स्लो इंटरनेट स्पीड होने पर आपको पत्रिका लाइट में शिफ्ट कर दिया गया है ।
नॉर्मल साइट पर जाने के लिए क्लिक करें ।

AyodhyaVerdict: फैसले से ठीक पहले कैराना में हिंदू-मुस्लिम समुदाय के लोगों ने किया ये बड़ा ऐलान, देखें Video

lokesh verma

Publish: Nov 09, 2019 10:29 AM | Updated: Nov 09, 2019 10:29 AM

Shamli

Highlights
- अयोध्या फैसले को लेकर कैराना में बैठक
- बैठक में हिंदू-मुस्लिम समुदायों ने की शांति बनाए रखने की अपील
- बोले- कैराना में 1947 के बाद कोई सांप्रदायिक झगड़ा नहीं हुआ और न ही होने देंगे

शामली. कैराना में अयोध्या फैसले के बाद शांति व्यवस्था व आपसी सौहार्द को कायम रखने के उद्देश्य से पालिका चेयरमैन के आवास पर हिंदू-मुस्लिम समुदायों के लोगों ने शांति समिति की बैठक की। बैठक में सभी ने अयोध्या मामले में आने वाले सुप्रीम कोर्ट के फैसले का दिल से स्वागत करने का आह्वान किया।

यह भी पढ़ें- AyodhyaVerdict: फैसले से ठीक पहले चर्चित कैराना में पुलिस फोर्स का फ्लैग मार्च, देखें Video

बैठक के दौरान पालिका चेयरमैन हाजी अनवर हसन ने कहा कि कैराना हमेशा से हिंदू मुस्लिम एकता के लिए प्रसिद्ध रहा है। कैराना में अधिकतर हिंदू-मुस्लिमों के मकानों की दीवार मिली हुई हैं और सभी हिंदू-मुस्लिम हमेशा एक ही दीवार के नीचे बैठकर खाना खाते हैं और एक-दूसरे के त्यौहार का पूरा सम्मान करते हैं। उन्होंने कहा कि कैराना में 1947 के बाद कोई सांप्रदायिक झगड़ा या तनाव नहीं हुआ। उन्होंने मौजूद लोगों से आने वाले अयोध्या फैसले को लेकर शांति व्यवस्था बनाने की पुरजोर अपील की।

पालिका चेयरमैन ने कहा कि कैराना में न तो कभी सांप्रदायिक झगड़ा हुआ है, न होगा और न होने देंगे। शांति समिति की बैठक में पहुंचे कैराना कोतवाली प्रभारी यशपाल धामा ने कहा कि सुप्रीम कोर्ट में लगातार सुनवार्इ के बाद अब फैसला आने वाला है, जिसका सभी को दिल से स्वागत करना चाहिए। उन्होंने कहा कि सोशल मीडिया पर पुलिस प्रशासन द्वारा कड़ी निगरानी की जा रही है। सांप्रदायिक स्थानों को भी चिन्हित किया गया है। कोई भी व्यक्ति खुराफात करता पाया जाता है तो उसके खिलाफ कठोर कार्यवाही की जाएगी। सोशल मीडिया पर कोई भी बात सत्य नहीं आती हैं। 90 प्रतिशत लोग झूठ का सहारा लेकर लोगों को गुमराह करने का प्रयास करते हैं।

उन्होंने सभी लोगों से कहा कि अपने 15 से 25 वर्ष के युवकों को समझाएं कि वह किसी के बहकावे या सहानुभूति में न आएं। उन्होंने सुप्रीम कोर्ट के फैसले का दिल से स्वागत करने का आह्वान किया। इस दौरान हाजी शरीफ माली, हाजी जमशेद कुरेशी, चौधरी श्याम सिंह, हाजी ताहिर, राजेंद्र नेता, शगुन मित्तल एडवोकेट, रिजवान एडवोकेट, मतलूब, सभासद शाहिद, सलमान, मेहरबान अंसारी, राशिद केजरीवाल, नसीम, अनम हसन, विपुल जैन, असगर, चौधरी आलम, अनुदीप गोयल, राकेश सैनी, मुंशी अनवर, तौसीफ सिद्दीकी, अब्दुल कादिर आदि गणमान्य लोग मौजूद रहे।

यह भी पढ़ें- BIG NEWS: शौकिनों को नहीं मिलेगी किसी भी तरह की शराब, आदेश के बाद सभी तरह की शराब की दुकाने बंद

[MORE_ADVERTISE1]