स्लो इंटरनेट स्पीड होने पर आपको पत्रिका लाइट में शिफ्ट कर दिया गया है ।
नॉर्मल साइट पर जाने के लिए क्लिक करें ।

बस की टक्कर से छात्रा की मौत, स्कूल के पिकनिक से वापस लौट रही थी छात्रा

Shubham Singh

Publish: Jan 20, 2020 21:13 PM | Updated: Jan 20, 2020 21:13 PM

Shahdol

शराब के नशे में था ड्राइवर

शहडोल। शिक्षकों की लापरवाही के चलते एक मासूम छात्र की जान चली गई है। घटना के संबंध में बताया गया कि पपौंध थाना क्षेत्र अंतर्गत हॉयर सेकेण्ड्री निपनिया के कक्षा 9 वीं 10, 11, 12 के लगभग 60-65 बच्चों को रविवार को निपनिया से लगभग 110 किलोमीटर दूर सीधी जिले के परसली रिसोर्ट में प्राइवेट बस द्वारा पिकनिक ले जाया गया था, बताया जाता है कि बस ड्राइवर शराब के नशे में था और शिक्षक ड्राइवर के भरोसे बच्चों को छोड़ शिक्षक अपने-अपने घर चले गये थे। रात्रि 8 बजे के आस-पास संजना शुक्ला पिता शांतकर शुक्ला निवासी सकंदी बस की चपेट में आ गई, जिससे उसे गंभीर चोटे आई, इलाज के लिए निपनिया अस्पताल लाया गया, डाक्टर की अनुपस्थित पर सिविल अस्पताल ब्यौहारी लाया गया जहा उपचार के दौरान ही छात्रा ने दम तोड़ दिया।

छात्रा को छोड़कर चली गई बस
हायर सेकेण्ड्री स्कूल निपनिया के कक्षा-12 में पढने बाली छात्रा संजना शुक्ला पिता शांतकार शुक्ला उम्र-18 वर्ष निवासी ग्राम सकंदी स्कूल प्रबंधन के द्वारा स्कूली छात्रों को शैक्षणिक भ्रमण हेतु सीधी जिले के परसिली रेस्टहाउस ले जाया गया था। जिनकी वापसी उसी दिन शांम को हुई। जिस बस से छात्रों को भ्रमण हेतु ले जाया गया था। लौटकर रात्रि लगभग 8 बजे छात्रा संजना को उसके घर से लगभग दो किलोमीटर पहले सकंदी बिजयसोता तिराहे पर बस से उतार दिया। उतारने के बाद बस ड्राइवर ने बस को तेजी से पीछे की तरफ बैक किया अंधेरा होने के कारण उक्त छात्रा बस की चपेट मे आकर गंभीर रुप से घायल हो गई और बिना देखे बस बापस चली गई। बस की ठोकर से छात्रा को गंभीर चोट लगी, जिससे वह गिर कर वही पर तड़पती पड़ी रही।

एफआईआर की मांग-
रात अधिक होने और पुत्री के वापस नहीं लौटने से परेशान पिता शांतकर शुक्ला ने स्कूल प्राचार्य राधिका तिवारी को पुत्री का हालचाल जानने फोन भी लगाया लेकिन लापरवाह प्राचार्य ने अभिभावक का फोन उठाना मुनासिब नही समझा। रात के समय सड़क पर तड़पती छात्रा को देखकर कुछ लोगों ने उसके घर में सूचना दी तब घर के लोग घटनास्थल पर पहुंच छात्रा को गंभीर हालत में ब्यौहारी सिविल हॉस्पिटल लाए। जहां कुछ ही समय के बाद छात्रा की मृत्यु हो गई। चिकित्सकों ने पीएम कर लाश परिजनों को सौंप दिया। छात्रा की मृत्यु की खबर सुनकर लोगों में स्कूल प्रबंधन के खिलाफ आक्रोश दिखाई दे रहा है। परिजनों ने स्कूल प्रबंधन के खिलाफ एफआईआर की मांग की है।

[MORE_ADVERTISE1]