स्लो इंटरनेट स्पीड होने पर आपको पत्रिका लाइट में शिफ्ट कर दिया गया है ।
नॉर्मल साइट पर जाने के लिए क्लिक करें ।

video story: मेडिकल कॉलेज के डॉक्टरों की ड्यूटी खत्म होने के बाद बंद हो गई ओपीडी

Shubham Singh

Publish: Dec 10, 2019 21:22 PM | Updated: Dec 10, 2019 21:22 PM

Shahdol

रिपोर्ट दिखाने और इलाज के लिए भटकत रहे मरीज

शहडोल। जिला अस्पताल में ओपीडी का समय सुबह 9 बजे से लेकर शाम 4 बजे तक का है। इसमें दोपहर 1.30 बजे से 2.15 तक लंच का समय है। इस समय को छोड़कर बाकी समय ओपीडी में डॉक्टरों को मौजूद रहना चाहिए यानि ओपीडी समय में मरीजों को इलाज मिलना चाहिए लेकिन जिला अस्पताल में ऐसा नहीं हो रहा है। अस्पताल में दोपहर 2 बजे के बाद मेडिकल डॉक्टरों की ड्यूटी जैसे ही खत्म हो रही है, उसके बाद ओपीडी बंद हो जाता है। इस दौरान दोपहर 2 बजे के बाद मरीज अपना रिपोर्ट दिखाने और इलाज कराने के लिए डॉक्टरों को खोजकर भटकते रहते हैं।
समय 2.45 बजे
केस एक
ओपीडी से डॉक्टर नदारत है। सभी डॉक्टरों के बोर्ड लगे हुए हैं लेकिन कोई भी डॉक्टर मौजूद नहीं है। इस दौरान नवलपुर निवासी बाबूलाल बैगा ओपीडी पहुंचे। डॉक्टरों को खोजा तो कोई ओपीडी में नहीं मिला। इससे निराश बाबूलाल ने बताया कि सुबह 10 बजे जिला अस्पताल में अपनी ढाई साल की बीमार बच्ची को लेकर डॉक्टर को दिखाने आए थे। डॉक्टर ने देखने के बाद एक्स-रे और ब्लड जांच के लिए लिखा और दोपहर दो बजे के बाद रिपोर्ट देखने की बात कही। अब रिपोर्ट लेकर आए लेकिन कोई डॉक्टर नहीं है।
केस दो
चुहरी रसमोहनी निवासी शकुंतला मिश्रा ने बताया कि वे बीमार चल रही हैं। इसको लेकर डॉक्टर ने सुबह के समय देखने के बाद ब्लड जांच के लिए लिखते हुए रिपोर्ट दोपहर दो बजे देखने की बात कही थी। लेकिन यहां आए तो कोई डॉक्टर नहीं मिला। मेरा घर 70 किमी दूर है। अब कल फिर से इतने दूर से आना पड़ेगा। नई पर्ची बनवानी पड़ेगी तब जाकर डॉक्टर देखेंगे।
केस तीन
पांडवनगर निवासी रमा शर्मा ने बताया कि पूरे शरीर में जबरदस्त खुजली हो रही है। दो घंटे से डॉक्टर को खोज रहे हैं लेकिन कोई डॉक्टर नहीं है। प्राइवेट में जाने पर चार से पांच सौ रुपया लग जाएगा। शहडोल छात्रावास की महिमा राज सिंह ने बताया कि चर्म रोग डॉक्टर को दिखाना है लेकिन ओपीडी में कोई डॉक्टर ही नहीं है। जयसिंहनगर की मोहनी निवासी मीना साहू ने बताया कि चार साल का बेटा बहुत बीमार है। इसको दिखाने के लिए डॉक्टर को खोज रही हूं लेकिन डॉक्टर ओपीडी में नहीं है। ऐसे में कहां दिखाने जाऊं समझ में नहीं आ रहा है। इसी प्रकार दर्जनों मरीज डॉक्टरों को खोजकर परेशान होकर वापस लौट गए।

[MORE_ADVERTISE1]