स्लो इंटरनेट स्पीड होने पर आपको पत्रिका लाइट में शिफ्ट कर दिया गया है ।
नॉर्मल साइट पर जाने के लिए क्लिक करें ।

आतंक विरोधी राजनेता थे राजीव गांधी

Santosh Dubey

Publish: Aug 18, 2019 13:31 PM | Updated: Aug 18, 2019 13:31 PM

Seoni

कन्या महाविद्यालय में हुआ कार्यक्रम

सिवनी. मध्यप्रदेश सरकार के आदेशानुसार शासकीय कन्या महाविद्यालय में मंगलवार को प्रभारी प्राचार्य डॉ. अर्चना चंदेल की अध्यक्षता में 'स्मरण भारत-रत्न राजीव गांधीÓ 'नई आस युवा विश्वास युवा संकल्प 2019Ó कार्यक्रम के अंतर्गत व्याख्यान - माला का आयोजन किया गया जिसका विषय वैश्विक आतंकवाद सभ्यता और मानवता के लिए संकट है। इसके लिए रक्षा अंतरराष्ट्रीय सशक्त कदम और राजीव गांधी का अवदानÓ था। कार्यक्रम का शुभारम्भ विशिष्ट अतिथि मोहन सिंह चंदेल द्वारा सरस्वती वंदना के साथ किया गया।
मुख्य वक्ता मोहनसिंह चंदेल ने अपने उद्बोधन में कहा कि राजीव गांधी आतंक विरोधी राजनेता थे, उन्होंने अपनी मां इंदिरा गांधी के मदद के लिए राजनीति में कदम रखा था। जब वे पायलट थे, तब उन्होंने आतंकवाद का सामना किया। इसलिए राजनीति में आते ही सबसे पहला लक्ष्य था आतंकवाद को मिटाना। जिसके लिए ऑपरेशन ब्लू स्टार तात्कालीन प्रधानमंत्री स्व. इंदिरा गांधी द्वारा चलाया गया जिसके चलते उनके ही सुरक्षाकर्मी द्वारा ही उनकी हत्या कर दी गई और तात्कालीन राष्ट्रपति ज्ञानीजेल सिंग ने राजीव गांधी को प्रधानमंत्री की शपथ दिलाई। प्रधानमंत्री बनते ही उन्होंने भारत के पूर्वोत्तर राज्यों से आतंकवाद का पंजाब-समझौता एवं असम समझौता द्वारा खात्मा किया एवं श्रीलंका में संगठित लिट्टे नामक संगठन के विरोध में अंतरराष्ट्रीय पहल की जिससे सार्क का गठन हुआ तथा शांति सेना द्वारा आतंक को मिटाने का प्रयास किया गया जिससे नाराज होकर आतंकवादियों ने तात्कालीन प्रधानमंत्री राजीव गांधी की हत्या करवा दी पंरतु वे देश हित में कार्य करने में पीछे नहीं रहें। कार्यक्रम का संचालन शकीना शेख एवं आभार प्रदर्शन हेमराज नागवंशी ने किया।