स्लो इंटरनेट स्पीड होने पर आपको पत्रिका लाइट में शिफ्ट कर दिया गया है ।
नॉर्मल साइट पर जाने के लिए क्लिक करें ।

ट्रैफिक नियम: सीसीटीवी की मदद से 830 के घर भेजा नोटिस

Veerendra Shilpi

Publish: Nov 09, 2019 11:52 AM | Updated: Nov 09, 2019 11:52 AM

Sehore

शहर की मॉनीटरिंग के लिए 22 पाइंट पर लगाए गए हैं 120 कैमरा

सीहोर. बीते छह महीने से पुलिस सीसीटीवी की मदद से ट्रैफिक की मॉनीटरिंग कर रही है। मॉनीटरिंग के दौरान जो वाहन चालक ट्रैफिक नियम तोड़ते दिखाई दे रहे हैं, उन्हें नोटिस देकर चालान काटने बुलाया जाता है। शहर में अभी तक करीब 830 व्यक्तियों को नोटिस भेजे हैं, जिनमें से 571 ने चालान बनवाया है।

जानकारी के अनुसार डेढ़ साल पहले शहर में एक करोड़ 20 लाख रुपए की लागत से 22 पाइंट पर 120 सीसीटीवी कैमरा लगाए गए। पुलिस अफसरों के मुताबिक अभी सभी कैमरा चालू हैं, जिनकी मदद पुलिस ट्रैफिक, वारदात और दुर्घटनाओं पर नजर रखे हुए है।

सीसीटीवी लगने के बाद पहले तो पुलिस ने एक साल ट्रायल की, लेकिन बाद में जब सब व्यवस्थित हो गया तो जून 2019 से ट्रैफिक नियम तोडऩे वालों को नोटिस भेजना शुरू कर दिया। बीते छह महीने में पुलिस ने सीसीटीवी की मदद से 830 वाहन चालकों को नोटिस भेजे हैं, जिसमें से 571 ने सात दिन के भीतर मोटर व्हीकल एक्ट के तहत चालान कटवाया है।

सबसे ज्यादा चालान नो-पार्किंग में वाहन खड़े करने, हेलमेट नहीं लगाने, बाइक पर तीन सवारी बिठाने को लेकर काटे गए हैं। नोटिस के माध्यम से पुलिस वाहन चालक को सात दिन का समय देती है और कोई व्यक्ति सात दिन में नहीं पहुंचता है तो उसे रिमांडर देकर फिर से बुलाया जाता है। यदि कोई व्यक्ति रिमांडर देने के बाद भी ट्रैफिक थाने नहीं पहुंचता है तो पुलिस के जवान खुद जाकर चालान काटने की कार्रवाई करते हैं।

[MORE_ADVERTISE1]


-शहर की मॉनीटरिंग के लिए 22 पाइंट पर सीसीटीवी कैमरा लगाए गए हैं। ट्रैफिक पुलिस इसकी मदद से नियम तोडऩे वालों को नोटिस भेज रही है। अभी तक 800 से ज्यादा नोटिस भेजे जा चुके हैं। यदि कोई व्यक्ति नोटिस देने के बाद नहीं आता है तो पुलिस के जवान उसके घर जाकर कार्रवाई करते हैं।
समीर यादव, अतिरिक्त पुलिस अधीक्षक सीहोर

[MORE_ADVERTISE2]