
[MORE_ADVERTISE2]

वहीं दोपहर के समय सीओ प्रदीप सिंह द्वारा डॉग स्क्वायड की टीम के साथ कोर्ट परिसरों का बारीकी से निरीक्षण किया गया। इस दौरान डॉग के द्वारा संदिग्ध चीजों की भी जांच की गई। सीओ ने निरीक्षण के दौरान कोर्ट परिसरों के आसपास खड़े संदिग्ध युवकों से भी पूछताछ की। वहीं कोर्ट के बाहर बिना वजह खड़े तीन युवकों को पुलिस ने हिरासत में लिया गया। जिनसे पूछताछ करने के बाद हिदायत देकर छोड़ दिया गया है।

यह भी पढ़ें: गौरव चंदेल हत्याकांडः चिराग अग्रवाल से लूटी गई कार भी मसूरी में मिली, देखें वीडियो

सीओ प्रदीप सिंह ने बताया कि न्यायालयों की सुरक्षा को मद्देनजर रखते हुए डॉग स्क्वायड व उनके द्वारा न्यायालय परिसरों, संदिग्ध व्यक्तियों, वाहनों की चेकिंग की गई। इसका उद्देश्य न्यायालयों की सुरक्षा को प्राथमिकता देना और न्यायालय में जो अभियुक्त हैं या उनके परिजन हैं उनकी सुरक्षा के लिए कदम उठाए गये हैं।

[MORE_ADVERTISE3]