स्लो इंटरनेट स्पीड होने पर आपको पत्रिका लाइट में शिफ्ट कर दिया गया है ।
नॉर्मल साइट पर जाने के लिए क्लिक करें ।

कक्षा दसवीं के 13780 बच्चों की होगी व्यवहार की काउंसलिंग

Brijesh Chandra Sirmour

Publish: Dec 14, 2019 21:42 PM | Updated: Dec 14, 2019 21:42 PM

Shahdol

अर्द्धवार्षिक परीक्षा के बाद जिले के 183 सरकारी हाई व हायर सेेकेण्ड्री स्कूल में मोबाइल ऐप के जरिए शिक्षक करेंगे विद्यार्थियों के व्यवहार का परीक्षण

शहडोल. कक्षा दसवीं के बाद विद्यार्थी किस विषय को लेकर ग्यारहवीं कक्षा की पढ़ाई करें? इसके लिए अब विद्यार्थियों के व्यवहार की काउंसलिंग की जाएगी, जो दो चरणों में होगी। इसका पहला चरण 18 दिसंबर से शुरू होने जा रहा है, जो 31 दिसंबर तक चलेगा। दूसरे चरण में विद्यार्थियों की अभिरूचि एवं अभिक्षमता परीक्षा की रिपोर्ट के आधार पर विद्यार्थियों को किस दिशा में अपना कॅरियर बनाना चाहिए? इसके लिए अप्रेल 2020 में कॅरियर काउसंलिग की जाएगी। इस संबंध में लोक शिक्षण संचालनालय की आयुक्त जयश्री कियावत ने जिले जिला शिक्षा अधिकारी एवं सहायक आयुक्त आदिवासी विकास विभाग को आदेश जारी किया है।
18 दिसम्बर से शुरू होगा परीक्षण
बताया गया है कि जिले में 183 सरकारी हायर सेकंडरी व हाई स्कूलों के करीब 13 हजार 780 विद्यार्थियों के व्यवहार का परीक्षण मोबाइल एप के जरिए किया जाएगा। गौरतलब है कि आगामी 18 दिसंबर को कक्षा दसवीं की छमाही परीक्षा समाप्त रही है। इसके बाद अध्यापक अपने मोबाइल एप के जरिए विद्यार्थियों की रुचि का परीक्षण करेंगे। इसके बाद उसे यह तय करने में दिक्कत नहीं होगी कि किस विषय को लेकर वे अपनी आगे की पढ़ाई करें। पिछले साल यह एमपी कॅरियर मित्र शिक्षकों के मोबाइल पर अपलोड किया गया। इसमें अब अपडेट करने के लिए कहा गया है।
75 मिनट का होगा परीक्षण
जारी आदेश में बताया गया है कि अभिरूचि परीक्षण में विद्यार्थी की रूचि एवं अभिक्षमता परीक्षण चार विषयों में किया जाएगा। जिसमें भाषायी दक्षता, गणित की दक्षता, तार्किक दक्षता और स्थान विषयक दक्षता शामिल है। परीक्षण प्रति विद्यार्थी 75 मिनट का होगा। भाषा के लिए 15 मिनट और शेष तीन विषयों के लिए 20-20मिनट दिए जाएगें।

[MORE_ADVERTISE1]