स्लो इंटरनेट स्पीड होने पर आपको पत्रिका लाइट में शिफ्ट कर दिया गया है ।
नॉर्मल साइट पर जाने के लिए क्लिक करें ।

एक-दो कमरों में संचालित होने वाले प्रायमरी स्कूलों को मिडिल स्कूल में शिफ्ट करने की हो रही तैयारी

Brijesh Chandra Sirmour

Publish: Nov 20, 2019 07:05 AM | Updated: Nov 19, 2019 21:54 PM

Shahdol

ब्यौहारी ब्लाक के 106 मिडिल स्कूलों में 41 की हुई मैपिंग, स्कूल शिक्षा विभाग करा रहा जियोग्राफि कल इंफ ारमेशन सिस्टम के तहत मैपिंग

शहडोल. अब ग्रामीण क्षेत्रों में शासकीय माध्यमिक विद्यालयों के एक किलोमीटर के अंतर्गत आने वाले प्राथमिक विद्यालयों को माध्यमिक विद्यालयों में स्कूल शिक्षा विभाग द्वारा शिफ्ट किया जाएगा। गौरतलब है कि जिले के ब्यौहारी ब्लाक के अंतर्गत संचालित सरकारी प्राथमिक और माध्यमिक विद्यालयों में यह सिस्टम लागू होगा, क्योंकि ब्यौहारी ब्लाक में ही स्कूल शिक्षा विभाग के तहत विद्यालयों का संचालन हो रहा है। शेष जयङ्क्षसहनगर, बुढ़ार, गोहपारू व सोहागपुर ब्लाक के सरकारी स्कूलों का संचालन आदिम जाति कल्याण विभाग के अधीन हो रहा है। बताया गया है ब्यौहारी ब्लाक में भी कई ऐसे प्राइमरी स्कूल चल रहे हैं, जिसमें एक या दो कमरे हैं। साथ ही इन स्कूलों में बच्चों की संख्या भी कम है। कई स्कूल एक कमरे में पहली से पांचवीं तक चल रहे हैं। जिनमें साल-दर-साल बच्चों की संख्या कम हो रही है। ऐसे में विभाग प्राइमरी स्कूलों को पास के मिडिल स्कूलों में शिफ्ट करेगा। इसके लिए अभी जियोग्राफिकल इंफार्मेशन सिस्टम यानि जीआईएस मैपिंग कराकर शासकीय मिडिल स्कूलों से एक किलोमीटर की परिधि में आने वाले स्कूलों को चिन्हित कराया जा रहा है। साथ ही बच्चों की संख्या भी मांगी गई है।
फैक्ट फाइल
जिले में कुल प्रायमरी स्कूल 1627
जिले में कुल मिडिल स्कूल 498
ब्यौहारी में कुल प्रायमरी स्कूल 341
ब्यौहारी में कुल मिडिल स्कूल 106
अब तक जीआईएस मैपिंग 41

30 अक्टूबर तक देनी थी जानकारी
बताया गया है कि माध्यमिक विद्यालयों के एक किलोमीटर की परिधि वाले प्राथमिक विद्यालयों की मैपिंग जनशिक्षकों द्वारा कराई जा रही है और स्कूलों की पूरी जानकारी 30 अक्टूबर तक देनी थी। सूत्रों के मुताबित 30 अक्टूबर तक ब्यौहारी ब्लाक के कुल 106 माध्यमिक विद्यालयों में महज 41 विद्यालयों में जियोग्राफिकल इंफार्मेशन सिस्टम यानि जीआईएस मैपिंग हो पाई है। शेष विद्यालयों में अभी मैपिंग का कार्य अधूरा पड़ा है।
यह दिए गए थे निर्देश
बताया गया है कि प्राइमरी व मिडिल स्कूलों की मैपिंग के लिए राज्य शिक्षा केंद्र द्वारा कुछ निर्देश जारी किए गए थे। जीआईएस मैपिंग के अनुसार इन प्राइमरी स्कूलों की एरियल डिस्टेंस निकटतम मिडिल स्कूलों का सडक़ मार्ग से वास्तविक दूरी, नामांकन, उपलब्ध शिक्षण कक्ष, शौचालय एवं इन स्कूलों की बसाहटों से दूरी का सत्यापन किया जाना था।

इनका कहना है
जिले के ब्यौहारी ब्लाक के माध्यमिक विद्यालयों का जियोग्राफिकल इंफार्मेशन सिस्टम के तहत मैपिंग कार्य 30 अक्टूबर तक किया जाना था। अभी तक 106 माध्यमिक विद्यालयों मेें मात्र 41 विद्यालयों की मैपिंग हो पाई है। शेष विद्यालयों में मैपिंग का कार्य पूरा होने बाद ही सही स्थिति स्पष्ट हो पाएगी।
जेपी मिश्रा, सहायक परियोजना समन्वयक, जिला शिक्षा केन्द्र, शहडोल

[MORE_ADVERTISE1]