स्लो इंटरनेट स्पीड होने पर आपको पत्रिका लाइट में शिफ्ट कर दिया गया है ।
नॉर्मल साइट पर जाने के लिए क्लिक करें ।

साहित्यकार चकोरी खरे व डॉ. प्रियंका त्रिपाठी का हुआ सम्मान

Brijesh Chandra Sirmour

Publish: Oct 22, 2019 07:10 AM | Updated: Oct 21, 2019 20:30 PM

Shahdol

काव्य गोष्ठी व शाम-ए-गजल कार्यक्रम का हुआ आयोजन

शहडोल. स्थानीय सनराइज स्कूल में जिले के साहित्यकारों की उपस्थिति में नलिनी तिवारी एवं केशव तिवारी द्वारा काव्य गोष्ठी एवं ’शाम-ए-गज़़ल कार्यक्रम का आयोजन किया गया। जिसमें जिले की वरिष्ठ कवयित्री चकोरी खरे के कहानी संग्रह सीप के मोती का विमोचन राम सखा नामदेव द्वारा किया गया। साथ ही साहित्य के क्षेत्र में विशेष योगदान के लिए चकोरी खरे का सम्मान नलिनी तिवारी द्वारा किया गया।इसके अलावा बिहार हिंदी साहित्य सम्मेलन में शताब्दी सम्मान से अलंकृत डॉ. प्रियंका त्रिपाठी को साहित्यिक उपलब्धियों के लिए सम्मानित किया गया। शाम-ए-गज़़ल में गज़ल गायक डॉ. संजीव द्विवेदी ने रौनक बढ़ाई। इनके साथ कृष्ण साहू तबले में और पंकज साहू गिटार में संगत की। संगीत और साहित्य के इस अद्भुत समागम में कविता और गज़़ल की रसधारा भी बही। जिसमें वरिष्ठ कवि कृष्ण किशोर मिश्र, शिवसेन जैन, राजेंद्र सिंह राज, चकोरी खरे, डॉ. प्रियंका त्रिपाठी एवं लता खरे के काव्य पाठ ने सभी को अभिभूत किया। कार्यक्रम में केशव तिवारी, आरडी मिश्रा, हरि साहू, ऋ त्विक मिश्र, शशि प्रभा सिंह, रविंद्र वैद्य, अनुसुइया उइके, मिथिलेश राय, रमाकांत निगम, अनंत तिवारी, एचसी खरे, अमिता निगम, कीर्तन द्विवेदी, अंकित मिश्रा, विजय, उपमा, मधु, कुमारी आस्था त्रिपाठी, रमेश एवं साहिल उपस्थित रहे। संचालन साहित्यकार गंगाधर ढोके द्वारा किया गया।