स्लो इंटरनेट स्पीड होने पर आपको पत्रिका लाइट में शिफ्ट कर दिया गया है ।
नॉर्मल साइट पर जाने के लिए क्लिक करें ।

आयोध्या पर फैसले को लेकर चप्पे-चप्पे पर पुलिस रही तैनात

Iftekhar Ahmed

Publish: Nov 09, 2019 20:05 PM | Updated: Nov 09, 2019 20:05 PM

Shamli

  • व्यापारियों ने दुकानें रखी बंद
  • इलाके में मजिस्ट्रेटों के साथ-साथ पुलिस बल घूमते रहे
  • पीएसी के 160 जवानों को भी जिले में किया तैनात

 

शामली. सुप्रीम कोर्ट के अयोध्या मुद्दे पर फैसले को लेकर पूरा शामली जिला अलर्ट पर रहा। इसके देखते हुए शहर की सड़कों पर कर्फ्यू की स्थिति बनी रही। पुलिस पूरी तरह सड़कों पर मुस्तैद रही। अति संवेदनशील क्षेत्रों को पुलिस ने कवर कर रखा था। सभी थाना क्षेत्रों में प्रशासन द्वारा बनाये गए जोनल तथा सै़क्टर मजिस्ट्रेटों के साथ-साथ पुलिस बल घूमता रहा। सुबह ही जिन व्यापारियों ने दुकान खोली थी, बाद में वह भी दुकान बंद कर घर लौट गए। सड़कों पर सिर्फ पुलिस की गाड़ी के सायरन की आवाज गूंज रही थी। अधिकारी भी वायरलेस सेट से सभी थाना क्षेत्र की लोकेशन लेते रहे।

यह भी पढ़ें: प्रियंका गांधी के खास इस मुस्लिम नेता ने राम मंदिर पर दिया ऐसा बयान, जिसकी किसी को नहीं थी उम्मीद

शामली में अयोध्या प्रकरण पर आए फैसले को देखते हुए शनिवार को सुरक्षा को लेकर अलर्ट घोषित कर दिया था। सभी थाना प्रभारी अपने-अपने क्षेत्रों में भारी पुलिस बल लेकर साथ धार्मिक स्थलों एवं होटल रेस्टोरेंट पर चेकिंग करते रहे। जनपद की सीमा पर भी विशेष तौर पर संदिग्धों पर निगाह रखने के लिए चेकिंग शुरू कर दी गई। पिछले कई दिनों से सभी जगह शोर मचा था कि अयोध्या प्रकरण में जल्द फैसला आने वाला है। रात में जैसे ही जानकारी मिली कि शनिवार को सुप्रीम कोर्ट इस मामले में फैसला सुनाएगा तो शुक्रवार को पुलिस और प्रासनिक अधिकारी सजग हो गए। जनपद में अलर्ट घोषित करते हुए सभी थाना प्रभारियों को पुलिस बल के साथ चेकिंग के आदेश जारी कर दिया। एसपी अजय कुमार ने बताया कि धार्मिक स्थलों रेस्टोरेंट्स धर्मशाला चेकिंग शुरू कर दी गई है। गत शुक्रवार देर शाम को मुरादाबाद पीएसी सेंटर से 200 जवानों को सुरक्षा के लिए शामली भेजा गया है। एसपी ने 160 पीएसी के जवानों को जनपद के सभी आठ थाना में सुरक्षा के लिए भेज दिया है। 40 जवानों को पुलिस लाइन में रिजर्व के तौर पर रखा गया है। जनपद के सभी थानों में लगे पब्लिक ऐड्रेस सिस्टम को भी अलर्ट कर दिया है। जनपद में 6 क्विक रिस्पांस टीम बनाई गई है जो सूचना मिलने के चंद मिनटों बाद किसी भी स्थान पर पहुंच सकती हैं।

यह भी पढ़ें: पीएम मोदी और मुख्यमंत्री योगी के सिर कलम करने की आई धमकी, जानिए कौन है वह

जनपद की राज्य एवं अंतर्जनपदीय सीमा पर चौकसी बढ़ा दी गई। वहा पर संदिग्ध लोगों एवं वाहनों पर सवार लोगों की चेकिंग की गई। विशेष तौर पर धार्मिक स्थलों पर निगरानी रखी गई। खुफिया तंत्र को अभी अलर्ट करते हुए मुखबिर तंत्र को भी सक्रिय रहा। सोशल मीडिया पर कोई गलत संदेश प्रसारित न कर दें, इसके लिए साइबर सेल को सक्रिय रहा। सभी व्हाट्सएप ग्रुप एवं फेसबुक पर निगरानी रखी गई। भ्रामक संदेश प्रसारित करने वालों पर सख्त कार्रवाई के आदेश दिए गए थे। इसके अलावा जिलाधिकारी अखिलेश सिंह द्वारा जनपद में शांति व्यवस्था बनाये रखने के लिए जनपद को 4 जोन व 58 सैक्टर में विभाजित किया गया था, जिसमें सेक्टर मजिस्टै्रटों ने दो पालियों में डयूटी दी। जिसमें 116 मजिस्टै्रटों की तैनाती की गई। इस मौके पर जिलाधिकारी ने जोनल मजिस्टै्रट व सेक्टर मजिस्टै्रट के रूप में लगाए गए। अधिकारियों को निर्देशित करते हुए निरंतर अपने-अपने क्षेत्र में भ्रमण करने के आदेश दिए थे। शहर सिटी में सीओ सिटी जितेन्द्र कुमार तथा एसडीएम सदर संदीप कुमार ने पुलिस फोर्स को साथ लेकर शहर के विभिन्न गलियों में फ्लेग मार्च निकाला। उन्होने विभिन्न स्थानों पर लोगों से संवाद करते हुए शांति व्यवस्था कायम करने का आहवान किया।

[MORE_ADVERTISE1]