स्लो इंटरनेट स्पीड होने पर आपको पत्रिका लाइट में शिफ्ट कर दिया गया है ।
नॉर्मल साइट पर जाने के लिए क्लिक करें ।

पतली दाल देख भड़के अधिकारी, कार्रवाई की तैयारी

Sunil Vandewar

Publish: Sep 22, 2019 17:29 PM | Updated: Sep 22, 2019 17:29 PM

Seoni

शासकीय प्राथमिक शाला ढेका का मामला, समूह, एचएम, एमडीएम इंचार्ज पर हो सकती है कार्रवाई

सिवनी. स्कूली बच्चों की थाली में परोसे जा रहे खाने की गुणवत्ता देख जिला पंचायत के अतिरिक्त कार्यक्रम अधिकारी ने प्रधानपाठक, एमडीएम प्रभारी, समूह को फटकार लगाई। साथ ही कार्रवाई के लिए बीआरसीसी को निर्देशित किया है।
जानकारी के मुताबिक जिला पंचायत में हाल ही में पदस्थ हुए आइएएस श्यामवीर सिंह अतिरिक्त कार्यक्रम अधिकारी का जिम्मा सम्भाल रहे हैं। इन्होंने गत १७ सितम्बर को सिवनी विकासखण्ड के जनशिक्षा केन्द्र कन्या उच्चतर माध्यमिक विद्यालय कान्हीवाड़ा अंतर्गत शासकीय प्राथमिक शाला ढ़ेका का औचक निरीक्षण किया। निरीक्षण में पाया कि छात्र-छात्राओं को मध्यान्ह भोजन में दी जाने वाली दाल पतली है। दाल में पानी ही पानी है। मध्यान्ह भोजन गुणवत्तायुक्त न होने की स्थिति में उन्होंने सख्त नाराजगी जाहिर की।
अतिरिक्त कार्यक्रम अधिकारी के निर्देश पर सिवनी बीआरसीसी राहुल प्रताप सिंह ने जनशिक्षक के माध्यम से जांच कराई। जांच में भी पाया गया कि बच्चों को दिया गया मध्यान्ह भोजन सही नहीं था। जनशिक्षक ने जांच प्रतिवेदन बीआरसीसी के सुपुर्द कर दिया। अब बीआरसीसी द्वारा सम्बंधित स्वसहायता समूह के अलावा प्रधानपाठक, मध्यान्ह भोजन प्रभारी के विरुद्ध अनुशासनात्मक कार्रवाई का प्रस्ताव वरिष्ठ कार्यालय को भेजा जा रहा है।
प्रधानपाठक ने कहा दाल पतली थी -
प्रधानपाठक झलकन सिंह शिववेदी ने बताया कि अधिकारी निरीक्षण में आए थे, तब उन्होंने दाल मेें कमी पाई थी। समूह की लापरवाही थी। मध्यान्ह भोजन प्रभारी जालंधर सिंह ठाकुर पर बीएलओ का भी अतिरिक्त कार्य है। इस कारण मध्यान्ह भोजन की ओर ध्यान नहीं दे पाने से ऐसी स्थिति निर्मित हुई।
सभी बीआरसीसी को निर्देश -
जिला पंचायत में सभी बीआरसीसी की बैठक लेकर अधिकारी ने सख्त लहजे में कहा है कि सरकारी स्कूलों में परोसे जा रहे मध्यान्ह भोजन की गुणवत्ता का खास ध्यान रखा जाए। सतत मॉनिटरिंग कर इसके लिए निर्देशित करने को कहा। यदि गुणवत्ता में कमी पाई जाती है तो सम्बंधित पर कार्रवाई तय की जाएगी।