स्लो इंटरनेट स्पीड होने पर आपको पत्रिका लाइट में शिफ्ट कर दिया गया है ।
नॉर्मल साइट पर जाने के लिए क्लिक करें ।

एक लाख बिजली उपभोक्ताओं को नोटिस, अब दिखाना होगा श्रमिक का प्रमाण पत्र

Shubham Singh

Publish: Dec 07, 2019 20:35 PM | Updated: Dec 07, 2019 20:35 PM

Shahdol

गड़बड़ी सामने आने के बाद बिजली कंपनी सख्त, नोटिस भेजकर मांगा जा रहा है प्रमाण

अमरेश सिंह
शहडोल। बिजली कंपनी संबल योजना के तहत पूर्व में हुए फर्जीवाड़े की जांच कर रही है। योजना का लाभ ले चुके लोगों को श्रमिक होने का प्रमाण दिखाना होगा। इसके लिए बिजली विभाग से जुड़े अधिकारियों ने संबल के तहत लाभ ले चुके जिले के 1 लाख 3 हजार उपभोक्ताओं को नोटिस जारी कर रही है। अधिकारियों ने नोटिस में उपभोक्ताओं को प्रमाण पत्र जमा करने के लिए कहा गया है। समय- सीमा के भीतर प्रमाण पत्र न प्रस्तुत करने पर विभाग कड़े कदम उठाने की तैयारी में है।

कनेक्शन लेने वाले लोगों में हड़कंप की स्थिति बनी हुई है
नोटिस की कार्रवाई के बाद अब रसूखदारों और हेरफेर करते हुए योजना के तहत कनेक्शन लेने वाले लोगों में हड़कंप की स्थिति बनी हुई है। अधिकारियों के अनुसार, इस योजना में मिल रही गड़बड़ी की शिकायतों के बाद नोटिस भेजकर प्रमाण पत्र मांगने का निर्णय लिया है। जिले में वर्तमान में 2 लाख 8 हजार 656 बिजली उपभोक्ता हैं।


योजना में इस तरह उजागर हुई है गड़बड़ी
संबल योजना के तहत पूर्व में काफी गड़बड़ी सामने आई है। जिले में बड़ी संख्या में फर्जी श्रमिक सामने आए हैं। श्रम विभाग की जांच में भी यह बात सामने आई है। संबल योजना का लाभ लेने के लिए पैसे वाले लोग भी फर्जी श्रमिकों का कार्ड बनवा लिए थे। फर्जी श्रमिकों के सामने आने के बाद अब बिजली कंपनी ऐसे लोगों की जांच कर रही है। संबल योजना के तहत पूर्व में बीपीएल परिवारों एवं असंगठित क्षेत्र के मजदूरों को २०० रुपए प्रति माह बिजली बिल दिया जा रहा था। इसके लिए उन्हें १०० यूनिट या उससे कम बिजली खर्च करना था। लेकिन संबल के तहत कनेक्शन लेने के बाद कई घरों में एसी, कूलर, फ्रिट और बड़े इलेक्ट्रानिक्स से जुड़े उपकरण चलाए जा रहे थे। साथ ही कई जगहों में रसूखदारों ने कनेक्शन ले रखा था।


उपभोक्ताओं को एक माह की समय-सीमा
संबल योजना के तहत बिजली का लाभ ले चुके 1 लाख 3 हजार उपभोक्ताओं को करीब पांच दिन पहले से नोटिस जारी किया जा रहा है। उन्हें अपने प्रमाण पत्र दिखाने के लिए ३० दिन की समय-सीमा दी गई है। इसमें अगर किसी का बीपीएल कार्ड है तो दिखाना होगा। अगर परिवार में बेटा, बहू मजदूर हैं तो पिता होने या ससुर होने का प्रमाण पत्र जमा करना होगा। गौरतलब है कि संबल योजना में अगर परिवार के किसी सदस्य का नाम असंगठित क्षेत्र के मजदूरी में नाम दर्ज था तो उसे इस योजना का लाभ मिलना था।

[MORE_ADVERTISE1]