स्लो इंटरनेट स्पीड होने पर आपको पत्रिका लाइट में शिफ्ट कर दिया गया है ।
नॉर्मल साइट पर जाने के लिए क्लिक करें ।

बाघ की दशहत ऐसी की किसानों ने खेत पर जाना छोड़ा

Anil Kumar

Publish: Dec 07, 2019 16:28 PM | Updated: Dec 07, 2019 16:28 PM

Sehore

रेहटी के म_ागांव में जारी है बाघ की दहशत

सीहोर.
जिले के रेहटी क्षेत्र में बाघ की दशहत खत्म होने का नाम नहीं ले रही है। इससे कई गांव के किसान खेत पर नहीं जा रहे हैं। बाघ की दशहत कम करने में वन विभाग लगा है, लेकिन कुछ नहीं हो रहा है। विभाग ने अब बिजली कंपनी को कहा कि वह फसल में सिंचाई करने रात की बजाए दिन में बिजली दे। जिससे कि किसान आसानी से यह कार्य कर सकें।

[MORE_ADVERTISE1]

रेहटी के म_ागांव के जंगल में बाघ दिखने के बाद से ही आसपास गांव के लोग परेशान हैं। वन विभाग का अमला भी यहां तैनात होकर निगरानी कर रहा है। अब फिर से बाघ का मूमेंट ज्यादा दिखने से लोगों की दिक्कत ज्यादा बढ़ गई है। इससे विभाग हरकत में आया है। डीएफओ रमेश गनावा ने बताया कि बिजली कंपनी से बात कर रात की जगह दिन में सप्लाई करने की बात कहीं है। जिससे कि बाघ का मूमेंट नजर आएं तो किसान आसानी से इसकी जानकारी बता सकें। वहीं उनका खेत पर जाने का डर भी खत्म हो सकें। इसके अलावा अन्य प्रयास भी किया जा रहा है। उल्लेखनीय है कि पिछले दिनों जंगल में भ्रमण के दौरान बाघ सीसीटीवी कैमरे में भी नजर आया था।

[MORE_ADVERTISE2]

फ र्जी हस्ताक्षर पर करा लिया बटवारा
इछावर. एक व्यक्ति का फर्जी तरीके से हस्ताक्षर कराकर बटवारा कराने का मामला सामने आया है। इसकी उसने तहसील कार्यालय पहुंचकर एसडीएम प्रगति वर्मा को आवेदन देकर शिकायत दर्ज कराई है। शिकायत में दीवडिय़ा निवासी रामसिंह पिता गणपतसिंह वर्मा ने आरोप लगाकर बताया कि उसकी माता सम्पतबाई, भाई महेश के साथ नायब तहसीलदार इछावर को भूमि खसरा क्रमांक 431,432,433,434 कुल किता 4 स्थित गांव हिम्मतपुरा पटवारी हल्का क्रमांक 31 का बटवारा आवेदन प्रस्तुत किया था। रामसिंह ने आरोप लगाते हुए बताया कि हल्का पटवारी विशाल मालवीय ने शंकरलाल जायसवाल, रामभरोस जायसवाल से मिलकर अवैध फ र्द बटान व नक्शा तैयार कर उसके फ र्जी हस्ताक्षर करते हुए विधि के प्रक्रिया का पालन किए बिना अवैध रुप से झूठे दस्तावेज प्रस्तुत कर बटवारा करा लिया। इसकी उसे कोई सूचना जारी नहीं की गई। इसकी जांच कर कार्रवाई की जाएं। इस संबंध में पटवारी विशाल मालवीय का कहना है कि मेरे ऊपर लगाए गए आरोप निराधार हैं। रामसिंह ने ही हस्ताक्षर किए हैं। फ र्जी दस्तखत की बात गलत है। वहीं एसडीएम प्रगति वर्मा का कहना है कि आवेदन प्राप्त हुआ है। पूरे मामले की जांच कराकर उचित कानूनी कार्रवाई की जाएगी।

[MORE_ADVERTISE3]