स्लो इंटरनेट स्पीड होने पर आपको पत्रिका लाइट में शिफ्ट कर दिया गया है ।
नॉर्मल साइट पर जाने के लिए क्लिक करें ।

'करुणा, हिंसा के माध्यम से महात्मा गांधी ने निकाला था जन समस्याओं का समाधान'

Radheshyam Rai

Publish: Dec 09, 2019 22:20 PM | Updated: Dec 09, 2019 13:55 PM

Sehore

दिल्ली से जिनेवा तक निकाली जा रही न्याय एवं शांति के लिए वैश्विक पदयात्रा का बुदनी आगमन...

सीहोर. राष्ट्रपिता महात्मा गांधी एवं कस्तूरबा गांधी ने करुणा और अहिंसा आंदोलन से देश को आजाद कराया व जगन समस्याओं का समाधान निकाला।

यह बात यह एकता परिषद के संस्थापक पीवी राजगोपाल ने बुदनी में महात्मा गांधी एवं कस्तूरबा गांधी के जन्म शताब्दी के 150 में वर्षगांठ के अवसर पर दिल्ली से जिनेवा तक निकाली जा रही न्याय एवं शांति के लिए वैश्विक पदयात्रा के बुदनी नगर आगमन पर एक जनसभा को संबोधित करते हुए कही।

[MORE_ADVERTISE1]

उक्त यात्रा का स्वागत करने वालों में मध्य प्रदेश सरकार के मंत्री पीसी शर्मा, पूर्व राज्यपाल उत्तराखंड अजीज कुरैशी, पूर्व सांसद सुरेंद्र सिंह ठाकुर पूर्व महापौर भोपाल दीपचंद यादव, पूर्व शिक्षा राज्य मंत्री राजकुमार पटेल, केशव चौहान, रामेश्वर पटेल, सोनू राजपूत, हमीद बेग, मोहम्मद तारिक पटेल मनजीत सिंह राजपूत, संजय शर्मा, आमिर पटेल, अजय यादव भगवती प्रसाद मीणा चंद्रपाल पटेल संजीव दुबे ने पद यात्रियों का स्वागत कियाा।

[MORE_ADVERTISE2]

पदयात्रा में शामिल होने वाले कनाडा स्विट्जरलैंड, न्यूजीलैंड, फ्रांस, स्पेन, जर्मनी एवं भारत के केरल, तमिलनाडु, बिहार, मणिपुर, असम, पश्चिम बंगाल, महाराष्ट्र, गुजरात, उत्तर प्रदेश, राजस्थान, छत्तीसगढ़, दिल्ली, मध्य प्रदेश के 50 पद यात्री सम्मिलित हुए हैं।

[MORE_ADVERTISE3]

राजगोपाल ने प्रेसवार्ता में बताया कि यात्रा महात्मा गांधी की 150वीं जन्म शताब्दी वर्ष में गांधीजी के चार प्रमुख संदेशों का जन-जन तक पहुंचा कर उनका अनुशरण कर खुशहाल दुनिया बनाने के लिए गरीबी उन्मूलन जल जंगल और जमीन पर समुदाय के अधिकारों से टिकाऊ आजीविका सुनिश्चित करना, हिंसा मुक्त दुनिया, समानता एवं न्याय का पूरे विश्व में माहौल बनाने के लिए जलवायु परिवर्तन के उद्देश्य से यह यात्रा 2 अक्टूबर 2019 को दिल्ली भारत से प्रारंभ होकर 2 अक्टूबर 2020 को जिनेवा स्विट्जरलैंड पहुंचेगी। राजगोपाल का कहना है कि जिन राज्यों से यात्रा गुजर रही है वहां की जनता पूरे उत्साह से इस यात्रा का स्वागत कर रही है।