स्लो इंटरनेट स्पीड होने पर आपको पत्रिका लाइट में शिफ्ट कर दिया गया है ।
नॉर्मल साइट पर जाने के लिए क्लिक करें ।

यहां होना है स्वच्छता सर्वे, नपा नहीं दे रही ध्यान, ऐसे हैं हालात

Ramashankar mishra

Publish: Jan 20, 2020 11:48 AM | Updated: Jan 20, 2020 11:48 AM

Shahdol

गंदगी से बजबजा रहे नाले, वार्डों में छाया अंधेरा

शहडोल. नगर को स्वच्छ बनाने की दिशा में नगर पालिका द्वारा किए जा रहे प्रयास नाकाफी साबित हो रहे हैं। यही वजह है कि शहडोल नगर पालिका स्वच्छता रैंकिंग में अभी भी काफी पीछे है। इसमें सुधार की दिशा में नपा द्वारा कोई कारगर कदम नहीं उठाए गए हैं। जिसका अंदाजा इसी से लगाया जा सकता है। नगर के गंदे पानी की निकासी के लिए बनाए गए नाले-नालियों की सफाई कराना नगर पालिका पूरी तरह से भूल ही गई है। आलम यह है कि नगर के ७० फीसदी नाले-नालियां चोक है। जिनमें गंदगी बजबजा रही हैं। जिसके चलते स्थानीय रहवासियों का सांस लेना भी दूभर हो रहा है। उल्लेखनीय है कि नगर की स्वच्छता रैंकिंग को लेकर जल्द ही सर्वे का कार्य होना है। जिसके लिए संभवत: फरवरी में टीम का दौरा है। टीम नगर की सफाई का आंकलन करेगी उसके आधार पर ही रैंकिंग तैयार होनी है। इसके बाद भी नपा का अमला गंभीर नहीं है।
कलेक्टर ने जताई थी नाराजगी
नगर की सफाई व्यवस्था को लेकर पिछले माह कलेक्टर ललित दाहिमा द्वारा भी नाराजगी जताई गई थी। उनके द्वारा निर्देशित किया गया था कि जहां भी कचरा एकत्रित है उसका नियमित उठाव किया जाए। साथ ही नाले-नालियों की नियमित सफाई कराने के लिए भी निर्देशित किया गया था। इसके बाद भी नगर पालिका का अमला गंभीर नहीं हुआ।
यहां सबसे ज्यादा स्थिति खराब
नगर के घरौला मोहल्ला, एकता बिल्डिंग के सामने गली में, पुरानी बस्ती, सोहागपुर, गायत्री मंदिर के पास डॉक्टर कॉलोनी, सब्जी मण्डी, गंज रोड, रेलवे कॉलोनी, इतवारी मोहल्ला सहित नगर के घनी आबादी वाले क्षेत्रों में पानी निकासी के लिए बनाए गए नाले नालियों की स्थिति बहुत ही खराब है। जिसका अंदाजा इसी से लगाया जा सकता है कि सफाई को लेकर पुरानी बस्ती में स्थानीय पार्षद ने नाली के ऊपर बैठकर विरोध प्रदर्शन किया था।
कार्य-योजना तक सीमित
नपा स्वच्छता को लेकर महज कार्ययोजना बनाने तक की सिमट कर रह गया है। सफाई कर्मचारियों की भर्ती, वाहनों की खरीदी की योजना के अलावा जमीनी स्तर पर नपा की कार्ययोजना फलीभूत होती नजर नहीं आ रही है।
स्ट्रीट लाईट भी बंद
नगर में स्वच्छता को लेकर जहां कोरम पूर्ति की जा रही है। वहीं नगर की स्ट्रीट लाईटों का भी बुरा हाल है। नगर के घरौला मोहल्ला, वार्ड क्रमांक 27 मीट मार्केट, पाण्डवनगर, गायत्री मंदिर के पास, पुरानी बस्ती व सोहागपुर के कई क्षेत्रो में स्ट्रीट लाईट या तो खराब हैं या फिर जलती ही नहीं है। जिसके चलते वार्डों में अंधेरा छाया रहता है।

[MORE_ADVERTISE1]