स्लो इंटरनेट स्पीड होने पर आपको पत्रिका लाइट में शिफ्ट कर दिया गया है ।
नॉर्मल साइट पर जाने के लिए क्लिक करें ।

जंगल के बीच महिला प्रोफेसर की बिगड़ी कार, अंधेरे के साथ बढ़ रहा था डर, पुलिस का मिला कुछ ऐसा रिस्पांस

Shubham Singh

Publish: Dec 12, 2019 23:14 PM | Updated: Dec 12, 2019 23:14 PM

Shahdol

हैदराबाद मामले (hyderabad case ) के बाद महिला सुरक्षा को लेकर पुलिस अब और ज्यादा गंभीर हो गई है। मुसीबत में घिरी एक महिला प्रोफेसर और बच्चे को पुलिस ने सुरक्षित तरीके से शहर तक पहुंचाया। रात के वक्त कार में खराबी आ गई थी। अंधेरा होने के साथ डर भी बढ़ रहा था। सूचना पर डॉयल 100 की टीम पहुंची और एक घंटे से ज्यादा समय तक पहरेदारी की।

शहडोल. हैदराबाद मामले के बाद महिला सुरक्षा को लेकर पुलिस अब और ज्यादा गंभीर हो गई है। शहर से सटे रोहनिया गांव में मुसीबत में घिरी एक महिला प्रोफेसर और बच्चे को पुलिस ने सुरक्षित तरीके से शहर तक पहुंचाया। महिला प्रोफेसर को अमरकंटक यूनिवर्सिटी जाना था। रोहनिया गांव के नजदीक रात के वक्त कार में खराबी आ गई थी। अंधेरा होने के साथ डर भी बढ़ रहा था। सूचना पर डॉयल 100 की टीम पहुंची और एक घंटे से ज्यादा समय तक पहरेदारी की। जब तक कार सुधर नहीं गई, तब तक डॉयल 100 की टीम मौजूद रही। इतना ही नहीं महिला प्रोफेसर की कार को एस्कोर्ट करते हुए 10 किमी शहडोल तक डॉयल 100 टीम लेकर पहुंची। दरअसल अमरकंटक नेशनल ट्राइबल यूनिवर्सिटी में पदस्थ रेणु सिंह बच्चे के साथ अमरकंटक जा रहीं थीं। इसी दौरान रोहनिया गांव के नजदीक कार के आगे और पिछले हिस्से में खराबी आ गई थी। शहडोल पुलिस और डॉयल 100 की मदद मांगी। जिसके बाद तत्काल पुलिस हरकत में आ गई। महिला प्रोफेसर ने पुलिस के सहयोग की सराहना की। एसपी अनिल कुशवाह ने भी पुलिसकर्मियों को सम्मानित करने की बात कही है।

अंधेरे में नहीं मिल रही थी मदद, 10 मिनट में पहुंची पुलिस
कार में खराबी आने के बाद रात होने के चलते अंधेरे में काफी मदद नहीं मिल रही थी। डॉयल 100 को सूचना देने पर आरक्षक केके सिंह और पायलट हरीनाथ शुक्ला 10 मिनट के भीतर मौके पर पहुंच गए। यहां पर डॉयल 100 की टीम एक घंटे से ज्यादा समय तक मौजूद रही।

दो दिन पहले ही हथियार के साथ पकड़ाए थे बदमाश
रोहनिया क्षेत्र में ही दो दिन पहले पुलिस ने डकैती की योजना बनाते हुए बदमाशों को पकड़ा था। यहां पर पुलिस ने आरोपियों से हथियार भी जब्त किए थे। आरोपियों की रोहनिया क्षेत्र में ही राहगीरों से लूट की प्लानिंग थी। पुलिस महिला प्रोफेसर की कार बनने के बाद शहडोल तक वाहन के साथ ही पहुंची।


डॉयल 100 की टीम का सराहनीय काम है। सूचना पर तत्काल डॉयल 100 की टीम पहुंची थी। वाहन बनने तक पुलिस मौजूद रही। बाद में शहडोल तक महिला प्रोफेसर के साथ पुलिस आई। सराहनीय कार्य के चलते पुलिसकर्मियों को पुरस्कृत किया जाएगा।
अनिल सिंह कुशवाह, एसपी शहडोल

[MORE_ADVERTISE1]