स्लो इंटरनेट स्पीड होने पर आपको पत्रिका लाइट में शिफ्ट कर दिया गया है ।
नॉर्मल साइट पर जाने के लिए क्लिक करें ।

गेहूं-चने की फसल पर इल्ली का प्रकोप, कीटनाशक का छिड़काव भी बेअसर

Veerendra Shilpi

Publish: Dec 09, 2019 10:43 AM | Updated: Dec 09, 2019 10:43 AM

Sehore

रबी सीजन की फसल पर संकट...

सीहोर/इछावर/बरखेड़ी. पहले से ही सोयाबीन एवं उड़द की फसल की अच्छी पैदावार नहीं होने से परेशान किसानों की गेहूं और चने की फसल पर भी संकट के बादल मंडराने लगे है। इछावर ब्लॉक के कई गांवों में जड़ माहू रोग से किसानों के कई एकड़ की फसल खराब हो चुकी है। जिसके बचाव के लिए किसान कीटनाशक का छिड़काव कर रहे हैं। इसके बाद भी फसल में कोई सुधार नहीं हो रहा है। जिससे किसान खासे चिंतित हैं।

इछावर ब्लॉक के कई गांवों में गेहूं व चने की फसल इल्लियों के अधिक प्रकोप से सूख रही है। एक गांव में करीब 80 से 100 एकड़ में 100 क्विंटल की फसल नष्ट हो चुकी है। किसानों ने बताया खेत में गेहूं की फसल सूख गई है। इल्लियों ने डेरा जमा लिया है। बोवनी करीब 30 से 35 दिन पहले ही की गई थी। कुछ किसानों ने फिर से बोवनी के लिए खेत बखर दिया है और कुछ किसान की तो डबल बोनी में भी यह बीमारी लग गई। एक ही पेड़ में करीब 10 से 12 इल्लियां निकल रही हंै।

[MORE_ADVERTISE1]

ब्लॉक के इन गांवों में है ज्यादा समस्या
ग्राम फांगिया, गुराड़ी, बोरदीकला, ब्रिजिशनगर, कनेरिया, रामगढ़, खेजड़ा, मोलगा, रामनगर आदि ग्राम में ज्यादा प्रकोप देखने को मिल रहा है। इस संबंध में किसान कुंवरसिंह मेवाड़ा, दिलीपसिंह केसरिया, केसरसिंह मेवाड़ा, बनवारीलाल विश्वकर्मा, सरवन वर्मा, राधेश्याम वर्मा, हरेंद्रसिंह ठाकुर, कृपालसिंह ठाकुर आदि किसानों का कहना है कि उपचार एवं सर्वे कराकर मुआवजा दिलवाया जाए।

इस संबंध में एसडीएम प्रगति वर्मा ने कहा कि जिस एरिया में इल्लियों का अधिक प्रकोप है उस एरिया के लिए में कृषि विभाग को जांच के आदेश दिया जाएगा। फसल को इल्लियां से बचाने के लिए कीटनाशक दवाइयों की सलाह दी जाएगी।

मौसम परिवर्तन से चने में बड़ा इल्ली का प्रकोप
बरखेड़़ी. चने की फसल में इल्लियों का प्रकोप बढऩे लगा है। कीटनाशक दवाइयां भी इल्लियों को नहीं रोक पा रही हैं। स्थिति यह है कि क्षेत्र में किसानों की गेहूं-चना, अरहर आदि की फसलों में इल्ली की आमद ने किसानों की मुश्किलें बढ़ा दी हैं। कृषि विभाग ने किसानों को अपनी फसल की रक्षा के लिए कई तरह के उपाय सुझाए हैं। मौसम में हो रहे बदलाव का असर रबी सीजन की फसलों पर साफ असर दिखाई दे रहा है।

जिससे खेतों में खड़ी चना, अरहर की फसल में इल्ली लगने लगी है। इससे किसानों की फसल प्रभावित हो रही है। इल्ली के प्रकोप से दलहन फसलों की फूल, पत्ती व फली को भारी नुकसान पहुंचा रहा है। किसानों का कहना है कि इसका सीधा असर फसल के उत्पादन पर पड़ेगा। इसको लेकर वह खासे चिंतित नजर आ रहे हैं।

[MORE_ADVERTISE2]

गेहूं की फसल इल्ली के प्रकोप से पूरी फसल चौपट हो गई है। फिर एक बार गेहूं की फसल बखर कर बोवनी की है। कृषि विभाग के कर्मचारियों ने अभी तक सुध नहीं ली है।
- दिलीप सिंह केसरिया, किसान

अब तो गेहूं की फसल चौपट हो चुकी है अब तो सरकार और प्रशासन से उम्मीद है कि हमारी फसलों का जो की इल्ली से चौपट हुई है उसका मुआवजा दिया जाए। जिससे परिवार पाल सकें।
- केसरसिंह मेवाड़ा, किसान

[MORE_ADVERTISE3]