स्लो इंटरनेट स्पीड होने पर आपको पत्रिका लाइट में शिफ्ट कर दिया गया है ।
नॉर्मल साइट पर जाने के लिए क्लिक करें ।

नवीन वित्तीय आवंटन को लेकर बनाओ कार्ययोजना

Akhilesh Kumar

Publish: Jul 19, 2019 12:46 PM | Updated: Jul 19, 2019 12:46 PM

Seoni

एकीकृत परियोजना समिति की बैठक

सिवनी. कलेक्टर प्रवीण सिंह की अध्यक्षता में एकीकृत परियोजना समिति की बैठक का आयोजन हुआ। इसमें कलेक्टर सिंह ने आदिवासी वित्त निगम एवं विशेष केंद्रीय सहायता अंतर्गत प्राप्त अनुदान राशि से विभिन्न विभागों के पूर्ण एवं प्रगतिरत कार्यों का अवलोकन किया।
उन्होंने लोक निर्माण विभाग एवं जलसंसाधन विभाग के लंबित निर्माण कार्यों को समय-सीमा में पूर्ण करने के निर्देश देने के साथ सभी संबंधित विभाग प्रमुखों को प्राप्त नवीन वित्तीय आवंटन को लेकर कार्ययोजना बनाने के निर्देश दिए हैं। हितग्राहीमूलक योजनाओं के क्रियान्वयन हेतु पूर्व से हितग्राहियों का चयन कर आवश्यक प्रशिक्षण के निर्देश दिए। इस अवसर पर जिला पंचायत मुख्य कार्यपालन अधिकारी सुनील दुबे, सहायक आयुक्त आदिम जाति कल्याण विभाग सतेन्द्र मरकाम आदि उपस्थिति रहे।

 

जिन हितग्राहियों को किस्त जारी हुआ और वे कार्य शुरू नहीं किए उनको जारी करो नोटिस

- पंचायत एवं ग्रामीण विकास विभाग की समीक्षा बैठक
सिवनी. कलेक्टर प्रवीण सिंह की अध्यक्षता में पंचायत एवं ग्रामीण विकास विभाग की समीक्षा बैठक हुई। इसमें जिला पंचायत मुख्य कार्यपालन अधिकारी सुनील दुबे सहित सभी जनपदों के मुख्य कार्यपालन अधिकारियों एवं जिला पंचायत के विभिन्न शाखाओं के प्रभारी अधिकारियों की उपस्थिति रही।
बैठक में कलेक्टर सिंह ने प्रधानमंत्री आवास योजना के विकास खण्डवार लक्षित लक्ष्य के विरुद्ध प्रगति की समीक्षा कर भवन निर्माण कार्यों में तेजी लाकर प्रथम किस्त देय सभी हितग्राहियों को द्वितीय किस्त 15 अगस्त तक जारी करने के निर्देश दिए। उन्होंने सभी जनपद मुख्य कार्यपालन अधिकारियों को सतत रूप से मैदानी अमले की बैठक लेकर लगातार समीक्षा हेतु निर्देशित किया। उन्होंने ऐसे हितग्रहियों जिन्होंने प्रथम किस्त प्रदान होने के उपरांत निर्माण कार्य चालू न किया है का चिन्हांकित नोटिस जारी करने के निर्देश दिए। उन्होंने मनरेगा अंतर्गत प्रगतिरत कार्यों सहित हिर्री नदी के पुनर्जीवन कार्य का अवलोकन किया। स्वरोजगार योजनाओं की जनपदवार समीक्षा कर एक माह की अवधि में लक्षित प्रकरणों की शत-प्रतिशत स्वीकृति कर समय-सीमा में वितरण के निर्देश दिए।