स्लो इंटरनेट स्पीड होने पर आपको पत्रिका लाइट में शिफ्ट कर दिया गया है ।
नॉर्मल साइट पर जाने के लिए क्लिक करें ।

राजस्व प्रकरणों में अब दर्ज करना होगा पक्षकारों के मोबाइल नंबर

Lav Kush Tiwari

Publish: Nov 18, 2019 08:00 AM | Updated: Nov 17, 2019 20:32 PM

Shahdol

राजस्व प्रकरणों के दाखिल रिकार्ड के लिए चलाया जाएगा अभियान

शहडोल. कमिश्नर आरबी प्रजापति ने राजस्व न्यायालय के सभी पीठासीन को निर्देश दिए हंै कि वे राजस्व प्रकरणों के दाखिल रिकार्ड के लिए संभाग में अभियान चलाएं। कमिश्नर ने कहा कि राजस्व प्रकरणों की दाखिल रिकार्ड की पेजींग भी होनी चाहिए तथा दाखिल रिकार्ड के लिए कितने प्रकरण शेष हैं और कितने प्रकरणों में दाखिल रिकार्ड किया गया है, इसकी भी समुचित जानकारी पीठासीन अधिकारियों के पास होना चाहिए। कमिश्नर ने निर्देश दिए कि राजस्व न्यायालयों के राजस्व प्रकरणों में अधिवक्ताओं सहित पक्षकारों के नम्बर भी अंकित होना चाहिए ताकि पक्षकारों को राजस्व न्यायालय में चल रहे प्रकरण के संबंध में समय-समय पर जानकारी मिलती रहें। कमिश्नर ने उक्त निर्देश रविवार को कमिश्नर कार्यालय सभागार में आयोजित राजस्व न्यायालयों के प्रवाचकों एवं कम्प्यूटर ऑपरेटरों के प्रशिक्षण कार्यक्रम में दी। कमिश्नर ने कहा कि सभी प्रवाचकों को राजस्व पुस्तक परिपक्त के नियमों का समुचित ज्ञान होना चाहिए। कमिश्नर ने यह भी निर्देश दिए कि राजस्व प्रकरणों की नस्तियों का रखरखाव व्यवस्थित ढ़ंग से होना चाहिए तथा नास्तियों की पेजींग होनी चाहिए। कमिश्नर ने यह भी निर्देश दिए कि सभी राजस्व न्यायालयों के पीठासीन अधिकारी राजस्व न्यायालयों के समक्ष वात सूची अनिवार्यत: चस्ता करें तथा वात सूची एवं राजस्व प्रकरण दायरा पंजी की हॉर्ड सूची बनाएं। कमिश्नर ने प्राकृतिक आपदा के प्रकरणों में समय पर कार्यवाही करने के निर्देश प्रवाचकों को दिए। कमिश्नर ने प्रवाचकों को निर्देशित करते हुए कहा कि सभी प्रवाचकों को लैंड रेवेन्यू कोर्ट के नियमों का ज्ञान होना चाहिए और आरबीसी का समुचित ज्ञान होना चाहिए तथा आरसीएमएस के शत प्रतिशत प्रकरण दर्ज होना चाहिए। बैठक में कमिष्नर ने दाण्डि़त प्रकरण, अतिक्रमण पंजी की प्रक्र्रिया पर भी चर्चा की। प्रशिक्षण में उपायुक्त राजस्व दिलीप पाण्डेय एवं संभाग के राजस्व न्यायालयों के प्रवाचक एवं कंम्प्यूटर ऑपरेटर सहित उपस्थित रहे।

[MORE_ADVERTISE1]