स्लो इंटरनेट स्पीड होने पर आपको पत्रिका लाइट में शिफ्ट कर दिया गया है ।
नॉर्मल साइट पर जाने के लिए क्लिक करें ।

यूपी में हुए इस घोटाले के खिलाफ शुरू हुआ बड़ा आन्दोलन

Iftekhar Ahmed

Publish: Nov 17, 2019 14:31 PM | Updated: Nov 17, 2019 14:31 PM

Shamli

  • पीएफ घोटाले के विरोध में गरजे विधुतकर्मी
  • दोषियों के खिलाफ सरकार से की कार्रवाई की मांग

 

शामली. विद्युतकर्मियों ने पीएफ (भविष्य निधि) घोटाले के विरोध में धरना-प्रदर्शन शुरू कर दी है। विद्युतकर्मियों ने पीएफ घोटाले में दोषियों के खिलाफ कार्रवाई करते हुए कार्मिकों का हक दियाए जाने की मांग की है। उन्होंने चेतावनी दी है कि यदि भविष्य निधि में जमा धनराशि के भुगतान की लिखित गारंटी नहीं दी गई, तो कर्मचारी पूर्ण रूप से काम रोक देंगे। इसके साथ ही लखनऊ में प्रस्तावित धरना-प्रदर्शन में शामली से भी बड़ी संख्या में कर्मचारी भाग लेंगे।

शामली के खेड़ी करमू बिजली घर पर नारेबाजी कर विभागीय अधिकारियों और कर्मचारियों ने कहा है कि संयुक्त संघर्ष समिति के आवाहन पर प्रदर्शन चल रहा है। जीपीएफ सीपीएफ ट्रेस्ट के माध्यम से कर्मचारियों की भविष्य निधि का 4123 करोड़ रुपए गैर कानूनी ढंग से अनुसूचित वाणिज्यिक बैंक की सूची में न आने वाले डीएचएफएल में निवेश कर दिया गया। अब डीएचएफएल के डूबने के बाद पीएफ का पैसा न मिलने से विद्युतकर्मचारी काफी परेशान हैं। किसी को बेटी की शादी करनी है, तो किसी को मकान बनाने के लिए इसकी जरूरत है। वहीं, कुछ साथी जल्द ही सेवानिवृत्त होने वाले हैं। ऐसे में वे सभी लोग चिंतित हैं। इन लोगों की मांग है कि सरकार लिखित में गारंटी दे कि भविष्य निधि की रकम का भुगतान हर हाल में होगा। कर्मचारियों ने कहा कि मौखिक आश्वासन को स्वीकार नहीं किया जाएगा। धरने के चलते दफ्तरों में कामकाज नहीं हो सका।

[MORE_ADVERTISE1]